19 Dec 2021 Current Affairs, 23 December 2021 Current Affairs, 20 December 2021 Current Affairs, 22 December 2021 Current Affairs, 21 December 2021 Current Affairs, Current Affairs 23 December 2021, 23 December 2021 Current Affairs, 23 December 2021 Current Affairs,

यह 19th to 23rd December 2021 का करेंट अफेयर्स है, जो आपके कांपटीटिव एग्‍जाम्‍स में मदद करेगा। इसका PDF Download Link इस पेज के लास्‍ट में मौजूद है। Current Affairs PDF आप इस पेज के आखिरी हिस्‍से से Free में डाउनलोड करें।

1. एयर डिफेंस सिस्टम एस-400 को भारत में सबसे पहले किस राज्‍य में तैनात किया गया?

a. पंजाब
b. अरुणाचल प्रदेश
c. उत्‍तराखंड
d. सिक्किम

Answer: a. पंजाब

– रूस में बने ताकतवर एयर डिफेंस सिस्टम एस-400 की पहली खेप दिसंबर 2021 में भारत पहुंची।
– वर्ष 2022 में इसकी अगली खेप पहुंचेगी।
– भारत ने रूस से S-400 की 5 यूनिट खरीदी हैं।
– अक्टूबर 2018 में रूस और भारत ने S-400 की सप्लाई को लेकर डील की थी।

पंजाब में क्‍यों तैनात किया गया?
– पड़ोसी देश पाकिस्‍तान और चीन की हरकतों की वजह से भारत को इस एयर डिफेंस सिस्‍टम की बेहद जरूरत थी।
– पंजाब से यह पाकिस्तान और चीन दोनों के खतरों से निपट सकता है।

दुनिया का सबसे मॉडर्न डिफेंस सिस्टम
– यह एयर डिफेंस सिस्टम है, यानी ये हवा के जरिए हो रहे अटैक को रोकता है।
– यह सिस्टम 400 किलोमीटर की रेंज में दुश्मन की मिसाइल, ड्रोन और एयरक्राफ्ट पर हवा में ही हमला कर सकता है।
– दुश्मन देशों के मिसाइल, ड्रोन, राकेट लॉन्चर और फाइटर जेट्स के हमले को रोकने में उपयोगी है।

S-400 की खासियत
– यह पूरा सिस्‍टम मोबाइल है, मतलब रोड के जरिए इसे कहीं भी लाया ले जाया जा सकता है।
– इसमें मौजूद रडार 600 किलोमीटर की दूरी से ही मल्टिपल टारगेट्स को डिटेक्ट कर सकता है।
– S-400 की एक यूनिट से एक साथ 160 ऑब्जेक्ट्स को ट्रैक किया जा सकता है।
– इसका रडार अपने ऑपरेशनल एरिया के इर्द-गिर्द एक सुरक्षा घेरा बना लेता है। अगर कोई कोई मिसाइल या दूसरा वेपन इसमें एंटर करता है, रडार उसे डिटेक्ट कर लेता है और कमांड व्हीकल को अलर्ट भेज देता है।
– यह मिसाइल सिस्‍टम एक साथ 36 टारगेट पर निशाना लगा सकता है।
– एक टारगेट के लिए 2 मिसाइल लॉन्च की जा सकती हैं।
– यह 30 किलोमीटर की ऊंचाई पर भी अपने टारगेट पर अटैक कर सकता है।

क्‍यों जरूरत है इसकी
– चीन ने 2014 में ही रूस से डील साइन कर ली थी, एस-400.
– अगस्‍त 2018 में चीन को पहला एस-400 मिल चुका है।
– यह चाइनीज मिलिटरी का पार्ट बन चुका है।
– 2019 में शहीन नाम से चीन ने पाकिस्‍तान के साथ मिलिटरी एक्‍सरसाइज किया था। इसमें एस-400 का भी यूज किया गया।
– एस-400 से पाकिस्‍तान और चीन से टू फ्रंट वॉर का खतरा कम हो जाएगा।

—————
2. संसद ने चुनाव सुधार से जुड़ा विधेयक ‘Election Laws (Amendment) Bill 2021’ को मंजूरी दे दी, इसमें क्‍या प्रावधान हैं?

a. मतदाता सूची को पैन काड्र से जोड़ना
b. मतदाता सूची को एटीएम कार्ड से जोड़ना
c. मतदाता सूची को राशन कार्ड से जोड़ना
d. मतदाता सूची को आधार कार्ड से जोड़ना

Answer: d. मतदाता सूची को आधार कार्ड से जोड़ना

– इस विधेयक को संसद के दोनों सदनों ने पास कर दिया।

विधेयक के प्रावधान
– इस विधेयक (बिल) के माध्यम से जनप्रतिनिधित्व अधिनियम 1950 और जनप्रतिनिधित्व अधिनियम 1951 में संशोधन किए जाने का प्रस्ताव किया गया है।
– मतदाता सूची में दोहराव और फर्जी मतदान रोकने के लिए वोटर लिस्‍ट और सूची को आधार कार्ड से जोड़ा जाएगा। कानून मंत्री किरेन रिजीजू ने कहा है कि यह ऑप्‍शनल होगा, मेंडेटरी नहीं।
– चुनाव संबंधी कानून को सैन्य मतदाताओं के लिए लैंगिक निरपेक्ष (जेंडर न्‍यूट्रज ) बनाया जाना है।
– वर्तमान चुनावी कानून के प्रावधानों के तहत, किसी भी सैन्यकर्मी की पत्नी को सैन्य मतदाता के रूप में पंजीकरण कराने की पात्रता है लेकिन महिला सैन्यकर्मी का पति इसका पात्र नहीं है। प्रस्तावित विधेयक को संसद की मंजूरी मिलने पर स्थितियां बदल जाएंगी।
– निर्वाचन आयोग ने विधि मंत्रालय से जनप्रतिनिधित्व कानून में सैन्य मतदाताओं से संबंधित प्रावधानों में ‘पत्नी’ शब्द को बदलकर ‘स्पाउस’ (जीवनसाथी) करने को कहा था।
– बिल के तहत एक अन्य प्रावधान में युवाओं को मतदाता के रूप में प्रत्येक वर्ष चार तिथियों के हिसाब से पंजीकरण कराने की अनुमति देने की बात है। वर्तमान में एक जनवरी या उससे पहले 18 वर्ष के होने वालों को ही मतदाता के रूप में पंजीकरण कराने की अनुमति दी जाती है।

विपक्ष का क्‍या कहना है?
– वोटर लिस्‍ट को आधार नंबर को जोड़ने से यह गुप्‍त नहीं रहेगा।
– आधार को लेकर ही कई विवाद होते हैं। आधार के सहारे फ्रॉड की जानकारी आती रहती है।
– राजनीतिक दलों के पास आधार नंबर की जानकारी लग जाए, तो इसका कई तरह से इस्‍तेमाल कर सकते हैं।
– वोटिंग गुप्‍त प्रक्रिया है। चूकि अब वोटर आईडी से आधार कार्ड जुड़ा है, तो अब इसका गुप्‍त रहना मुश्किल है।
– यहां गौर करने वाली बात है कि केंद्र सरकार पर पेगासस स्‍पाइवेयर के जरिए जासूसी के आरोप लगे हैं और सरकार ने इससे इनकार नहीं किया है।

पुदुचेरी का मामला
– पुदुचेरी में विधानसभा चुनाव के दौरान लोगों को थोक में एसएमएस भेजे गए, इसमें बीजेपी के स्‍थानीय वाट्सएप ग्रुप के लिंक थे।
– आरोप लगा कि जिन मोबाइल नंबरों पर ये एसएमएस भेजे गए, वे उन आधार कार्ड के थे, जो वोटर लिस्‍ट में जोड़े गए थे।
– मामला मद्रास हाईकोर्ट मामला पहुंचा।
– इस मामले में बीजेपी पर आरोप लग चुके हैं।
– आरोप है कि वोटरों को प्रभावित किया जा सकता है।

– हाईकोर्ट में केस करने वाले VYFI के ए आनंद का कहना है कि, ‘केस की प्रमुख बात है कि जिन मतदाताओं के वोटर आईडी आधार कार्ड से जुड़े थे, उन्‍हें ही बीजेपी एसएमएस आए। जिनके आधार से नहीं जुड़े थे, उन्‍हें ऐसे एमएसएस नहीं आए। पुद्दुचेरी के चुनाव आयुक्‍त और मुख्‍य चुनाव अधिकारी को अपनी शिकायत में यही बात कही। लेकिन तब तक कुछ नहीं हुआ, जब तक कि हम कोर्ट नहीं गए।’

——————
3. राष्ट्रीय गणित दिवस (National Mathematics Day) कब मनाया जाता है?

a. 20 दिसंबर
b. 21 दिसंबर
c. 22 दिसंबर
d. 23 दिसंबर

Answer: c. 22 दिसंबर

– इस महान गणितज्ञ श्रीनिवास रामानुजन (Srinivasa Ramanujan) की जयंती है। उनका जन्‍म 22 दिसंबर, 1887 को तमिलनाडु के इरोड में हुआ था।

—————–
4. BWF वर्ल्‍ड चैंपियनशिप में सिल्‍वर मेडेल जीतने वाले पहले भारतीय पुरुष बैडमिंटन खिलाड़ी कौन हैं?

a. किदांबी श्रीकांत
b. अजय जयराम
c. बी साईं
d. विशाल कुमार

Answer: a. किदांबी श्रीकांत

– उन्‍होंने वर्ल्ड बैडमिंटन चैंपियनशिप 2021 में मेंस सिंगल्स में सिल्‍वर मेडेल जीता।
– सिंगापुर के किन यू लो ने गोल्‍ड और इंडिया के किदांबी श्रीकांत को सिल्‍वर मेडेल मिला।

– किदांबी श्रीकांत 28 वर्ष के हैं। वह आंध्र प्रदेश के रहने वाले हैं।
– वह वर्ल्‍ड बैडमिंटन चैंपियनशिप में सिल्‍वर मेडेल जीतने वाले पहले भारतीय पुरुष खिलाड़ी बन गए हैं।
– हालांकि महिलाओं में पीवी सिंधु ने 5 (एक गोल्‍ड, 2 सिल्‍वर और 2 ब्रॉन्‍ज) मेडेल अपने नाम किए हुए हैं।

BWF वर्ल्‍ड चैंपियनशिप 2021
– आयोजन स्‍थल : स्‍पेन

—————–
5. पीएम नरेंद्र मोदी ने दिसंबर 2021 में किस राज्‍य में स्थित अगुआडा जेल संग्रहालय का शिलान्यास किया?

a. उत्‍तर प्रदेश
b. हिमाचल प्रदेश
c. कर्नाटक
d. गोवा

Answer: d. गोवा

– गोवा की आजादी को आज 60 साल पूरे होने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 19 दिसंबर 2021 को वहां पहुंचकर गोवा मुक्ति दिवस मनाया।
– इसी दौरान उन्‍होंने अगुआडा जेल संग्रहालय का शिलान्यास।
– इस संग्रहालय में गोवा मुक्ति आंदोलन से जुड़ी चीजें और इतिहास को दर्ज किया जा रहा है।

गोवा
सीएम – प्रमोद सावंत
राज्‍यपाल – पीएस श्रीधरण पिल्‍लई
राजधानी – पणजी

——————
6. ‘अग्नि प्राइम’ की मारक क्षमता बताएं, जिसका परीक्षण DRDO ने दिसंबर 2021 को किया?

a. 500 किमी
b. 1000 किमी
c. 1500 किमी
d. 2000 किमी

Answer: d. 2000 किमी.

– डीआरडीओ ने 18 दिसंबर 2021 को ओडिशा तट के पास ए पी जे अब्दुल कलाम द्वीप से मिसाइल ‘अग्नि पी’ का सफल परीक्षण किया।
– यह नई पीढ़ी की परमाणु सक्षम बैलिस्टिक मिसाइल है।
– इस मिसाइल का दूसरा परीक्षण था। इससे पहले जून 2021 में मिसाइल का परीक्षण हुआ था।

मोबाइल लॉन्चर से दागी जा सकती है
– अग्नि प्राइम को 4000 किमी रेंज वाली अग्नि-4 और 5000 किमी रेंज वाली अग्नि-5 के टैक्नीकल स्पेसिफिकेशंस के साथ तैयार किया गया है।
– लिहाजा, इसकी टेक्नोलॉजी काफी एडवांस है। नई मिसाइल वजन में हलकी है और इसे मोबाइल लॉन्चर से भी फायर किया जा सकता है।

अग्नि मिसाइल का पहला परीक्षण 1989 में हुआ
– भारत ने 1989 में अग्नि मिसाइल का परीक्षण किया था।
– उस मिसाइल की मारक क्षमता 700 से 900 किमी तक थी।
– इसे 2004 में सेना में शामिल किया गया था।
– अब तक भारत अग्नि सीरीज की 5 मिसाइल तरह की लॉन्च कर चुका है।

—————–
7. नासा के स्‍पेसक्राफ्ट ‘सोलर पार्कर प्रोब’ ने सूर्य के किस हिस्‍से को छूकर रिकॉर्ड बनाया, जिसका टेंपरेचर 11 लाख डिग्री सेल्‍सियस है?

a. कोर
b. फोटोस्‍फेयर
c. क्रोमोस्‍फेयर
d. कोरोना

Answer: d. कोरोना

– स्‍पेसक्राफ्ट ‘पार्कर सोलर प्रोब’ ने 28 अप्रैल 2021 को सूर्य के कोरोना को छुआ।
– इसकी जानकारी नासा ने दिसंबर 2021 में सार्वजनिक की।

सवाल
सन को टच करने का मतलब क्‍या है और इससे क्‍या हासिल होने वाला है?
– पार्कर सोलर प्रोब 1958 से नासा इसकी प्‍लान‍िंग कर रहा था।
– गोल सेट किया था कि सन को लेकर मिशन लांच करना है।
– फाइनली 2018 में लांच किया गया।
– तो इसने अप्रैल 2021 में सूर्य के सर्फेस को टच कर लिया है। यह हुआ है सूर्य के कोरोना के जरिए।

क्‍या है सूर्य का कोराना?
– सूर्य के आउटर पार्ट को कोनारा कहा जाता है। यह जिग जैक शेप में होता है।
– कोरोना का तापमान करीब 20 लाख डिग्री फारेनहाइट (11 लाख डिग्री सेल्सियस) होता है।
– यह टेंपरेचर सूर्य की सतह (Surface) से 500 गुना है।
– असल में सूर्य की सतह से लाखों किलोमीटर दूर तक आग की लपटें उठती हैं।
– ये लपटें सूर्य की गुरुत्वाकर्षण शक्ति की वजह से जितने क्षेत्र तक सीमित रहती हैं. उस क्षेत्र को कोरोना या सूर्य की Magnetic Field भी कहते हैं।

सोलर पार्कर प्रोब के इस अभियान से फायदा?
– इससे सन के बारे मे जानकारी मिलेगी, साथ में सन का इवैल्‍युएशन के बारे में पता चलेगा।
– बाकी के गैलेक्‍सीज में जो स्‍टार हैं, उसके बारे में जानने को मिलेगा।
– यह प्रोब चक्‍कर लगाता है और क्‍लोज आता जाता है।
– कोशिश की जाती है कि फंडामेंटल क्‍वेश्‍चन हैं, सन के रिलेटेड, जैसे आपने सोलर विंड के बारे में सुना होगा। यह काफी एक्‍स्‍ट्रीम जेट टाइप का रेडिएशन निकलता है।

प्रोब के जरिए डिस्‍कवरी?
– इसने 2019 में बताया था कि सोलर विंड निकलता है वह जिग जैग स्‍ट्रक्‍चर का होता है। इसे स्‍विच बैक कहते हैं।
– सोलर विंड का ज्‍यादातर हिस्‍सा वापस उसी के एटमॉस्‍फेयर में चला जाता है, जिसे स्विच बैक कहते हैं। कुछ हिस्‍सा अंतरिक्ष में फैलता है।

कोरोना तक पहुंचने से क्‍या पता चला?
– सूर्य का कोरोना जहां खत्‍म होता है, उसे एल्‍बन सर्फेस कहते हैं।
– सोलर विंड और सन का एटमॉस्‍फेयर होता है, उसका आउटर वाले प्‍वांट का एल्‍बन प्‍वाइंट कहा जाता है।
– इसे हेनस एल्‍वन के द्वारा बताया गया था 1942 में नेचर पत्रिका में बताया गया था।
– तभी से इसे पता लगाने की कोशिश हो रही थी कि यह किस जगह पर है।

आगे क्‍या होगा?
– सोलर पार्कर प्रोब वर्ष 2024 तक सन के अंदर जाने की कोशिश करेगा।
– वर्ष 2024 तक यह 3.9 मिलियन माइल्‍स तक दूर रहेगा।
– बहुत सारे रहस्‍यों की हकीकत का पता चलेगा।

सूर्य के पास जाने के बावजूद क्यों नहीं जला स्पेसक्राफ्ट?
– असल में इस अंतरिक्ष यान पर Carbon Particles से बनी एक थर्मल शील्ड लगी है, जो इस यान को जलने से बचाती है।
– इसके अलावा इसके अन्दर एक कूलिंग सिस्टम है, जो इसे लगातार ठंडा रखता है।

—————
8. उत्‍तर प्रदेश का सबसे बड़े गंगा एक्‍सप्रेस वे की लंबाई बताएं, जिसका शिलान्‍यास पीएम नरेंद्र मोदी ने दिसंबर 2021 में किया?

a. 394 किलोमीटर
b. 494 किलोमीटर
c. 594 किलोमीटर
d. 894 किलोमीटर

Answer: c. 594 किलोमीटर

– गंगा एक्‍सप्रेस वे उत्‍तर प्रदेश में बन रहा है।
– यह मेरठ को प्रयागराज (पूर्व में इलाहाबाद) को जोड़ेगा।
– पीएम नरेंद्र मोदी ने 18 दिसंबर 2021 को इसका शिलान्‍यास किया।
– इसका निर्माण दिसंबर 2024 तक पूरा होने की उम्‍मीद है।

अडानी को मिला ठेका
– निर्माण का 80 प्रतिशत हिस्‍से का ठेका अदानी अदानी एंटरप्राइजेज लिमिटेड (AEL) ने पाया है।
– अडानी, इस प्रोजेक्‍ट के तीन हिस्‍से का निर्माण करेगा।
– यह ठेका 17,085 करोड़ रुपए का है।
– यह सार्वजनिक-निजी भागीदारी (पीपीपी) के तहत देश की किसी निजी कंपनी को दी गई अब तक की सबसे बड़ी एक्सप्रेसवे परियोजना है।

गंगा एक्सप्रेस-वे की खासियत?
– यह उत्तर प्रदेश का सबसे लंबा एक्सप्रेस-वे होगा, जिसके दिसबंर 2024 तक पूरा होने का अनुमान है।
– 594 किलोमीटर लंबा छह लेन का गंगा एक्सप्रेस-वे उत्तर प्रदेश में मेरठ से शुरू होकर प्रयागराज तक जाएगा।
– उत्तर प्रदेश के 12 जिलों- मेरठ, हापुड़, बुलंदशहर, अमरोहा, संभल, बदायूं, शाहजहांपुर, हरदोई, उन्नाव, रायबरेली, प्रतापगढ़ और प्रयागराज, से होकर गुजरेगा। इन 12 जिलों के 500 से अधिक गांवों को भी जोड़ेगा।
– गंगा एक्सप्रेस-वे की अनुमानित लागत 36,230 करोड़ रुपये है, जिसमें से जमीन अधिग्रहण पर करीब 9500 करोड़ रुपये का खर्च भी शामिल है।
– इसके बनने के बाद दिल्ली से प्रयागराज के बीच यात्रा में लगने वाला 10-11 घंटे का समय कम होकर 6-7 घंटे रह जाएगा।
– गंगा एक्सप्रेस-वे को भविष्य में 8 लेन का किए जाने और ग्रेटर नोएडा से बलिया तक 1047 किमी लंबा किए जाने की योजना है।
– पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे की तरह ही गंगा एक्सप्रेस-वे में भी आपातकालीन स्थिति में एयरफोर्स के विमानों की लैंडिंग के लिए शाहजहांपुर के पास एक 3.5 किलोमीटर लंबी एयर स्ट्रिप का निर्माण भी किया जाएगा।

कैसे परवान चढ़ी गंगा एक्सप्रेस-वे की योजना?
– गंगा एक्सप्रेस-वे परियोजना को सबसे पहले 2007 में UP की तत्कालीन CM मायावती ने लॉन्च किया था।
– यह परियोजना 29 जनवरी 2019 को UP CM योगी आदित्यनाथ ने लॉन्च की।
– नवंबर 2021 में पर्यावरण मंत्रालय से क्लियरेंस मिला, उसी महीने उत्तर प्रदेश कैबिनेट ने गंगा एक्सप्रेस-वे निर्माण के लिए 36200 करोड़ रुपये के बजट को मंजूरी दी।

देश में एक्‍सप्रेस वे की निर्माणाधीन योजना

क्र. सं. एक्‍सप्रेस वे लंबाई कब पूरा होगा (अनुमानित)
1. दिल्‍ली-मुंबई एक्‍सप्रेस वे 1350 KM मार्च 2023
2. अमृतसर – जामनगर एक्‍सप्रेस वे 1257 KM मार्च 2023
3. पुणे – बेंगलुरु एक्‍स्रपेस वे 745 KM 2023-14 (काम शुरू होगा)
4. मुंबई – नागपुर एक्‍सप्रेस वे 701 KM मई 2022 (काम जारी)
5. दिल्‍ली – अमृतसर – कटरा एक्‍सप्रेस वे 687 KM दिसंबर 2023
6. वाराणसी – रांची- कोलकाता एक्‍सप्रेस वे 650 KM 2023-24 में काम शुरू होगा
7. पठाकनकोठ- अजमेर एक्‍सप्रेस वे 600 KM मार्च 2024
8. गंगा एक्‍सप्रेस वे (मेरठ-प्रयागराज) 594 KM दिसंबर 2024

—————
9. किस मुस्‍लिम देश ने ‘तबलीगी जमात’ पर प्रतिबंध लगा दिया?

a. पाकिस्‍तान
b. बांग्‍लादेश
c. सऊदी अरब
d. ईरान

Answer: c. सऊदी अरब

– तब्लीगी जमात सुन्नी मुसलमानों का सबसे बड़ा समूह है।

सऊदी अरब ने तबलीगी जमात पर क्यों बैन लगाया?
– सऊदी अरब ने तब्लीगी जमात को आतंकवाद का एंट्री गेट बताया है।
– सऊदी ने तो मस्जिदों से जुमे की नमाज के बाद लोगों को तब्लीगी जमात से न जुड़ने की अपीली की है।
– सऊदी अरब के मुस्लिम मामलों के मंत्री डॉक्टर अब्दुल्लातीफ अल-अलशेख ने इस संगठन को समाज के लिए गलत और खतरनाक बताया है।
– सऊदी अरब दुनिया भर में करीब 15 हजार करोड़ रुपए सलाना इस्लाम धर्म के प्रचार के लिए दान देता है।
– सऊदी इस्लाम के प्रचार-प्रसार के लिए वहाबी आंदोलन भी चलाता रहा है।
– तबलीगी जमात से जुड़े लोग हनफी मसलक के हैं और सऊदी अरब के मस्जिदों में सलफी मसलक के इमाम होते हैं। ऐसे में वैचारिक मतभेद एक अहम वजह है।
– सऊदी अरब में सभी मस्जिद सरकार के अधीन है जबकि तबलीगी जमात के लोग मस्जिदों में रहकर प्रचार करते हैं। ऐसे में प्रशासन और जमात के लोगों में विवाद।

तबलीगी जमात
– तब्लीगी जमात की शुरुआत देवबंदी इस्लामी विद्वान मौलाना मोहम्मद इलयास कांधलवी ने एक धार्मिक सुधार आंदोलन के रूप में की थी।
– यह संगठन 1926 में हरियाणा के मेवात में बना था।
– 1941 में तबलीगी जमाता का पहला जलसा हुआ था।
– अब इस संगठन का फैलाव अब दुनिया के 150 देशों में हो गया है।
– तबलीगी से जुड़े लोग साल के कुछ महीने गांव-गांव जाकर लोगों को धर्म की जानकारी देते हैं।
– पूरी तरह से गैर-राजनीतिक माना जाता है।
– इस जमात का मकसद पैगंबर मोहम्मद के बताए गए इस्लाम के पांच बुनियादी अरकान (सिद्धातों) कलमा, नमाज, इल्म-ओ-जिक्र (ज्ञान), इकराम-ए-मुस्लिम (मुसलमानों का सम्मान), इखलास-एन-नीयत (नीयत का सही होना) और तफरीग-ए-वक्त (दावत और तब्लीग के लिए समय निकालना) का प्रचार करना होता है।

सऊदी अरब
कैपिटल – रियाद
किंग – सलमान बिन अब्‍दुलअजीज
क्राउन प्रिंस – मोहम्‍मद बिन सलमान

—————–
10. चीन में भारत के राजदूत कौन बने?

a. प्रदीप कुमार रावत
b. त्रिवेंद्र कुमार रावत
c. विवेक अग्निहोत्री
d. राकेश वर्मा

Answer: a. प्रदीप कुमार रावत

– फर्राटेदार चीनी भाषा बोलने वाले प्रदीप कुमार रावत का चीन में यह तीसरा कार्यकाल होगा।
– इससे पहले वह चीन में भारतीय दूतावास में काम कर चुके हैं।
– रावत को चीन से जुड़े मुद्दे हैंडल करने का अनुभव है।
– वष 2017 में चीन और भारत के बीच डोकलाम विवाद के दौरान रावत भारत की तरफ से वार्ताकारों में शामिल रहे थे।
– प्रदीप रावत भारतीय विदेश सेवा के 1990 बैच के अधिकारी हैं।

——————-
11. पीएम नरेंद्र मोदी को किस देश के सर्वोच्‍च नागरिक सम्‍मान ‘नगदग पेल गी खेर्लो’ से नवाजा गया?

a. बांग्‍लादेश
b. भूटान
c. अमेरिका
d. रूस

Answer: b. भूटान

– इस अवॉर्ड को ‘द ऑर्डर ऑफ द ड्रुक ग्यालपो’ भी कहते हैं।
– भूटान के पीएम लोतेय शेरिंग ने देश के 114th राष्‍ट्रीय दिवस के मौके दिसंबर 2021 में यह घोषणा की।
– भारत ने कोरोना काल के समय भूटान की काफी मदद की।
– भूटान ने भारत के पीएम को अपने देश में आने का निमंत्रण भी दिया।
– विभिन्न सरकारों द्वारा दिया जाने वाला पीएम मोदी का यी 10वां अंतरराष्ट्रीय पुरस्कार है।

भारत- भूटान के संबंध
– भारत-भूटान सम्बन्धों की शुरूआत 1865 ई. की सिनचुला संधि से होती है
– यह संधि भूटान और ब्रिटिश भारत के मध्य हुई थी।
– द्विपक्षीय इंडो-भारत ग्रुप बॉर्डर मैनेजमेंट एंड सिक्योरिटी की स्थापना दोनों देशों के बीच सीमा की सुरक्षा करने के लिये की गई है।
– सन् 1971 के बाद से भूटान यूनाइटेड नेशन का सदस्य है।
– भूटान भारत से विभिन्‍न संबंध रखता है जैसे- आर्थिक, रणनीतिक और सैन्‍य संबंध आदि।

– कोरोनाकाल में भारत ने सबसे पहले भूटान को कोरोना वैक्‍सीन भेजी थीं।
– इसके अलावा वर्ष 2014 में पीएम बनने के बाद मोदी ने सबसे पहले भूटान को दौरा किया था।
– साल 2019 में भी दुबारा पीएम बनने के बाद भूटान की यात्रा की थी।

देशों द्वारा प्रदान किए जाने वाले पुरस्कार:
– वर्ष 2016 में सऊदी अरब का “अब्दुलअज़ीज़ अल सऊद का आदेश” सम्‍मान से नवाजा गया।
– वर्ष 2016 मे ही अफगानिस्‍तान का सर्वोच्‍च सम्‍मान “गाजी अमीर अमानुल्लाह खान का राज्य आदेश” दिया गया।
– वर्ष 2018 में फिलिस्‍तीन राज्‍य का “ग्रैंड कॉलर पुरस्‍कार” मिला।
– वर्ष 2019 में यूएई का सर्वोच्च नागरिक सम्मान “ऑर्डर ऑफ जायद अवार्ड” मिला।
– वर्ष 2019 में ही रूस का सर्वोच्च नागरिक सम्मान “ऑर्डर ऑफ सेंट एंड्रयू” मिला।
– वर्ष 2019 में मालदीव का सर्वोच्‍च नागरिक सम्‍मान “निशान इजुद्दीन के विशिष्‍ट शासन का आदेश” मिला।
– वर्ष 2019 में बहरीन का शीर्ष सम्‍मान “पुनर्जागरण के राजा हमद आदेश” मिला।
– वर्ष 2019 में रूस का सर्वोच्च नागरिक सम्मान “ऑर्डर ऑफ सेंट एंड्रयू” मिला।
– वर्ष 2020 में अमेरिका का “लीजन ऑफ मेरिट” अवॉर्ड दिया गया।
– वर्ष 2021 में भूटान का सर्वोच्‍च नागरिक सम्‍मान ‘नगदग पेल गी खेर्लो’ से नवाजा गया।

भूटान
राजधानी: थिम्फू
प्रधान मंत्री: लोटे शेरिंग
मुद्रा: भूटानी न्गुलट्रम

—————–
12. पुस्‍तक ‘गांधीटोपी गवर्नर’ की लांचिंग उपराष्‍ट्रपति एम वेंकैया नायडु ने की, इसके लेखक का नाम बताएं?

a. विवेक कुमार
b. विशाल भारद्वाज
c. यारलागड्डा लक्ष्‍मी प्रसाद
d. यरुलोंग भवानी

Answer: c. यारलागड्डा लक्ष्‍मी प्रसाद

– वह आंध्र प्रदेश में राजभाषा आयोग के अध्‍यक्ष हैं।
– भारत के उपराष्‍ट्रपति एम. वेंकैया नायडू ने दिसंबर 2021 में इस बुक को लॉन्‍च किया।
– पुस्‍तक में ब्रिटिश प्रशासन में प्रमुख स्वतंत्रता सेनानी, विधायक और मध्य प्रांत के राज्यपाल एडपुगंती राघवेंद्र राव के जीवन के बारे में बताया है।

———————–
13. किस महिला भारतीय भारोत्तोलक ने राष्‍ट्रमंडल चैंपियनशिप 2021 में 87 किग्रा भारवर्ग में गोल्‍ड मेडल जीता?

a. पूर्णिमा पांडे
b. मीराबाई चानू
c. सुमन यादव
d. अनुराधा पावुनराज

Answer: a. पूर्णिमा पांडे

– पूर्णिमा पांडे ने 87 किग्रा भारवर्ग में आठ नेशनल रिकॉर्ड बनाए।
– दो स्नैच में तथा तीन-तीन क्लीन एवं जर्क तथा कुल भार वर्ग में।
– पूर्णिमा ने यह रिकॉर्ड 16 दिसंबर 2021 को मनाया।
– इस प्रकार पूर्णिमा 2022 राष्ट्रमंडल खेलों के लिए क्वालीफाई करने वाली इस प्रतियोगिता से चौथी भारतीय भारोत्तोलक बन गईं।

पूर्णिमा से पहले गोल्‍ड जीतने वाले खिलाड़ी-
– जेरेमी लालरिननुंगा (पुरुषों का 67 किग्रा),
– अचिंता शुली (पुरुषों का 73 किग्रा)
– अजय सिंह (पुरुषों का 81 किग्रा)

– कॉमनवेल्थ मीट में भारत ने अबतक 14 मेडल जीते हैं जिनमें से आठ पुरुषों ने जबकि 6 मेडल महिलाओं ने हासिल किए।

कौन बर्मिंघम 2022 के लिए क्वालीफाई होगा-
– पूर्णिमा ने पोडियम के शीर्ष स्‍थान को पाने के लिए 229 किग्रा (102 किग्रा + 127 किग्रा) उठाकर सीधे बर्मिंघम में 2022 राष्ट्रमंडल खेलों के लिए क्वालीफाई किया।
– राष्ट्रमंडल भारोत्तोलन चैंपियनशिप में प्रत्येक भार वर्ग में स्वर्ण पदक विजेता सीधे 2022 के लिए क्वालीफाई प्राप्त करेंगे। और बाकी राष्ट्रमंडल रैंकिंग के माध्यम से क्वालीफाई प्राप्त करेंगे।

– कॉमनवेल्थ वेटलिफ्टिंग चैंपियनशिप 2021 का आयोजन उज्बेकिस्तान के ताशकंद में हो रहा है।

—————–
14. विश्‍व अरबी भाषा दिवस कब मनाया जाता है?

a. 16 December
b. 17 December
c. 18 December
d. 19 December

Answer: c. 18 December

– यह दिवस 2012 से हर साल विश्‍व स्‍तर पर मनाया जाता है।
– इस दिवस का उद्देश्‍य ज्‍यादा संख्‍या में विशेष आयोजन और कार्यक्रम तहत भाषा के इतिहास, विकास और सस्कृति के बारे में लोगो जागरूक करना है।

वर्ष 2021 की थीम: “अरबी भाषा, सभ्यताओं के बीच एक सेतु” (“Arabic Language, a bridge between civilisations”)

– सन् 1973 में संयुक्त राष्ट्र की महासभा ने अरबी को संगठन की छठी आधिकारिक भाषा के रूप में अपनाया था।

——————
15. 33वें मूर्तिदेवी पुरस्‍कार के विजेता कौन हैं?

a. आकाश सिंह
b. विश्‍वनाथ प्रसाद तिवारी
c. विश्‍वेश्‍वर नाथ
d. राधेश्‍याम दास

Answer: b. विश्‍वनाथ प्रसाद तिवारी

– वह साहित्य अकादमी के पूर्व अध्यक्ष एवं हिंदी के प्रसिद्ध कवि-आलोचक हैं।
– उपराष्‍ट्रपति एम वेंकैया नायडु ने दिसंबर 2021 में यह अवार्ड दिया।
– यह पुरस्कार उनकी आत्मकथा ‘अस्ति और भवति’ के लिए दिया गया।
– इस अवार्ड का नाम वर्ष 1982 से भारतीय ज्ञानपीठ द्वारा मूर्ति देवी की स्मृति में दिया जाता है।
– मूर्ति देवी भारतीय ज्ञानपीठ के संस्थापक साहू शांति प्रसाद जैन की मां थी।
– यह पुरस्कार भारतीय संविधान की आठवीं अनुसूची में शामिल भाषाओं में से किसी भी लेखक के उन पुस्तकों का चयन किया जाता है जिनसे भारतीय दर्शन एवं संस्कृति के मानवीय मूल्य प्रदर्शित होते हैं।
– इस पुरस्कार के तहत चार लाख रुपये की पुरस्कार राशि, सरस्वती देवी की प्रतिमा व प्रशस्ति-पत्र प्रदान किया जाता है।

——————
16. चिली के सबसे कम उम्र के राष्‍ट्रपति कौन चुने गए?

a. गेब्रियल बोरिक
b. जोस एंटोनियो कास्ट
c.सेबस्टियन पिनेरा
d. रोजर परेजो

Answer: a. गेब्रियल बोरिक

– गेब्रियल बोरिक मार्च 2022 में पद ग्रहण करेंगे, चिली के इतिहास में सबसे कम उम्र के राष्ट्रपति बनेंगे।
– वह 35 वर्ष के हैं।

चिली
– राजधानी: सैंटियागो
– मुद्रा: पेसो


 

Free Download Notes PDF of Toady’s Current Affairs : – Click Here

 

Buy eBooks & PDF

About Us | Help Desk | Privacy Policy | Disclaimer | Terms and Conditions | Contact Us

©2022 Sarkari Job News powered by Alert Info Media Pvt Ltd.

Log in with your credentials

or    

Forgot your details?

Create Account