Daily Current Affairs, Current Affairs 9 December 2020, Current Affair 9 December 2020 Question, 8 December Current Affair 2020, 9 Dec Current Affair 2020

यह 8th & 9th December 2020 का करेंट अफेयर्स है, जो आपके कांपटीटिव एग्‍जाम्‍स में मदद करेगा। इसका PDF Download Link इस पेज के लास्‍ट में मौजूद है। Current Affairs PDF आप इस पेज के आखिरी हिस्‍से से Free में डाउनलोड करें।

1. माउंट एवरेस्‍ट की ऊंचाई कितनी बढ़ गई?

a. 100 सेंटीमीटर
b. 86 सेंटीमीटर
c. 76 सेंटीमीटर
d. 56 सेंटीमीटर

Answer: b. 86 सेंटीमीटर

————————————
2. माउंट एवरेस्‍ट की नई ऊंचाई कितनी है?

a. 8,848.86 मीटर
b. 8,858.86 मीटर
c. 8,868.86 मीटर
d. 8,878.86 मीटर

Answer: a. 8,848.86 मीटर

– चीन और नेपाल ने माउंट एवरेस्‍ट की नई ऊंचाई जारी की है।
– नई ऊंचाई अब मानी जाएगी 8,848.86 मीटर (29,031.1 फीट).

– इससे पहले माउंट एवरेस्‍ट की ऊंचाई 8848 मीटर मानी जाती थी। हर बुक में यही पब्लिश होता था।
– यह हाइट वर्ष 1954 में ‘सर्वे ऑफ इंडिया’ ने मापा था।
– अब यह आउटडेटेड हो गई है।

– इसी के साथ दुनियाभर की जीके करेंट अफेयर्स की बुक रिवाइज की जाएंगी।
– क्‍योंकि दुनिया की जो हाइस्‍ट माउंटेन है उसकी नई हाइट है वो पहले से हाइयर है।
– माउंट एवरेस्‍ट ऊंचाई 0.86 मीटर (86 सेंटीमीटर) बढ़ गई है।
– इस अपडेट को नेपाल और चीन ने मिलकर जारी किया है।

– माउंट एवरेस्‍ट के बगल में माउंट लोत्‍से। यह दुनिया की चौथी हाइएस्‍ट माउंटेन है।
– माउंट एवरेस्‍ट को नेपाल में बुलाया जाता है सागरमाथा।
– माउंट एवरेस्‍ट नाम कहां से आया? – यह नाम सर जॉर्ज एवरेस्‍ट के नाम पर रखा गया था, जब वह अंग्रेजी हुकूमत में सर्वे ऑफ इंडिया के चीफ थे।

– माउंट एवरेस्‍ट के बीचो-बीच से नेपाल और चीन की सीमा है।
– येलो कलर में यह बॉर्डर है।
– इसकी ऊंचाई से देखने पर ऐसा नजारा होता है।

——–
तो क्‍यों जरूरत पड़ी ऊंचाई को मांपने की?
– दो वजहें हैं – टेक्‍टोनिक प्‍लेट में बदलाव और नेपाल में 2015 में आया भूकंप और चीन का जियो पॉलिटिकल एजेंडा।

टेक्‍टोनिक प्‍लेट में बदलाव
– दरअसल, हिमालय पर्वत श्रृंखला का निर्माण इंडियन प्‍लेट और यूरेशियन प्‍लेट के टकराने से हुआ है।
– पूरी दुनिया अलग-अलग प्‍लेट में बंटी हुई थी। इंडियन प्‍लेट- अफ्रीकन प्‍लेट से जुड़ा था।
– यह अलग हुआ और यूरेशियन प्‍लेट से टकराया।
– इसके टकराने उभार हुआ और हिलालय बन गया। इसी से दुनिया की सबसे ऊंची चोटी माउंट एवरेस्‍ट बन गई।
– इंडियन और यूरेशियन प्‍लेट से टकराने की वजह से ही खासतौर पर नेपाल और इंडिया में सालों भर भूकंप के छोटे-बड़े झटके होते हैं।

– वर्ष 2015 में नेपाल में काफी बड़ा भूकंप आया था। इससे यह बात हो रही थी कि हिमालय के पहाड़ों की ऊंचाई में जरूर बदलाव आया होगा।
– वैसे भी माना जाता है कि हिमायलन रीजन में इंडियन प्‍लेट ऊपर की ओर बढ़ रही हैं। कुछ किताबें एक सेंटीमीटर कुछ चार सेंटीमीटर प्रति साल बताती हैं।
– जैसे जैसे दबाव होता है, तो पहाड़ ऊंचा उठते हैं।
– ऐसे में यह भी जानना जरूरी था कि माउंट एवरेस्‍ट की एक्‍चुअल हाइट कितनी है।


दूसरी वजह चीन का जियो पॉलिटिकल एजेंडा
– माउंट एवरेस्‍ट नेपाल और चाइना के बॉर्डर पर है। लेकिन इसकी ऊंचाई सर्वे ऑफ इंडिया द्वारा वर्ष 1954 में माप के अनुसार 8848 मीटर माना जाता था।
– हालांकि इसके बाद चीन ने कई बार माउंट एवरेस्‍ट को मापा और उसने घोषणा भी की। लेकिन दुनिया ने उसकी बात नहीं मानी।
– दुनियाभर के बुक और मैप में सर्वे ऑफ इंडिया के 1954 की हाइट को ही दिखाया जाता था।
– वर्ष 2019 में चीनी प्रेसिडेंट शी जिनपिंग ने नेपाल की विजिट की थी। तब दोनों ने तय किया कि दोनों देश मिलकर माउंट एवरेस्‍ट की हाइट को मापेंगे।
– इसके बाद माउंट एवरेस्‍ट की मैपिंग नए सिरे से शुरू हुई।
– तो अब 8 दिसंबर 2020 को चीन और नेपाल की गवर्नमेंट ने माउंट एवरेस्‍ट की नई हाइट अनाउंस किया।
-चीन और नेपाल की गवर्नमेंट ने इसे ईवेंट सा बना दिया।
– दोनों देशों के फॉरेन मिनिस्‍टर ने नए माप को जारी किया।

– नेपाली टाइम्‍स का कहना है कि इससे पहले की मेजरमेंट इंडिया की थी।
– अब नेपाल मानता है कि जिस माउंटेन के लिए उनका कंट्री दुनियाभर में फेमस है, उसे खुद मेजर कर रहे हैं। यह प्राइड की बात है।

– चीन के नजरिए से देखें तो उसे इस मामले में उसे साइलेंटली इंडिया को साइड कर दिया है।
– वह वर्ल्‍ड मीडिया में इसे चाइना और नेपाल के रिलेशन की विक्‍ट्री को दिखा रहे हैं।

– तो आज के समय समझना होगा कि नेपाल बहुत इंपॉर्टेंट कंट्री है, इंडिया और चाइना के लिए।
– नेपाल में चीन का इंफ्लुएंस बढ़ गया है।

————————————
3. कोविड -19 वैक्सीन के लिए ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DCGI) ने किस कंपनी को भारत में पहली मंजूरी दी?

a. सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया
b. फाइजर
c. बायोटेक
d. एस्ट्राजेनेका

Answer: b. फाइजर

– फाइजर इंडिया भारत में कोविड -19 के लिए अपने वैक्सीन के लिए आपातकालीन उपयोग प्राधिकार हासिल करने के लिए पहली फार्मा कंपनी बन गई है।
– इस कंपनी ने 4 दिसंबर 2020 को आवेदन जमा किया था।
– इस घातक वायरस के लिए वैक्सीन खोजने की दौड़ के बीच, DCGI को सबसे पहले फाइजर कंपनी का अनुरोध मिला।
– फाइजर इंडिया की मूल कंपनी फाइजर को पहले ही यूनाइटेड किंगडम और बहरीन में अपनी वैक्सीन के लिए आपातकालीन उपयोग प्राधिकार मिल गया है।

भारत में कोविड वैक्सीन की स्थिति
– प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक सर्व-पक्षीय बैठक में यह सूचित किया था कि, इस घातक वायरस के लिए वैक्सीन अगले कुछ हफ्तों में तैयार होने की उम्मीद है।
– फाइजर वैक्सीन स्टोरेज के मामले में, इस वैक्सीन को स्टोर करने के लिए बेहद कम तापमान चाहिए जोकि -70 डिग्री सेल्सियस है।
– यह भारत में इस वैक्सीन के भंडारण और वितरण के लिए एक बड़ी चुनौती है।

अब सीरम ने इमरजेंसी अप्रूवल मांगा-
– फाइजर के बाद सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) ने भी कोवीशील्ड के इमरजेंसी यूज की अनुमति मांगी है।
– सीरम इंस्टीट्यूट देश की पहली स्वदेशी कंपनी बन गई है, जो कोरोना वैक्सीन को मार्केट में लॉन्च करने को तैयार है।
– सीरम ने 6 दिसंबर 2020 को DCGI के पास इसके लिए आवेदन किया है।

यूके और बहरीन में मंजूरी
– 02 दिसंबर, 2020 को यूनाइटेड किंगडम फ़ाइज़र/ बायोएनटेक कोविड -19 वैक्सीन को मंजूरी देने वाला पहला देश बन गया था।
– और 04 दिसंबर को, बहरीन ने भी फ़ाइज़र और उसके जर्मन साथी बायोएनटेक द्वारा विकसित किए गए कोविड-19 वैक्सीन के उपयोग की अनुमति दी है।

————————————-
4. इसरो अपने क्रू रहित गगनयान की पहली लॉन्चिंग कब करेगा?

a. वर्ष 2021
b. वर्ष 2022
c. वर्ष 2020
d. वर्ष 2024

Answer: a. वर्ष 2021

– इसके साथ एक स्वदेशी रोबोट भी भेजने की योजना है।
– यह मिशन 2020 में ही लॉन्च किया जाना था, लेकिन कोरोना की वजह से इसे टाल दिया गया।
– इसके बाद 2021 के पहले हाफ में लॉन्चिंग की योजना बनी।
– इस बार भी गगनयान को लॉन्च नहीं किया जा सका।
– अब इसे 2021 के आखिरी तक लांच किया जाएगा।
– यह प्रोजेक्ट ISRO के अंतरिक्ष में एस्ट्रोनॉट भेजने की योजना का हिस्सा है।
– ऐसा करने से पहले 2022 में एक और क्रू लेस स्पेस क्राफ्ट लॉन्च किया जाएगा।

हालात पर निर्भर करेगा-
– डॉ. के सिवन ने बताया है कि 2021 में दो मानव रहित मिशन लॉन्च किए जाएंगे या नहीं, यह अभी के हालात पर निर्भर करेगा।
– आने वाले महीनों में क्या होता है, इसके आधार पर इस बारे में फैसला लिया जाएगा।

प्राइवेट सेक्टर की भी भागीदारी-
– इसरो अपने गगनयान प्रोजेक्ट के लिए प्राइवेट सेक्टर की भी मदद ले रहा है।
– लार्सन एंड टूब्रो (L&T) को गगनयान लॉन्च व्हीकल के लिए हार्डवेयर बनाने की जिम्मेदारी दी गई है।
– कंपनी ने 17 नवंबर 2020 को बताया कि इसे समय से पहले ही डिलीवर भी कर दिया गया है।
– कंपनी का कहना है कि कोविड-19 की बंदिशों के बावजूद दुनिया के तीसरे सबसे बड़े सॉलिड प्रोपेलेंट रॉकेट बूस्टर एस-200 के मिडिल सेगमेंट को डिलीवर कर दिया है।

व्योम मित्र को भेजेंगे-
– इसरो इस फ्लाइट के साथ स्वदेश में विकसित रोबोट ‘व्योम मित्र’ को भेजेगा।
– ऐसा प्रयोग के तौर पर किया जा रहा है।
– यह रोबोट बिल्कुल इंसानों की तरह बर्ताव करेगा और अंतरिक्ष से इसरो को रिपोर्ट भेजेगा।

————————————
5. Pixxel ने इसरो के साथ एक समझौते पर हस्‍ताक्षर किए, इसके तहत वह कौन सा उपग्रह लांच करेगा?

a. सैटेलाइट-5
b. 30 Earth
c. रिमोट सेंसिंग उपग्रह
d. इन स्‍पेस सेटेलाइट

Answer: c. रिमोट सेंसिंग उपग्रह

– बेंगलुरु स्थित स्पेस-टेक्नोलॉजी स्टार्ट-अप Pixxel इसरो के वर्कहॉर्स पोलर सैटेलाइट लॉन्च व्हीकल (PSLV) रॉकेट से अपना पहला रिमोट-सेंसिंग सैटेलाइट लॉन्च करेगा।
– इससे पहले, स्टार्टअप ने इसे 2020 के अंत में और एक रूसी सोयुज रॉकेट पर लॉन्च करने की योजना बनाई थी।
– Pixxel का लक्ष्य 2023 के मध्य तक 30 पृथ्वी अवलोकन सूक्ष्म उपग्रहों के एक तारामंडल को सूर्य-तुल्यकालिक कक्षा (Sun-synchronous orbit) में स्थापित करना है।
– इन उपग्रहों से मिलने वाला डेटा कई क्षेत्रों में मदद करेगा।
– जिसमें कृषि से लेकर शहरी निगरानी जैसे वायु और जल प्रदूषण स्तर, वन जैव विविधता और स्वास्थ्य, तटीय और समुद्री स्वास्थ्य, और शहरी परिदृश्य में परिवर्तन जैसे क्षेत्र शामिल हैं।

समझौते के बारे में-
– यह समझौता अंतरिक्ष विभाग के तहत भारत सरकार की कंपनी न्यूस्पेस इंडिया लिमिटेड (NSIL) और Pixxel के बीच हुआ है।

इसरो प्रमुख : डॉ. ए के सिवन
मुख्यालय: बेंगलुरु, कर्नाटक

—————————————
6. UN-WMO (संयुक्त राष्ट्र विश्व मौसम संगठन) की ग्‍लोबल क्‍लाइमेट 2020 रिपोर्ट के अनुसार 2016 के बाद दूसरा सबसे गर्म वर्ष कौन सा होने जा रहा है?

a. वर्ष 2019
b. वर्ष 2018
c. वर्ष 2020
d. वर्ष 2017

Answer: c. वर्ष 2020

– यह रिपोर्ट जनवरी-अक्‍टूबर (2020 तक ) के तापमान के आंकड़ों के आधार पर जारी की गई है।
– 2016 के बाद वर्ष 2020 ही सबसे गर्म साल रहा है।
– 2020 की इस अंतरिम रिपोर्ट को मार्च 2021 में प्रकाशित किया जाएगा।

ग्‍लोबल क्‍लाइमेट रिपोर्ट का आधार-
– यह मूल्‍यांकन पांच वैश्‍विक तापमान डेटासेट पर आधारित है।
– रिपोर्ट FAO (food and agriculture organization), IMF (International monetary fund), UNESCO-IOC और इंटरनेशनल ऑर्गनाइजेशन फार माइग्रेशन की ओर से तैयार की जाती है।

कार्बन डाइ ऑक्साइड का बढ़ रहा स्‍तर-
संगठन के महासचिव पैट्टेरी तालस ने 2 दिसंबर 2020 को कहा कि वातावरण में कार्बन डाइ ऑक्साइड के बढ़ते स्तर के कारण आने वाले दशक में भी तापमान वृद्धि होगी।
– कोविड-19 महामारी के दौरान यातायात में धीमापन आने के बावजूद कार्बन डाइ ऑक्साइड के स्तर में बढ़ोत्तरी दर्ज की गई है।
– उन्होंने कहा, वर्ष 2020 में, औसत तापमान, 1850-1900 के पूर्व औद्योगिक स्तर से 1.2 डिग्री सेल्सियस ऊपर रहने का अनुमान है।
– 20 प्रतिशत ऐसे अस्थाई अनुमान भी हैं कि ये तापमान वृद्धि वर्ष 2024 तक 1.5 डिग्री सेल्सियस तक भी हो सकती है।
– साथ ही यह भी बताया गया है कि अगर दुनिया को, विनाशकारी तापमान वृद्धि से बचना है तो, देशों को वर्ष 2020 से 2030 के दौरान, जीवाश्म ईंधन का उत्पादन प्रतिवर्ष 6 प्रतिशत की दर से घटाना होगा।

प्रमुख बिंदु-
– सबसे ज्‍यादा गर्मी उत्‍तरी एशिया, विशेष रूप से साइबेरिया आर्कटिक में देखी गई है।
– जहां तापमान औसत से 5 डिग्री सेल्सियस अधिक था।
– प्रमुख ग्रीन हाउस गैस जैसे CO2, CH4, N2O 2019 और 2020 में तेजी से बढ़ी हैं।

विश्व मौसम संगठन का मुख्‍यालय- जिनेवा स्विटजरलैंड।

————————————–
7. PM नरेंद्र मोदी ने आगरा में मेट्रो रेल प्रोजेक्‍ट के निर्माण कार्य का उद्घाटन 7 दिसंबर 2020 को किया, इस प्रोजेक्‍ट की लागत बताएं?

a. 5,379.62 करोड़
b. 6,379.62 करोड़
c. 7,379.62 करोड़
d. 8,379.62 करोड़

Answer: d. 8,379.62 करोड़

– प्रधानमंत्री ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए आगरा मेट्रो के कंस्ट्रक्शन के फेज 1 का उद्घाटन किया।
– उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, शहरी विकास राज्यमंत्री हरदीप पुरी भी प्रोग्राम का हिस्सा बने।
– पीएम के बटन दबाते ही टीडीआई मॉल के सामने लगी मशीन ने खुदाई शुरू कर दी।

कहां से कहां तक है प्रोजेक्‍ट-
– आगरा मेट्रो प्रॉजेक्ट में दो कॉरिडोर होंगे, जिनकी कुल लंबाई 29.4 km है।
– ये कॉरिडोर ताजमहल और आगरा किला जैसे टूरिस्ट स्पॉट्स को रेलवे स्टेशन और बस स्टैंड से जोड़ेंगे।
– पहले चरण में सिंकदरा-ताज ईस्ट गेट कॉरिडोर का निर्माण होगा।
– इस कॉरिडोर में 6 स्टेशन होंगे- बसई, ताज ईस्ट गेट व फतेहाबाद रोड (एलिवेटेड स्टेशंस) और आगरा फोर्ट, ताजमहल और जामा मस्जिद (अंडरग्राउंड स्टेशंस)।
– आगरा मेट्रो प्रॉजेक्ट शहर को इनवायरमेंट फ्रेंडली मास रैपिड ट्रांजिट सिस्टम उपलब्ध कराएगा।
– प्रॉजेक्ट के कंस्ट्रक्शन पर कुल अनुमानित लागत 8,379.62 करोड़ रुपये है।
– यह प्रॉजेक्ट 5 सालों में पूरा होगा।
– आगरा मेट्रो प्रॉजेक्ट से शहर के 26 लाख लोगों और हर साल आगरा आने वाले 60 लाख पर्यटकों को फायदा होगा।

————————————-
8. सशस्‍त्र सेना झंडा दिवस (Armed Forces Flag Day) कब मनाया जाता है?

a. 9 दिसंबर
b. 8 दिसंबर
c. 7 दिसंबर
d. 6 दिसंबर

Answer: c. 7 दिसंबर

– भारतीय सेना, वायु सेना और भारतीय नौसेना को इस दिन याद किया जाता है।
– 28 अगस्‍त 1949 को तत्‍कालीन पंडित जवाहर लाल नेहरू की सरकार द्वारा भारतीय सेना के जवानों के कल्‍याण के लिए धन एकत्रित करने के मकसद से एक कमेटी का गठन किया गया था।
– इसकी सिफारिशों के बाद ही 7 दिसंबर को इस दिन के लिए चुना गया।
– भूतपूर्व सैनिकों (Ex-Servicemen) के कल्याण और पुनर्वास के लिए सशस्त्र सेना झंडा दिवस कोष (Armed forces Flag Day Fund) को बनाया गया है।

————————————-
9. अंतर्राष्ट्रीय नागरिक उड्डयन दिवस (International Civil Aviation Day) कब मनाया जाता है?

a. 7 दिसंबर
b. 8 दिसंबर
c. 6 दिसंबर
d. 5 दिसंबर

Answer: a. 7 दिसंबर

– संयुक्त राष्ट्र महासभा ने 1996 में इस दिन की घोषणा की थी।

———————————-
10. साखिर ग्रां प्री (बहरीन) फार्मूला टू रेस जीतने वाले पहले भारतीय ड्राइवर निम्न में से कौन बन गए हैं?

a. मिक शूमाकर
b. जेहान दारुवाला
c. डेनियल टिकटुम
d. लुईस हैमिल्टन

Answer: a. जेहान दारुवाला

– भारतीय ड्राइवर जेहान दारूवाला ने 06 दिसंबर 2020 को साखिर ग्रां प्री के दौरान इतिहास रच दिया।
– वह फार्मूला टू रेस जीतने वाले पहले भारतीय बने।
– फॉर्मूला टू चैम्पियन मिक शूमाकर और डेनियल टिकटुम के खिलाफ रोमांचक मुकाबले में 22 साल के जेहान अंतिम फॉर्मूला वन ग्रां प्री की रेस में आगे रहे।
– रेयो रेसिंग के लिए ड्राइविंग कर रहे जेहान ने ग्रिड पर दूसरे स्थान से शुरुआत की।
– और वह डेनियल टिकटुम के साथ थे, टिकटुम ने जेहान को साइड में करने की कोशिश की, जिससे शूमाकर दोनों से आगे निकल गए।
– जेहान ने संयम बरतते हुए अपनी पहली एफआईए फॉर्मूला टू रेस जीत ली।

———————————-
11. भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई ) ने रियल टाइम ग्रॉस सेटलमेंट (RTGS) सुविधा कब से 24×7 देने की घोषणा की है?

a. 15 दिसंबर
b. 13 दिसंबर
c. 12 दिसंबर
d. 14 दिसंबर

Answer: d. 14 दिसंबर

– आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास ने देशभर में डिजिटल पेमेंट को बढ़ावा देने के लिए बड़ा कदम उठाया है।
– बता दें कि इस समय RTGS सिस्टम महीने के दूसरे और चौथे शनिवार को छोड़कर हफ्ते के सभी दिनों में सुबह 7 बजे से शाम 6 बजे तक उपलब्ध होता है।

RTGS क्‍या है-
– RTGS एक बैंक एकाउंट से दूसरे एकाउंट में पैसे ट्रांसफर करने का एक इलैक्ट्रॉनिक्स तरीका है।
– इसके जरिए तुरंत फंड ट्रांसफर किया जा सकता है, यह बड़े ट्रांजेक्शंस में काम आता है।
– इसके जरिए दो लाख से कम का अमाउंट ट्रांसफर नहीं किया जा सकता है।

———————————-
12. ऑलराउंडर कोरी एंडरसन ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले लिया है, वह किस टीम के खिलाड़ी हैं?

a. जिम्‍बाम्‍बे
b. इंग्‍लैंड
c. ऑस्ट्रेलिया
d. न्‍यूजीलैंड

Answer: d. न्‍यूजीलैंड

– एंडरसन ने अमेरिका में होने वाली टी20 लीग के लिए तीन साल का करार किया है।
– एंडरसन ने न्यूजीलैंड के लिए 49 वनडे, 13 टेस्ट और 31 टी20 मैच खेले।
– वनडे क्रिकेट में सबसे तेज सेंचुरी लगाने का रिकॉर्ड उनके नाम है।
– 5 दिसंबर 2020 को इसका ऐलान किया है।
– एंडरसन ने अंतरराष्ट्रीय करियर में 2,000 से ज्यादा रन बनाए और 90 विकेट भी अपने नाम की।
– वह आईपीएल में मुंबई इंडियंस की टीम की तरफ से खेलते हुए भी नजर आए थे।


Free Download Notes PDF of Toady’s Current Affairs : – Click Here

Free Download One Liner MCQ PDF –  Current Affairs : – Click Here

आप यूट्यूब चैनल सरकारी जॉब न्‍यूज पर भी करेंट अफेयर्स के वीडियो को देख सकते हैं।

 

 


Buy eBooks & PDF

About Us | Help Desk | Privacy Policy | Disclaimer | Terms and Conditions | Contact Us

©2022 Sarkari Job News powered by Alert Info Media Pvt Ltd.

Log in with your credentials

or    

Forgot your details?

Create Account