यह 15th & 16th December 2021 का करेंट अफेयर्स है, जो आपके कांपटीटिव एग्‍जाम्‍स में मदद करेगा। इसका PDF Download Link इस पेज के लास्‍ट में मौजूद है। Current Affairs PDF आप इस पेज के आखिरी हिस्‍से से Free में डाउनलोड करें।

1. India ने Republic Day 2022 समारोह में किन देशों के राष्‍ट्रपतियों को आमंत्रित किया?

a. कजाकिस्तान, किर्गिस्तान
b. ताजिकिस्तान, तुर्कमेनिस्तान
c. उजबेकिस्तान
d. उपरोक्‍त सभी

Answer: d. उपरोक्‍त सभी
(कजाकिस्तान, किर्गिस्तान, ताजिकिस्तान, तुर्कमेनिस्तान और उजबेकिस्तान)

– ऐसा पहली बार है जब एक साथ पांच देशों को रिपब्लिक डे परेड समारोह के लिए आमंत्रित किया गया है।
– अगर वे इस इन्‍विटेशन को एक्‍सेप्‍ट कर लेते हैं, तो इन राष्‍ट्राध्‍यक्षों का एकसाथ आगमन इतिहास बनेगा।
– विदेश मंत्रालय इन देशों की सरकार से संपर्क में है।

किन्‍हें मिला निमंत्रण
– कजाकिस्तान के राष्ट्रपति कसीम-जोमार्ट टोकायव
– किर्गिस्तान के प्रेसिडेंट सदिर जापरोव
– ताजिकिस्तान के प्रेसिडेंट इमोमाली रहमोन
– तुर्कमेनिस्तान के प्रेसिडेंट गुरबांगुली बर्दीमुहामेदोव
– उज्बेकिस्तान के प्रेसिडेंट शवकत मिर्जियोयेव

कजाकिस्‍तान
– राजधानी : नूर सुल्‍तान
– प्रेसिडेंट : कसीम-जोमार्ट टोकायव
– मुद्रा : उज्‍बेक सोम

किर्गिस्‍तान
– राजधानी : बिश्‍केक
– प्रेसिडेंट : सदिर जापरोव
– मुद्रा : किर्गिस्‍तानी सोम

ताजिकिस्तान
– राजधानी : दुशांबे
– प्रेसिडेंट : इमोमाली रहमोन
– मुद्रा : ताजिकिस्‍तानी सोमोनी
नोट – यहां के पूर्व राष्‍ट्रपति नूरसुल्‍तान नजरबायेज 2009 में रिपब्लिक डे परेड के चीफ गेस्‍ट रह चुके हैं।

तुर्कमेनिस्तान
– राजधानी : अशगाबात
– प्रेसिडेंट : गुरबांगुली बर्दीमुहामेदोव
– मुद्रा : तुर्कमेनिस्‍तान मनाती

उज्बेकिस्तान
– राजधानी : ताशकंद
– प्रेसिडेंट : शवकत मिर्जियोयेव
– मुद्रा : उज्‍बेकिस्‍तानी सोम

– ये सभी सोवियत संघ के अंग रह चुके हैं और 1991 में उसके विखंडन के बाद से अलग-अलग देश हैं।

आमंत्रण के पीछे भारत की रणनीति
– विशेषज्ञों का कहना है कि भारत उन क्षेत्रों से अपने संपर्क बढ़ाना चाहता है, जहां पाकिस्‍तान की (बैरियर – अवरोधक) स्थिति के कारण भूमि संपर्क मुश्किल हो गया है।

भारत, मध्‍य एशिया तक कैसे पहुंच बना रहा है?
– भारत, ईरान में मौजूद चाबहार पोर्ट के जरिए सेंट्रल एशिया तक अपना व्‍यापारिक संपर्क बढ़ाना चाह रहा है।
– अफगानिस्‍तान पर तालिबान के कब्‍जे के बाद यह रूट बंद हो गया था और इसकी वजह से चाबहार पोर्ट में गतिविधियां कम हो गई थीं।
– लेकिन तालिबान के आश्‍वासन के बाद यहां ट्रैफिक में फिर से बढ़ोत्‍तरी देखी जा रही है।
– तालिबान ने कहा है कि कि वह भारत के साथ अच्छे राजनयिक और व्यापारिक संबंध चाहता है, इसलिए क्षेत्रीय और वैश्विक व्यापार को सुगम बनाने के लिए पोर्ट की भूमिका का समर्थन करेगा। इस पोर्ट को भारत ने तैयार किया है।

वर्ष 2021 के गणतंत्र दिवस में चीफ गेस्‍ट कौन था?
– कोई नहीं।
– रिपब्लिक डे ईवेंट के लिए यूनाइटेड किंगडम के प्राइम मिनिस्‍टर बोरिस जॉनसन ने शुरू में हामी भर दी थी, लेकिन कोविड-19 के असर की वजह से उन्‍होंने अपनी यात्रा रद कर दी थी।

कब कौन चीफ गेस्‍ट
– वर्ष 2020 में ब्राजील के राष्ट्रपति जेयर बोलसोनारो
– वर्ष 2019 में दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति सिरिल रामाफोसा
– वर्ष 2018 में दस आसियान देशों के नेता
– वर्ष 2017 में अबू धाबी के क्राउन प्रिंस शेख मोहम्मद बिन जायद अल नाहयान
– वर्ष 2016 में फ्रांस के तत्‍कालीन राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद
– वर्ष 2015 में अमेरिका के तत्कालीन राष्ट्रपति बराक ओबामा

—————-
2. राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद किस पड़ोसी देश की स्‍वतंत्रता के स्‍वर्ण जयंती समारोह में हिस्‍सा लेने के लिए 15 दिसंबर को पहुंचे?

a. चीन
b. भूटान
c. पाकिस्‍तान
d. बांग्‍लादेश

Answer: d. बांग्‍लादेश

– राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद 15 दिसंबर 2021 को बांग्‍लादेश की राजधानी ढाका पहुंचे।
– उनका रेड कारपेट से स्‍वागत हुआ और उन्‍हें 21 तोपों की सलामी दी गई।
– राष्ट्रपति एम अब्दुल हमीद ने अपनी पत्नी रशीदा खानम के साथ ढाका के हजरत शाहजलाल अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर कोविंद का स्वागत किया।
– दरअसल, वर्ष 2021 में बांग्‍लादेश की आजादी के 50 साल पूरे हुए हैं।
– भारत ने 50 साल पहले 1971 में बांग्‍लादेश को पाकिस्‍तान से आजाद करवाया था।
– इसी के उपलक्ष में 16 दिसंबर 2021 को स्‍वर्ण जयंती समारोह का मुख्‍य कार्यक्रम हुआ। इसमें राष्‍ट्रपति गेस्‍ट ऑफ ऑनर के रूप में शामिल हुए।

बांग्‍लादेश को गिफ्ट में टैंक और फाइटर प्‍लेन
– “राष्ट्रपति कोविंद अपने समकक्ष को रूसी निर्मित टी-55 टैंक और 1971 के युद्ध के दौरान इस्तेमाल किए गए मिग-21 विंटेज विमानों की दो प्रतिकृतियां उपहार के रूप में भेंट करेंगे।”

बांग्‍लादेश
– पीएम – शेख हसीना
– प्रेसिडेंट – एम अब्दुल हमीद

—————–
3. बिपिन रावत की जगह तीनों सेनाओं के ‘चीफ ऑफ स्टाफ कमेटी’ (COSC) का अध्‍यक्ष किसे बनाया गया?

a. एयरचीफ मार्शल वीआर चौधरी
b. एडमिरल आर हरी
c. जनरल एमएम नरवणे
d. एयर मार्शल बलभद्र राधा कृष्ण

Answer: c. जनरल एमएम नरवणे

– नए सीडीएस की नियुक्ति के लिए प्रक्रिया जारी है।
– इस बीच सरकार ने थल सेनाध्यक्ष जनरल एमएम नरवणे ने चीफ ऑफ स्टाफ कमेटी (COSC) का अध्यक्ष पद संभाल लिया है।
– यह पोस्ट जनरल बिपिन रावत के आकस्मिक निधन के बाद खाली हो गई थी।

क्या है COSC और कैसे नियुक्त होता है चेयरमैन
– COSC तीनों सेनाओं के प्रमुखों की मौजूदगी वाली कमेटी है, जो तीनों सेनाओं के बीच अभियानों व अन्य मुद्दों को लेकर कोऑर्डिनेशन बनाए रखने का काम करती है।
– यह पद चीफ ऑफ डिफेंस स्‍टाफ (CDS) बनाए जाने से पहले से है।
– परंपरा के तहत इस COSC चेयरमैन पद पर तीनों सेनाओं के सबसे सीनियर ऑफिसर को दिया जाता था।
– हालांकि जब दिसंबर 2019 में केंद्र सरकार ने CDS पद बनाया, तब COSC (चीफ ऑफ स्‍टाफ कमेटी) का पद भी CDS पर तैनात अधिकारी को दे दिया।

– जनरल नरवणे को उसी पुरानी परंपरा के तहत COSC चेयरमैन बनाया गया है, जो CDS का पद बनाए जाने से पहले लागू थी।
– इस परंपरा के तहत तीनों सेनाओं के प्रमुखों में से सबसे सीनियर अधिकारी को COSC चेयरमैन नियुक्त किया जाता था।

– चूंकि सीडीएस के पद के लिए अभी किसी नाम की घोषणा नहीं की गई है, इसलिए अभी एमएम नरवणे को COSC बनाना कामचलाऊ व्यवस्था कही जा रही है।
– सीडीएस, COSC के चेयरमैन के साथ ही सैन्य मामलों के विभाग के प्रमुख भी होते हैं।
– सीडीएस की अनुपस्थिति में एकीकृत रक्षा स्टाफ (इंट्रीगेटेड डिफेंस स्‍टाफ) के प्रमुख एयर मार्शल बलभद्र राधा कृष्ण, जनरल नरवणे को रिपोर्ट करेंगे।

——————-
4. ग्रुप कैप्‍टन वरुण सिंह का निधन हो गया, वह किस हेलिकॉप्‍टर क्रैश में 8 दिसंबर को बुरी तरह घायल हुए थे?

a. Chinook
b. Mi-17 V5
c. Mi-26
d. Mi-8

Answer: b. Mi-17 V5

– आठ दिसंबर 2021 को यह हेलिकॉप्‍टर तमिलनाडु के कुन्‍नूर में क्रैश हो गया था।
– यह हेलिकॉप्‍टर सुलुर एयर फोर्स स्‍टेशन से वेलिंगटन स्थित डिफेंस सर्विसेज स्‍टाफ कॉलेज जा रहा था।
– इस हेलिकॉप्‍टर में देश के पहले CDS जनरल बिपिन रावत सहित 14 लोग सवार थे।
– इनमें से 13 लोगों की मौत उसी दिन हो गई थी।
– ग्रुप कैप्‍टर वरुण सिंह बुरी तरह घायल हो गए थे और उनका इलाज चल रहा था।
– 15 दिसंबर 2021 को अस्‍पताल में उनका निधन हो गया।
– इंडियन एयर फोर्स ने उनके निधन की सूचना ट्वीटर पर दी।

ग्रुप कैप्‍टन वरुण सिंह
– ग्रुप कैप्‍टन वरुण सिंह, डिफेंस सर्विसेज स्‍टाफ कॉलेज में डायरेक्टिंग स्‍टाफ के तौर पर तैनात थे।
– वरुण सिंह उत्‍तर प्रदेश के देवरिया जिले के कन्हौली गांव के रहने वाले थे। हालांकि उनका परिवार मध्‍य प्रदेश की राजधानी भोपाल शिफ्ट हो गया था।
– वह मूलरूप से फाइटर पायलट थे।
– अगस्त 2021 में उन्हें भारत के तीसरे सबसे बड़े शांतिकालीन वीरता पुरस्कार शौर्य चक्र से सम्मानित किया गया था।
– यह अवार्ड उन्‍हें विंग कमांडर के रूप में असाधारण वीरता के लिए दिया गया था।
– दरअसल, 12 अक्‍टूबर 2020 को वह लाइट कॉम्बैट एयरक्राफ्ट (LCA) स्क्वाड्रन में थे। उस दौरान वह तेजस उड़ा रहे थे।
– इसी दौरान तेजस के फ्लाइट कंट्रोल सिस्‍टम में खराबी आ गई थी। लेकिन उन्‍होंने जोखिम लेते हुए, इस लड़ाकू विमान को 10 हजार फीट की ऊंचाई से सुरक्षित उतार लिया था।

– ग्रुप कैप्टन सिंह के पुरस्कार के उद्धरण में कहा गया, ‘‘अत्यधिक जानलेवा स्थिति में भारी शारीरिक और मानसिक दबाव में होने के बावजूद उन्होंने मानसिक संतुलन बनाए रखा और असाधारण उड़ान कौशल का प्रदर्शन करते हुए विमान को बचा लिया.’’

कितना सक्षम है Mi-17V-5 हेलिकॉप्टर?
– यह ज्यादा ऊंचाई पर और गर्म मौसम की स्थिति में बेहतर तरीके से ऑपरेट करने के लिए डिजाइन किया गया है।
– यह दुनिया के सबसे मॉडर्न हेलिकॉप्टर्स में से एक है।
– Mi-17V-5 की अधिकतम गति 250 किमी/घंटे और स्टैंडर्ड रेंज 580 किमी है।
– यह अधिकतम 6,000 मीटर की ऊंचाई पर उड़ सकता है।
– हेलिकॉप्टर का वजन लगभग 7,489 किलो है, जबकि इसका अधिकतम वजन 13,000 किलोग्राम है।
– मिलिट्री के लिए तीन क्रू मेंबर्स के साथ ही 36 सैनिकों को ये ले जा सकता है।
– 36 हजार किलो तक का भार उठा सकता है।
– हालांकि, VVIP के लिए तैयार किए गए इस विशेष हेलिकॉप्टर में अधिकतम 20 लोग ही सवार हो सकते हैं।
– दुनिया के करीब 60 देश 12 हजार से ज्यादा MI-17 हेलिकॉप्टर का इस्तेमाल करते हैं।
– इसे सेना और हथियारों के ट्रांसपोर्ट, फायर सपोर्ट, रक्षक दल की गश्ती और सर्च-एंड-रेस्क्यू (SAR) मिशन में भी तैनात किया जा सकता है।
– कारगिल युद्ध के दौरान रॉकेट लॉन्चर लगाकर Mi-17 को लड़ाकू बनाया गया था। हालांकि इसका अपग्रेड वर्जन Mi-17V-5 है।

इन हथियारों से लैस होता है Mi-17V-5
– Shturm-V मिसाइल
– S-8 रॉकेट
– एक 23mm मशीन गन,
– PKT मशीन गन
– AKM सब-मशीन गन

—————-
5. केंद्रीय कैबिनेट ने ‘इंडिया सेमीकंडक्टर मिशन’ को मंजूरी देते हुए कितनी रकम के प्रोत्‍साहन योजना को मंजूरी दी?

a. 26 हजार करोड़ रुपए
b. 56 हजार करोड़ रुपए
c. 76 हजार करोड़ रुपए
d. 86 हजार करोड़ रुपए

Answer: c. 76 हजार करोड़ रुपए

– प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में 15 दिसंबर 2021 को हुई कैबिनेट की बैठक में सेमीकंडक्टर बनाने के लिए प्रोडक्शन लिंक्ड इंसेंटिव (PLI Scheme) को मंजूरी दी गई है।
– इसके तहत देश में सेमीकंडक्टर चिप्स का डिजाइन, फैब्रिकेशन, पैकेजिंग, टेस्टिंग और कंप्लीट इकोसिस्टम डेवलप किया जाएगा।
– अगले 6 साल में सेमीकंडक्‍टर और डिस्‍प्‍ले मैन्‍युफैक्‍चरिंग के प्रोजेक्ट के प्रोत्‍साहन पर 76,000 करोड़ रुपए खर्च किए जाएंगे।
– इसके साथ ही इलेक्ट्रॉनिक्स क्षेत्र के लिए अब तक घोषित प्रोत्साहन (PLI) की कुल राशि 2.30 लाख करोड़ रुपए हो गई।
– मकसद है, भारत को सेमीकंडक्‍टर निर्माण में ग्लोबल हब बनाना।

‘इंडिया सेमीकंडक्टर मिशन’
– केंद्र सरकार ने ‘इंडिया सेमीकंडक्टर मिशन’ स्थापित करने का फैसला किया।
– इस मिशन का नेतृत्व सेमीकंडक्टर और डिस्प्ले उद्योग के वैश्विक विशेषज्ञ करेंगे।
– यह सेमीकंडक्‍टर और इससे जुड़े इकोसिस्‍टम के लिए नोडल एजेंसी के रूप में कार्य करेगा।
– इस मिशन के तहत देश में सेमीकंडक्टर और डिस्प्ले मैन्युफैक्चरर्स के पूरे इकोसिस्टम को स्थापित करने का प्‍लान है।

दुनिया में सेमीकंडक्‍टर की कमी
– सेमीकंडक्टर सभी तरह के इलेक्ट्रॉनिक उत्पादों में लगने वाले प्रमुख कलपुर्जों में आता है।
– पूरी दुनिया में सेमीकंडक्टर की सप्लाई में आई कमी से हाल ही में स्मार्टफोन, लैपटॉप, कार और तमाम तरह के उत्पादों के प्रोडक्शन कम हो गया है।
– सरकार के इस कदम से सेमीकंडक्टर बनाने वाली कंपनियों को फायदा होगा।
– इस स्कीम के तहत भारत को सेमीकंडक्टर मैन्यूफैक्चरिंग हब बनाने की योजना है।

किस देश की कंपनी सेमीकंडक्‍टर निर्माण में आगे
– अमेरिका : 47 प्रतिशत
– साउथ कोरिया : 20 प्रतिशत
– जापान : 10 प्रतिशत
– यूरोपीय यूनियन : 10 प्रतिशत
– ताइवान : 7 प्रतिशत
– चीन : 5 प्रतिशत
नोट – ये आंकड़े ‘सेमीकंडक्‍टर इंडस्‍ट्री एसोसिएशन’ के हैं।

—————-
6. देश में थोक महंगाई दर नवंबर 2021 में 12 साल के रिकॉर्ड स्‍तर पर बढ़कर कितना हो गया?

a. 10.8 प्रतिशत
b. 11.8 प्रतिशत
c. 12.54 प्रतिशत
d. 14.2 प्रतिशत

Answer: d. 14.2 प्रतिशत

– किसने रिपोर्ट जारी की : Department for Promotion of Industry and Internal Trade (DPIIT)
– यह Ministry of Commerce and Industry के अंतर्गत है।

थोक महंगाई कब कितना
– नवंबर : 14.23% (नवंबर वर्ष 2020 में 2.29%)
– अक्‍टूबर : 12.54%
– सितंबर : 10.6%

नोट
– महंगाई दर पिछले साल इसी अवधि की तुलना में।
– पिछले आठ महीने से महंगाई दर लगातार बढ़ रही है। WPI मुद्रास्फीति में यह रिकॉर्ड वृद्धि सब्जियों, खनिजों और पेट्रोलियम उत्पादों की कीमतों में वृद्धि के कारण हुई थी।

Inflation इंडेक्‍स
– नवंबर में Inflation इंडेक्‍स : 142.9
– बेस ईयर : वित्‍त वर्ष 2011-12
– बेस ईयर को 100 अंक दिया जाता है, तो इसके अनुसार नवंबर 2021 में थोक इन्‍फ्लेशन इंडेक्‍स 142.9 हुआ।

महंगाई दर 12 साल के उच्‍च स्‍तर पर
– न्यूज एजेंसी रॉयटर्स के मुताबिक, थोक महंगाई का ये आंकड़ा 12 साल के रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गया है।
– ईंधन और बिजली की कीमतों में तेज़ी के कारण थोक महंगाई में बढ़ोतरी दर्ज की गई है।

थोक महंगाई दर क्या होती है?
– होलसेल प्राइस इंडेक्स (WPI) या थोक मूल्य सूचकांक का मतलब उन कीमतों से होता है, जो थोक बाजार में एक कारोबारी दूसरे कारोबारी से वसूलता है।
– ये कीमतें थोक में किए गए बिजनेस से जुड़ी होती हैं।

खुदरा महंगाई दर कितना
– नवंबर : 4.91%
– अक्‍टूबर : 4.48%

खुदरा महंगाई दर क्‍या होती है?
– कंज्यूमर प्राइस इंडेक्स (CPI) या उपभोक्ता मूल्य सूचकांक आम ग्राहकों द्वारा दी जाने वाली कीमतों पर आधारित होता है।
– CPI आधारित महंगाई की दर को रिटेल इंफ्लेशन या खुदरा महंगाई दर कहते हैं।

—————-
7. टाइम पर्सन ऑफ द ईयर 2021 का नाम बताएं?

a. नरेंद्र मोदी
b. जो बाइडन
c. एलन मस्‍क
d. राहुल गांधी

Answer: c. एलन मस्‍क

– वह इलेक्ट्रिक कार कंपनी टेस्ला के फाउंडर और स्पेस एंटरप्रेन्योर हैं।
– मैगजीन के मुताबिक, 50 साल के मस्क वास्तव में टेक्नोलॉजी मैग्नेट हैं। उन्होंने अमेजन के फाउंडर जेफ बेजोस को भी पीछे छोड़ दिया है।
– टाइम मैगजीन 1927 से पर्सन ऑफ द ईयर चुन रही है।
– वर्ष 2021 में मस्क को चुने जाने की एक वजह यह भी है कि उन्होंने स्पेस टेक्नोलॉजी को एक नया आयाम दिया है।

मस्क की ताकत
– टेस्ला का वैल्यूएशन करीब एक खरब डॉलर (अक्‍टूबर 2021 में)
– स्पेस एक्स ने अमेरिकी स्पेस एजेंसी NASA के साथ काम किया और कई मिशन लॉन्च किए।
– एलन मस्क दुनिया के पहले ऐसे अमीर हैं, जिनकी नेटवर्थ 300 अरब डॉलर से ज्यादा है।

—————–
8. IMD वर्ल्‍ड टैलेंट रैंकिंग 2021 में भारत रैंक क्‍या है?

a. 56th
b. 40th
c. 36th
d. 10th

Answer: a. 56th

– किसने रिपोर्ट जारी की : इंटरनेशनल इंस्‍टीट्यूट फॉर मैनेजमेंट डेवलपमेंट (IMD) ने 9 दिसंबर 2021 को रिपोर्ट जारी की।
– रैंकिंग में यूरोप के देश सबसे टॉप पर रहे।
– स्विट्जरलैंड का स्‍थान सबसे ऊपर रहा।
– वहीं इंडिया इस रैंकिंग में 56वें स्‍थान पर है।

IMD विश्व प्रतिस्पर्धा रैंकिंग 2021 में टॉप 10 देश-
1. स्विट्जरलैंड
2. स्वीडन
3.लक्‍जमबर्ग
4. नॉर्वे
5. डेनमार्क
6. ऑस्ट्रिया
7. आइसलैंड
8. फिनलैंड
9. नीदरलैंड
10. जर्मनी

इंटरनेशनल इंस्‍टीट्यूट फॉर मैनेजमेंट डेवलपमेंट (IMD)
– IMD स्विस मूल और वैश्विक पहुंच वाला एक स्वतंत्र शैक्षणिक संस्थान है, जिसकी स्थापना 75 साल पहले बिजनेस लीडर्स ने बिजनेस लीडर्स के लिए की थी।
– आईएमडी ने पहली बार 1989 में रैंकिंग जारी की थी।

रैंकिंग कैसे तय होती है?
– इसमें सैकड़ों इंडीकेटर्स डेटा के आधार पर 64 देशों की अर्थव्यवस्थाओं का आकलन किया जाता है। इसमें रोजगार, रहने की लागत, सरकारी खर्च, राजनीतिक स्थिरता जैसा डेटा शामिल किया जाता है।

—————–
9. भारतीय मूल की लीना नायर फ्रांस के किस लग्‍जरी ग्रुप की CEO बनीं?

a. शनैल
b. रचैल
c. एचएमवी
d. यूनिलीवर

Answer: a. शनैल

– पराग अग्रवाल के ट्विवटर CEO बनने के बाद एक और भारतीय, लीना नायर, को फ्रांस के लग्जरी ग्रुप शनैल ने अपना नया ग्लोबल चीफ एग्जीक्यूटिव (CEO) नियुक्त किया।
– इस ग्रुप का मुख्‍यालय लंदन में है।
– यह इंटरनेशनल ब्रांड अपने ट्वीड सूट, क्विल्टेड हैंडबैग और No. 5 परफ्यूम के लिए बेहद मशहूर है।

– लीना नायर इससे पहले यूनिलीवर में बतौर चीफ ह्यूमन रिसोर्स ऑफिसर (CHRO) थीं।

लीना नायर
– उनका जन्‍म महाराष्‍ट्र के कोल्‍हापुर में हुआ था।
– स्‍कूलिंग इसी जगह से की।
– उन्होंने जमशेदपुर के जेवियर्स स्कूल ऑफ मैनेजमेंट (XLRI) से MBA की डिग्री ली।
– उनकी उम्र 52 वर्ष है। कुछ साल पहले उन्‍होंने भारतीय नागरिकता छोड़कर ब्रिटिश नागरिकता अपना ली।
– लीना ने 30 साल पहले (1992 में) हिंदुस्तान यूनिलीवर लिमिटेड (HUL) में ट्रेनी के तौर पर काम शुरू किया था।
– 2016 में वह चीफ एचआर ऑफिसर (CHRO) बन गईं। तब तक कंपनी का भी नाम बदलकर यूनिलीवर कर दिया गया था।
– इस वक्‍त वह यूनिलीवर की पहली महिला, पहली एशियाई और सबसे कम उम्र की CHRO थी।
– वह वर्ष 2013 में भारत से लंदन शिफ्ट हो गई थीं।

किन कंपनियों में भारतीय मूल के CEO
माइक्रोसॉफ्ट – सत्‍य नडेला
अल्‍फाबेट – सुंदर पिचाई
शांतनु नारायण – अडोबी
अरविंद कृष्‍णा – IBM

—————–
10. केंद्र ने GI टैग वाले किस मखाने का नाम बदलकर ‘मिथिला मखाना’ कर दिया?

a. झारखंड मखाना
b. बिहार मखाना
c. उत्‍तर प्रदेश मखाना
d. झारखंड मखाना

Answer: b. बिहार मखाना

– पहले यह जीआई टैग बिहार मखाना के नाम से था।
– लेकिन बिहार कृषि विश्‍वविद्यालय ने मिथिला क्षेत्र में मखाना (Fox Nut) उत्‍पादकों के कल्‍याण के लिए मिथिलांचल मखाना उत्‍पादक संघ की ओर से नाम बदलने का आवेदन किया।
– इसके बाद अब जीआई टैग मिथिला मखाना हो गया है।

बिहार के कुछ जीआई टैग:
– मधुबनी पेंटिंग
– कतरनी चावल
– मगही पान
– सिलाव खाजा
– शाही लीची
– भागलपुरी जरदालु
– मिथिला मखाना

बिहार
सीएम – नीतीश कुमार
गवर्नर – फगु चौहान

——————–
11. किन खिलाड़ियों को नवंबर 2021 के लिए ICC Players of the Month चुना गया?

a. डेविड वार्नर
b. हेली मैथ्यू
c. टिम साउथी
d. a और b

Answer: d. a और b (ऑस्ट्रेलिया के सलामी बल्लेबाज डेविड वार्नर और वेस्टइंडीज के ऑलराउंडर खिलाड़ी हेली मैथ्यूज)

मंथ, मेंस प्‍लेयर ऑफ द मंथ, वूमेंस प्‍लेयर ऑफ द मंथ
जनवरी – रिषभ पन्त (भारत), शबनीम इस्माइल (दक्षिण अफ्रीका)
फरवरी – रविचंद्रन अश्विन (भारत), टैमी ब्यूमोंट (इंग्लैंड)
मार्च – भुवनेश्वर कुमार (भारत), लिज़ेल ली (दक्षिण अफ्रीका)
अप्रैल – बाबर आजम (पाकिस्तान), एलिसा हेली (ऑस्ट्रेलिया)
मई – मुशफिकुर रहीम (बांग्लादेश), कैथरीन ब्राइस (स्कॉटलैंड)
जून – डेवोन कॉनवे (न्यूजीलैंड), सोफी एक्लेस्टोन (इंग्लैंड)
जुलाई – शाकिब अल हसन (बांग्लादेश), स्टेफानी टेलर (वेस्ट इंडीज)
अगस्त – जो रूट (इंग्लैंड), एमियर रिचर्डसन (आयरलैंड)
सितम्बर – संदीप लामिछाने (नेपाल), हीथर नाइट (इंग्लैंड)
अक्टूबर – आसिफ अली (पाकिस्तान), लौरा डेलानी (आयरलैंड)
नवम्बर – डेविड वार्नर (ऑस्ट्रेलिया), हेली मैथ्यूज (वेस्ट इंडीज)

——————–
12. भारत का पहला ड्रोन मेला किस जगह दिसंबर 2021 में आयोजित हुआ?

a. ग्‍वालियर
b. आगरा
c. चेन्‍नई
d. चंडीगढ़

Answer: a. ग्‍वालियर

– यह आयोजन केंद्र सरकार के सिविल एविएशन मिनिस्‍ट्री और FICCI (Federation of Indian Chambers of Commerce & Industry) ने संयुक्‍त रूप से आयोजित किया।
– इसका उद्धाटन मध्‍य प्रदेश के मुख्‍यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने किया।
– इस दौरान ड्रोन बनाने वाली 20 कंपनियों ने मेले में आकर अपने-अपने ड्रोन का प्रदर्शन किया है।
– केन्द्रीय नागरिक उड्‌डयन मंत्री ने ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि मध्‍य प्रदेश में पांच ड्रोन स्कूल प्रदेश में खोले जाएंगे।
– देश में अभी ड्रोन का कारोबार जो 60 करोड़ रुपए हैं, वह आने वाले पांच साल में बढ़कर 15 हजार करोड़ पहुंच सकता है। हम ड्रोन क्रांति के साक्षी बन रहे हैं।

मध्य प्रदेश
– राजधानी: भोपाल
– राज्यपाल: मंगूभाई सी. पटेल
– मुख्यमंत्री: शिवराज सिंह चौहान


 

Free Download Notes PDF of Toady’s Current Affairs : – Click Here

 

Buy eBooks & PDF

[products limit=”3″ columns=”3″ order=”DESC” visibility=”visible”]

About Us | Help Desk | Privacy Policy | Disclaimer | Terms and Conditions | Contact Us

©2022 Sarkari Job News powered by Alert Info Media Pvt Ltd.

Log in with your credentials

or    

Forgot your details?

Create Account