गेट एग्जाम की तैयारी करने के 10 आसान तरीके

गेट एग्जाम की अच्‍छी तैयारी करने के आसान उपाय, गेट एग्जाम शैक्षिक योग्यता, गेट एग्जाम परीक्षा पैटर्नगेट एग्जाम की तैयारी करने के आसान उपाय –

गेट एग्‍जाम का पूरा नाम है ग्रेजुएट एप्टीट्यूड टेस्ट इन इंजीनियरिंग, यह परीक्षा ऑल इंडिया एग्जाम (All India Exam) है, इसके तहत हर वर्ष कई छात्र और छात्राएं आवेदन करते हैं। इसमें कुछ तो सफल हो जाते हैं। वही कुछ स्‍टूडेंट गेट एग्जाम की तैयारी में अपनी गलितियों के कारण सफल नहीं हो पाते हैं।

यह परीक्षा मास्टर डिग्री की पढ़ाई के लिए इंजीनियरिंग के सभी विषयों की होती है।

गेट एग्जाम (GATE exam) का आयोजन इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ साइंस, देश की सात आईआईटी (IIT), नेशनल कोर्डिनेसन बोर्ड, गेट डिपार्टमेंट ऑफ़ हायर एजुकेशन, मानव संसाधन विकास मंत्रालय और भारत सरकार मिलकर करती है। यहांं परीक्षा सभी चुनौतीपूर्ण परीक्षाओं में से एक है। इसलिए आपकों कड़ी मेहनत और लगन की जरुरत होती है। यहाँ पर आपको बताया जा रहा है कैसे आप गेट एग्जाम की तैयारी कर इसमें सफलता प्राप्‍त कर सकते हैं।गेट एग्जाम की अच्‍छी तैयारी करने के आसान उपाय, गेट एग्जाम शैक्षिक योग्यता, गेट एग्जाम परीक्षा पैटर्न

गेट एग्जाम की शैक्षिक योग्यता  –

  • इंजीनियरिंग/टेक्नोलॉजी/आर्किटेक्चर में स्नातक डिग्री (10 + 2), पोस्ट बीएससी, पोस्ट डिप्लोमा (Post Diploma) के बाद चार वर्ष की डिग्री होनी अनिवार्य है.
  • अंतिम वर्ष के विद्यार्थी भी इस परीक्षा के लिए आवेदन कर सकते हैं।
  • विज्ञान, गणित, सांख्यिकी. कंप्यूटर एप्लीकेशन (Computer Application) में मास्टर धारक या इन ब्रांच में फाइनल वर्ष (Final year) के विद्यार्थी।

गेट एग्जाम का परीक्षा पैटर्न –

गेट परीक्षा के दौरान आपको तीन घण्टे की समय अवधि दी जाती है, जिसमें कुल 65 प्रश्‍न होते हैं और अधिकतम 100 अंक होते हैं। अब गेट एग्जाम ऑनलाइन (Online) होते है, इसमें आपसे दो तरह के प्रश्‍न पूछे जाते हैं। एक में चार विकल्प होते हैं, जिसमें से एक का चुनाव करना होता है तथा दूसरे तरह के प्रश्‍न में किसी संख्या के रूप में जवाब देना होता है। तीन घंटे पूरे होते ही कंप्यूटर स्क्रीन बंद हो जाती है और पेपर खत्म हो जाता है।

गेट परीक्षा में सफलता बनने को कैसी हो तैयारी  –

गेट एग्जाम में बहुत सारे पाठ्यक्रम हैं, जिनकी जानकारी रखनी आवश्यक होती है, सभी पाठ्यक्रम की पूरी जानकारी प्राप्त कर लें। और अपने ज्ञान के अनुरूप ही अपने पाठ्यक्रम का चुनाव करें। पिछले वर्ष के सभी पेपर्स लेकर उन्हें हल करें इससे आपको बहुत जानकारी मिलती है और बहुत मदद मिलती है।

शुरुआत से ही योजना बनाये –

अगर आप गेट एग्जाम में सफलता पाना चाहते हैं, तो आपको अपनी तैयारी शुरुवात से ही शुरू करनी होगी अर्थात 5 महीने पहले से अपनी तैयारी शुरू कर दें, हर विषय को बराबर समय देने को एक टाइम टेबल (Time Table) जरूर बनाएं. योजना के अनुसार रिवीजन (Revision) , प्रैक्टिस टेस्ट (Practice Test) आदि को भी शामिल करें. अगर आप 5 या 8 महीने पहले ही अपनी तैयारी शुरू करते हैं तभी आप सफल हो सकते हैं।

गेट एग्जाम की तैयारी करने की कुछ महत्वपूर्ण बातें

गेट एग्जाम में हर साल लाखों में उम्मीदवार बैठते है। हर साल उम्मीदवारों की संख्या बढ़ती ही जाती है। गेट परीक्षा को पास करने के लिए अच्छी रणनीति की जरूरत होती है। आज हम आपको गेट परीक्षा पास करने को कुछ टिप्स देंगे। जानिए गेट एग्जाम की तैयारी के दस टिप्‍स :

 

स्टेप – 1 – गेट परीक्षा की जानकारी –

  • गेट पेपर के पहले उसके बारे में अच्छे से जानकारी प्राप्त कर लें। यह तीन घंटे का पेपर होता है, जिसमें 65 प्रश्‍न आते है, इसमें वैकल्पिक और संख्यात्मक जबाब वाले प्रश्‍न होते है।

स्टेप – 2 – विषय और पाठ्यक्रम की अच्छी जानकारी –

  • गेट में बहुत सारे पाठ्यक्रम है, तो आप अच्छे से इन पाठ्यक्रम की जानकारी हासिल कर लें।
  • अपने ज्ञान के अनुरूप पाठ्यक्रम का चुनाव करें, और उसके अनुसार पढाई शुरू करें।
  • पिछले सालों के पेपर पढ़ कर विषय की जानकारी हासिल करे, और एक गेट एग्जाम में स्कोर के लिए एक लक्ष्य निश्चित करें।

स्टेप – 3 – अच्छी बुक और मेेटेरियल का चुनाव –

  • गेट परीक्षा की शुरुआत में सबसे पहले अच्छी बुक और मटेरियल का चुनाव जरुरी है।
  • एक सब्जेक्ट की 1-2 बुक काफी है। पढ़ाई के लिए हमेशा पहली प्राथमिकता बुक को दें, इसके बाद कोई और रिसोर्स को अपनाएं।
  • इसके अलावा आप ऑनलाइन विडियो लेक्चर, कोर्स मटेरियल, कोचिंग नोट्स से भी पढाई कर सकते है।
  • आप गेट परीक्षा की तैयारी उसी सब्‍जेक्‍ट से करें, जिससे आपने ग्रेजुएशन के समय पढाई की थी।

स्टेप – 4 – याद रखने योग्य बातें –

  • पहले के सालों के प्रश्‍न पेपर को अच्छे से पढ़ें और समझे, उसके द्वारा पेपर के पैटर्न को समझें.
  • इन पेपर को ज्यादा से ज्यादा सोल्व करें.
  • कांसेप्ट को समझते हुए, प्रैक्टिस टेस्ट दें, साथ ही रोज रिवीजन करें.
  • गेट में ज्यादातर सवाल वैचारिक और संख्यात्मक होते है, इसलिए आप कोशिश करें, कम समय में ज्यादा से ज्यादा सवाल हल कर अधिक स्कोर ला सकें.

स्टेप – 5 – गेट परीक्षा की योजना बनाएं –

  • चार – आठ महीने की तैयारी गेट में अच्छा स्कोर दिला सकती है।
  • हर सब्जेक्ट को उचित समय देने के लिए रोज का या सप्ताह के अनुसार प्लान बनायें।
  • योजना में आप रिवीजन, प्रैक्टिस टेस्ट और सभी पाठ्यक्रमों का पूरा होना शामिल करें.
  • अपने कार्य के अनुसार, टाइम टेबल बनायें. एक बार आप रोजाना फिर साप्ताहिक और फिर महीने के रूप में टाइम टेबल के अनुसार चलने लगे तो आपको परीक्षा में जरुर अच्छा परिणाम मिलेगा।

स्टेप – 5 – पाठ्यक्रम पूरा करने की योजना का पालन करना –

  • टाइमटेबल में ऐसे विषय पहले रखें जो सरल और जरुरी है। टॉपर के अनुसार गणित और एक बेसिक टेक्निकल सब्जेक्ट से शुरुवात करनी चाहिए।
  • एक विषय को पूरा करने को एक के बाद एक टॉपिक को पढ़ें।
  • टॉपिक पढ़ते समय साथ में ही रिवीजन नोट्स बनाते जाएँ, जिसमें मुख्य परिभाषा, फार्मूला आदि लिखते जाएँ।
  • सभी टॉपिक पढने के बाद टॉपिक के अनुसार पिछले सालों के गेट के पेपर सोल्व करें।
  • हर टॉपिक और विषय के अनुसार क्विज और टेस्ट दें, जिससे आपकी परफॉरमेंस का पता चलेगा।
  • अपने सारे संदेह को तैयारी के समय ही दूर कर लें।
  • अपने संदेह को दूसरों के साथ बाटें, उसकी चर्चा करें. साथी लोगों के साथ टेस्ट, क्विज में हिस्सा लें, इससे आप अपनी तुलना दूसरों से कर पाएंगे।
  • प्रैक्टिस टेस्ट के दौरान आपको अपने कमजोर टॉपिक और विषय में बारे में भी पता चलेगा, जिससे आप अपनी कमजोरी को समझते हुए उन विषय पर अधिक ध्यान दे सकेंगें.

स्टेप: 6 – गेट की तैयारी का रिवीजन –

  • रिवीजन नोट्स बस बनाना काफी नहीं है, उसका रोज अभ्यास भी जरुरी है.
  • रिवीजन नोट्स को हफ्ते में एक बार पढ़ें, इससे आपके तैयार सब्जेक्ट के कांसेप्ट भी आपको याद आते जायेंगें.
  • जैसे-जैसे किसी टॉपिक या विषय को बार-बार आप रिवाइस करते जायेंगें, वैसे वैसे आपको रिवीजन में कम समय लगेगा और कांसेप्ट क्लियर हो जायेंगें.

स्टेप – 7 – मॉक (Mock) टेस्ट की प्रैक्टिस –

  • मोक टेस्ट की तैयारी आप दो तरीके से कर सकते है। एक आप खुद से रोजाना तैयारी कर सकते है, दूसरा ऑनलाइन मोक टेस्ट दे सकते है।
  • मोक टेस्ट देने से आपके प्रदर्शन में सुधार आएगा. इसमें आपको पता चलेगा कि किस सवाल में आप कितना समय ले रहे है, और कितने जबाब सही निकलते है।

स्टेप- 8 – आखिरी चरण में रिवीजन –

  • इस समय आपको रिवीजन और प्रैक्टिस दोनों को समय देना होगा।
  • ज्यादा से ज्यादा प्रैक्टिस टेस्ट दें. हर टेस्ट के बाद देखें कौनसे टॉपिक में आप कमजोर है, उसके बाद उसका रिवीजन अच्छे से करें.
  • आपको रोजाना 2-5 प्रैक्टिस टेस्ट देने होंगें, साथ ही प्रैक्टिस के दौरान सारे कांसेप्ट याद रखें.
  • इस चरण में आपका आत्मविश्वास दिन पे दिन बढ़ता जायेगा.

स्टेप – 9 – अंतिम मिनट की रणनीति

  • आखिरी के दो दिनों में कोई भी नया टॉपिक नहीं पढ़ें।
  • यह दो दिनों में रिवीजन में अधिक ध्यान दें।
  • एडमिट कार्ड तैयार कर लें, सेंटर का पता कर लें.

 

Updated: January 9, 2017 — 5:35 pm

Leave a Reply

Recent Posts

सरकारी जॉब न्यूज | Sarkari Job News Hindi © 2016 Frontier Theme