Daily Current Affairs, 8 October 2020 Current Affairs, Current Affairs 8 October, 8 October Current Affairs Questions

यह 7th & 8th October 2020 का करेंट अफेयर्स है, जो आपके कांपटीटिव एग्‍जाम्‍स में मदद करेगा। इसका PDF Download Link इस पेज के लास्‍ट में मौजूद है। Current Affairs PDF आप इस पेज के आखिरी हिस्‍से से Free में डाउनलोड करें।

1. रसायनशास्‍त्र (Chemistry) के क्षेत्र में नोबेल प्राइज 2020 के विजेता कौन हैं?

a. गजाला गौर्मिया
b. इमैनुएल शारपेंतिए
c. जेनिफर ए. डौडना
d. b और c

Answer: d. b और c
इमैनुएल शारपेंतिए और जेनिफर ए. डौडना
(Emmanuelle Charpentier & Jennifer A. Doudna)

– नोबेल पुरस्‍कार समिति ने स्‍टॉकहोम (स्‍वीडन) में 7 अक्‍टूबर 2020 को विजेताओं की घोषणा की।

– इमैनुएल शारपेंतिए फ्रांस से हैं। वह बर्लिन (जर्मनी) स्थित मैक्स प्लैंक यूनिट फॉर साइंस ऑफ पैथोजिंस से जुड़ी हैं.
– जबकि जेनिफर ए. डौडना अमेरिका से हैं। वह यूनिवर्सिटी ऑफ कैलीफोर्निया (USA) से जुड़ी हैं।
– इससे पहले तक 5 महिलाओं को केमेस्‍ट्री में नोबेल प्राइज मिल चुका है। अब दो और महिला वैज्ञानिक का नाम इसमें जुड़ गया है। इन दोनों को प्राइज मिलते ही इसकी संख्‍या 7 हो जाएगी।

—————————————-
2. रसायनशास्‍त्र (Chemistry) के क्षेत्र में किस उपलब्धि के लिए दो वैज्ञानिकों (इमैनुएल शारपेंतिए और जेनिफर ए. डौडना) को नोबेल प्राइज 2020 के लिए चुना गया?

a. जीनोम एडिटिंग का तरीका खोजने के लिए
b. जेनेटिक कोड का पता लगाने के लिए
c. राइबोसोम की संरचना के लिए
d. क्रोमोसोम एडिटिंग का तरीका खोजने के लिए

Answer: a. जीनोम एडिटिंग का तरीका खोजने के लिए
(for the development of a method for genome editing)

(Note – जिनोम एडिटिंग को जीन एडिटिंग भी कहते हैं।)

– इमैनुएल शारपेंतिए और जेनिफर ए. डौडना ने जीन टेक्‍नोलॉजी के लिए अहम टूल CRISPR-Cas9 (क्रिस्पर-कैस 9) विकसित किया।
– यह जीनोन एडिटिंग तकनीक है।


– इसे जेनेटिक सीजर्स नाम दिया गया है।
– इससे जानवरों, पौधों और सूक्ष्म जीवों तक के डीएनए में बदलाव किए जा सकते हैं।
– इससे कैंसर समेत कई गंभीर और आनुवांशिक बीमारियों का इलाज हो सकेगा।

जीन क्‍यों इंपॉर्टेंट है?
– जीन, जीवों में गुणों का स्‍थानांतरण के लिए सबसे छोटी इकाई होती है।
– प्रत्‍येक जीन किसी खास प्रकार के गुण से संबंधित होता है।
– जीन के द्वारा एक पीढ़ी से दूसरे पीढ़ी में गुण का ट्रांसफर होता है।
– कोई कैसा दिख रहा है, वह जीन पर ही निर्भर होता है।
– जैसे किसी के पिता का बाल उड़ गया 25 साल में गया, तो बच्‍चे का भी उड़ जाना।
– बालों का कलर, आंख का कलर वैगैर-वगैरह।
– इस जीन में बदलाव कर दिया जाए, तो वह गुण विशेषता बदल जाएगी।
– यह जीन अच्‍छे गुण के भी होते हैं, और खराब गुण के भी। जैसे बीमारी पैदा करने वाले जीन भी होते हैं।
– इसी जीन में बदलाव करके बीमारी भी ठीक की जा सकती है।

जेनेटिक सीजर को कैसे समझें?
– उदाहरण कपड़े से देता हूं। आपको शर्ट तैयार करना है, तो कपड़े को खावस लंबाई में कैंची से काटकर टेलर उसे सील देता है और यह शर्ट बन जाता है।
– कुछ ऐसा ही जेनेटिक सीजर्स होता है।

जेनेटिक सीजर कैसे काम करता है?
– इसको समझने के लिए बेसिक जानकारी होनी चाहिए।
– कोशिका के अंदर क्रोमोसोम होते हैं।


– यह क्रोमोसोम, डीएनए और हिस्‍टोन (Histone) प्रोटीन से बने होते हैं।
– डीएनए की लंबाई 2.2 मीटर तक हो सकती है।
– ऐसी कोशिका, जिसको हम देख नहीं सकते हैं, लेकिन उसमें इतना लंबा डीएनए होता है।
– डीएनए के अंदर बहुत सारे बेस एक दूसरे से जुड़े होते हैं, वही एक समूह बनाकर जीन कर निर्माण करते हैं।
– मतलब ये जो डीएनए है, वह बेस पेयर के आपस में जुड़कर बने होते हैं। (यह पेयर मूलत: नाइट्रोजन बेस है।)
– विशेष प्रकार के बेस पेयर आपस में मिलकर खास तरह का जीन का निर्माण करते हैं।
– जैसे : A – T, G – C.
– तो A एक नाइट्रोजन बेस है, और यह T के साथ जुड़कर बेस पेयर का निर्माण करते हैं।
– पूरा डीएनए इसी तरह के बेस पेयर से बने होते हैं।
– सीजर एक तरह का केमिकल है, जो डीएनए को एक विशेष जगह से काटता है।
– जैसे आप डीएनए का जो ग्राफिक्‍स देख रहे हैं, उसमें A – T, C – G, T – A, G – C, T – A है।
– इसी तरह के तीन-तीन नाइट्रोजन बेस मिलकर जेनेटिक कोड का निर्माण करता है।
– जैसे A, C, T का पेयर एक जेनेटिक कोड हो गया।
– एक जीन में इसी तरह के कई जेनेटिक कोड हो सकते हैं।
– सीजर एक तरह का केमिकल है, जो डीएनए को खास जगह से काटने के लिए इस्‍तेमाल होता है।
– ताकि इच्‍छा अनुसार जीन को परिवर्तित किया जा सके।
– इसमें से मन किया कि इनमें से तीन को हटा दें, तो पहले से बदल जाएगा।
– ऐसे में कोड बदल जाएगा, तो इसके काम करने का तरीका भी बदल जाएगा।
– तो सारे फंग्‍शंन बदल जाएंगे।
– जैसे कंप्‍यूटर के प्रोग्रामिंग में अपने मन से बदल दें, तो वह काम करने लगेगा अलग से।

उदाहरण –
– डायबिटीज के लिए इंसुलिन बैक्‍टीरिया से तैयार किए जाते हैं। इकोलाइ बैक्‍टीरिया के जीन में बदलाव कर दिया और अब वह बैक्‍टीरिया इंसुलिन बनाता है।
– पहले सुअर से बनता था, उसके पैन्‍क्रियाज से निकाला जाता था।
– अब जेनेटिक इंजीनियरिंग के द्वारा इकोलाइ बैक्‍टीरिया से बनाया जाता है।

– इसी जेनेटिक सीजर्स की खोज के लिए दोनों वैज्ञानिकों को नोबेल प्राइज मिला है।

– इस जेनेटिक सीजर्स को HIV, कैंसर या सिकल सेल एनिमिया जैसी बीमारियों के लिये संभावित जीनोम एडिटिंग इलाज के लिए एक आशाजनक तरीके के रूप में भी देखा गया है।
– बीमारी पैदा करने वाले जीन को निष्क्रिय किया जा सकता है या आनुवंशिक उत्परिवर्तन को सही कर सकते हैं।

——–
जीन एडिटिंग से सम्बंधित नैतिक चिंताएँ –
– इससे भविष्य में ‘डिज़ाइनर बेबी’ के जन्म की अवधारणा को और बल मिलेगा। यानी बच्चे की आँख, बाल और त्वचा का रंग ठीक वैसा ही होगा, जैसा उसके माता-पिता चाहेंगे।
– चीन के वैज्ञानिकों ने 2018 में जेनेटिकली मोडिफाइड बेबी पैदा करने का दावा किया था। (स्रोत – 28 नवंबर, 2018, द हिन्‍दू )
– इस तकनीक का संभावित दुरुपयोग आनुवंशिक भेदभाव पैदा करने के लिये भी हो सकता है।
– चूँकि यह तकनीक अत्यंत महँगी है अतः इसका उपयोग केवल धनी वर्ग के लोग कर पाएंगे।
– किसी एक भ्रूण में गलत जीन एडिटिंग से उसके बाद वाली सभी पीढ़ियों का नुकसान होगा।
– किसी भी भ्रूण में जीन एडिटिंग एक अजन्मे बच्चे के अधिकार का हनन है।
– मानव भ्रूण एडिटिंग अनुसंधान को पर्याप्त रूप से नियंत्रित नहीं किया जा सकता है, जिससे इसे जीन-एडिटेड बच्चों को बनाने के लिये विभिन्न प्रयोगशालाओं को बढ़ावा मिल सकता है।
– कृषि के क्षेत्र में भी जीन एडिटिंग अत्यंत विवादास्पद बना हुआ है।

————————————-
3. भारतीय स्‍टेट बैंक (SBI) के नए चेयरमैन कौन हैं?

a. रजनीश कुमार
b. अरुंधति भट़टाचार्य
c. दिनेश कुमार खारा
d. मोहित अवस्‍थी

Answer: c. दिनेश कुमार खारा

– वित्त मंत्रालय की जारी अधिसूचना के मुताबिक दिनेश कुमार खारा का कार्यकाल तीन साल का होगा।
– उन्होंने रजनीश कुमार की जगह ली।
– रजनीश ने 6 अक्‍टूबर को ही अपने तीन साल का कार्यकाल पूरा किया है.
– दिनेश कुमार खारा, ग्लोबल बैंकिंग एंड सब्सिडियरीज के प्रभारी निदेशक हैं।
– 28 अगस्‍त को बैंक के बोर्ड ब्यूरो (बीबीबी) ने खारा के नाम की सिफारिश की थी।
– परंपरा के अनुसार एसबीआई के चेयरमैन की नियुक्ति बैंक में सेवारत प्रबंध निदेशकों के समूह से की जाती है।

2017 में भी थे दावेदार
– खारा 2017 में भी चेयरमैन पद के दावेदारों में शामिल थे।
– उन्‍हें अगस्त 2016 में तीन साल के लिए एसबीआई के प्रबंध निदेशक के रूप में नियुक्त किया गया था।
– बाद में उन्हें 2019 में दो साल का सेवा विस्तार मिला।
– खारा दिल्ली विश्वविद्यालय के फैकल्टी ऑफ मैनेजमेंट स्टडीज से पढ़े हैं।
– एसबीआई फंड्स मैनेजमेंट प्राइवेट लिमिटेड (एसबीआईएमएफ) के एमडी और सीईओ रह चुके हैं।
– वह 1984 में PO (probationary officer) के रूप में एसबीआई में शामिल हुए थे।
– उन्होंने अप्रैल 2017 में एसबीआई के पांच सहायक बैंकों और भारतीय महिला बैंक के एसबीआई में विलय में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी।

SBI की स्थापना: 1 जुलाई 1955
मुख्यालय: मुंबई, महाराष्ट्र

———————————-
4. इंडो पैसिफिक क्षेत्र में चीन के बढ़ते दबदबे को कम करने पर चर्चा को लेकर 6 अक्‍टूबर को हुई क्‍वाड (4 देशों का संगठन) की बैठक किस देश में आयोजित की गई?

a. जापान
b. ऑस्ट्रेलिया
c. अमेरिका
d. भारत

Answer: a. जापान

– क्वाड देशों भारत, जापान, ऑस्ट्रेलिया और अमेरिका के विदेश मंत्रियों की बैठक जापान की राजधानी टोक्यो में हुई।

क्वाड क्या है?
– क्वाड को क्वाड्रिलेटरल सिक्योरिटी डायलॉग के नाम से भी जाना जाता है।
– हिंद-प्रशांत क्षेत्र में चीन की बढ़ रही सैन्य गतिविधियों पर चिंता जताते हुए अमेरिका, भारत, जापान और ऑस्ट्रेलिया ने मिलकर ‘क्वाड’ बनाया था।
– 2007 में जापान के पीएम शिंजो आबे ने क्वाड का प्रस्ताव रखा था।
– इसके बाद रूस और चीन ने विरोध भी जताया था।
– 2008 में ऑस्ट्रेलिया ग्रुप से बाहर हो गया था।
– हालांकि, बाद में वह फिर शामिल हो गया था।
– भारत भी इसमें पूरे मन से शामिल नहीं हो पा रहा था, लेकिन वर्तमान परिस्थिति में अब क्‍वाड मजबूत हो रहा है।
– अर्थव्यवस्था की बात करें तो क्वाड के सदस्यों में शामिल अमरीका विश्व की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है।
– जापान तीसरी और भारत पांचवीं बड़ी अर्थव्यवस्था है।
– ऑस्ट्रेलिया भी एक विकसित देश है।

क्‍या चर्चा रही
– चारों देशों ने एक साथ मिलकर इंडो पैसिफिक क्षेत्र में चीन के बढ़ते दबदबे को कम करने पर चर्चा की।
– कोरोना के दौरान “Free and Open Indo-Pacific” (FOIP) पर विचार विमर्श किया।
– यह दूसरी क्वाड विदेश मंत्रियों की बैठक है।
– पहली बैठक का आयोजन 2019 में किया गया था।
– भारतीय विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कहा- हम एक वाइब्रेंट डेमोक्रेसी हैं, जिसके अपने मूल्य हैं।
– हम इंटरनेशनल नियमों को मानने में यकीन रखते हैं।
– अंतरराष्ट्रीय समुद्री क्षेत्र में जहाजों की बेरोकटोक आवाजाही के पक्ष में हैं।
– साथ ही हम अपनी सीमा और संप्रभुता का सम्मान भी करते हैं।
– हम किसी भी विवाद का शांति से समाधान चाहते हैं।
– जयशंकर ने बैठक के बाद जापान के प्रधानमंत्री एस सुगा से भी मुलाकात की।
– क्वाड देशों की यह बैठक मौजूदा समय में इंडो पैसिफिक क्षेत्र में बढ़ते तनाव को देखते हुए अहम मानी जा रही है।
– बीते कुछ समय से इस क्षेत्र में चीन ने अपना दबदबा बढ़ाने की कोशिश है।
– इस क्षेत्र में चीन कई बार क्वाड के दो सदस्य देशों भारत और जापान के लिए दिक्कतें खड़ी कर चुका है।
– हाल के महीनों में चीन के खिलाफ दूसरे देशों का रुख सख्त हुआ है।
– खासकर कोरोना के बाद, जो उसके वुहान शहर से पैदा हुआ है।

ये रहे मौजूद
भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर, अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ, ऑस्ट्रेलियाई विदेश मंत्री मारिज पायने और जापानी विदेश मंत्री तोशिमित्सु मोतेगी।

————————————-
5. CBI के पूर्व निदेशक अश्विनी कुमार का निधन 7 अक्‍टूबर 2020 को हो गया, वह किन राज्‍यों के राज्‍यपाल रह चुके थे?

a. उत्‍तर प्रदेश और नगालैंड
b. नगालैंड और मिजोरम
c. मणिपुर और उत्‍तराखंड
d. नगालैंड और मणिपुर

Answer: d. नगालैंड और मणिपुर

– उनका शव शिमला (हिमाचल प्रदेश) में स्थित आवास पर फंदे से लटका पाया गया।
– वहां पर एक सुसायड नोट भी पाया गया।
– पुलिस को संदेह है कि उन्‍होंने आत्‍महत्‍या की है।
– उनकी उम्र 69-70 वर्ष थी।

– अश्‍विनी कुमार 1973 बैच के आईपीएस अधिकारी रह चुके थे।
– वह 2008 में सीबीआई के निदेशक बने थे, उस वक्‍त एजेंसी आरुषि तलवार हत्‍याकांड की जांच कर रही थी।
– बाद में वह 2013 से 2014 तक नगालैंड का गवर्नर रहे।
– इसी दौरान उनके पास छह महीने के लिए मणिपुर के राज्‍यपाल का भी प्रभार था।

———————————-
6. दुनिया की सबसे तीखी मिर्चों में से एक “डले खुर्सीनी” को किस राज्‍य का GI Tag मिला?

a. जम्‍मू एंड कश्‍मीर
b. सिक्किम
c. बिहार
d. उत्‍तर प्रदेश

Answer: b. सिक्किम

– इसे सिक्किम में रेड चेरी चिली भी कहते हैं, जिसे स्थानीय रूप से “Dalle Khursani” (डले खुर्सीनी) के नाम से जाना जाता है।
– इसे दुनिया की सबसे तीखी मिर्चों (World Hottest Chillies) में से एक माना जाता है।
– डले खुर्सीनी अभी स्थानीय बाजार में करीब 480 रुपये प्रति किलो के हिसाब से बेची जाती है।
– डले खुर्सीनी को सिक्किम की ओर से उत्तर पूर्वी क्षेत्रीय कृषि विपणन निगम लिमिटेड (Neramac – North Eastern Regional Agricultural Marketing Corporation Limited) द्वारा दायर आवेदन के आधार पर सरकार की जीआई रजिस्ट्री में शामिल किया है।
– ध्‍यान रखना है कि यह चिली, दार्जिलिंग हिल और सिक्किम में पाया जाता है।

GI टैग क्‍या है?
– किसी खास इलाके में विशेष प्रोडक्‍ट है, जिसकी खास विशेषता है।
– वह एग्रीकल्‍चर या हैंड मेड प्रोडक्‍ट हो सकता है।
– वह उसी जियोग्राफिकल रीजन में होता है।
– तो कई बार देखा जाता है, कि उसकी नकल भी मार्केट में आ जाती है।
– ऐसे में जियोग्राफिकल इंडिकेटर (GI) टैग नकल रोकने में काफी मदद करता है। प्रोडक्‍ट को एक खास पहचान देता है।
– प्रोडक्‍ट को पहचानने में मदद मिलता है।
– जिस तरह से कॉपी राइट, पेटेंट या ट्रेडमार्क हो गया, उसी तरह से यह एक राइट (अधिकार) है।

जीआई टैग की जरूरत क्‍यों पड़ी?
– इंडिया, WTO का मेंबर है।
– WTO के तीन मेन एग्रीमेंट है।
– एक गुड्स (सामान) से रिलेटेड – गैट.
– दूसरा – सर्विस से रिलेटेड एग्रीमेंट.
– तीसरा – ट्रेड रिलेटेड प्रोपर्टी राइट.

– तीसरे एग्रीमेंट के तहत भारत ने जीआई टैग का कानून बनाया हुआ है।
– जीआई टैग, जियोग्राफिकल इंडिकेशन रजिस्ट्रिी के द्वारा दिया जाता है।

सिक्किम के मुख्यमंत्री: पीएस गोले.
राज्यपाल: गंगा प्रसाद.

—————————————-
7. इंडो-अमेरिकन चैंबर ऑफ कॉमर्स (IACC) ने किस भारतीय कारोबारी को लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड दिया है?

a. मुकेश अंबानी
b. रतन टाटा
c. गौतम अडानी
d. लक्ष्‍मी मित्‍तल

Answer: b. रतन टाटा

– IACC ने यह अवार्ड 3 अक्‍टूबर को वर्चुअल समारोह में दिया।
– इस पुरस्कार की घोषणा IACC के वर्चुअल कार्यक्रम “COVID Crusader Award-2020” के दौरान की गई।
– रतन टाटा को ये अवार्ड भारत-यूएसए के बिजनेस रिलेशंस में निभाई उनकी महत्वपूर्ण भूमिका और ग्लोबल लीडरशिप में हासिल की उनकी जीवन भर की उपलब्धि के लिए दिया है।
– टाटा ने टाटा समूह को 2011-12 तक 100 अरब डॉलर की कंपनी बनाया।
– और वह आज भी बेहद प्रभावशाली उद्योगपति, दानदाता और मानवतावादी हैं।

IACC- भारत के राष्ट्रीय अध्यक्ष: पूर्णचंद्र राव सुरपनै.
मुख्यालय: मुंबई, महाराष्ट्र.

————————————
8. भारत में वन्यजीव सप्ताह (Wildlife week) कब से कब तक मनाया जाता है?

a. 2 से 8 अक्‍टूबर
b. 3 से 9 अक्‍टूबर
c. 4 से 10 अक्‍टूबर
d. 5 से 11 अक्‍टूबर

Answer: a. 2 से 8 अक्‍टूबर

– भारत में हर साल वनस्पतियों और जीवों की सुरक्षा और संरक्षण के उद्देश्य से वन्यजीव सप्ताह मनाया जाता है।
– वर्ष 2020 की थीम- Exploring Human-Animal Relationships है।

इतिहास:
– साल 1952 में भारतीय वन्यजीव बोर्ड का गठन और भारत के वन्यजीवों की रक्षा के लक्ष्यों के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए इस सप्ताह को मनाए जाने विचार किया था।
– भारत में सबसे पहले 7 जुलाई, 1955 को ‘वन्य प्राणी दिवस’ मनाया गया।
– यह भी निर्णय लिया गया कि प्रत्येक वर्ष 2 अक्तूबर से पूरे सप्ताह तक वन्य प्राणी सप्ताह मनाया जाएगा।
– वर्ष 1956 से वन्य प्राणी सप्ताह मनाया जा रहा है।

केंद्रीय पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्री: प्रकाश केशव जावड़ेकर.

———————————-
9. नागरिक उड्डयन सुरक्षा ब्यूरो (Bureau of Civil Aviation Security-BCAS) का महानिदेशक किसे नियुक्त किया गया है?

a. एम ए गणपति
b. अशोक लवासा
c. रजनीश तिवारी
d. राकेश अस्थाना

Answer: a. एम ए गणपति

– एम ए गणपति उत्तराखंड कैडर के 1986 बैच के आईपीएस अधिकारी हैं।
– राकेश अस्थाना को अगस्त में सीमा सुरक्षा बल का महानिदेशक नियुक्त किए जाने के बाद से BCAS प्रमुख का पद खाली पड़ा था।
– मंत्रिमंडल की नियुक्ति समिति ने गणपति को बीसीएएस के महानिदेशक पद पर उनकी सेवानिवृत्ति 29 फरवरी, 2024 तक के कार्यकाल के लिए बने रहने की मंजूरी दे दी है।

नागरिक उड्डयन सुरक्षा ब्यूरो की स्थापना: 1978.
मुख्यालय ब्यूरो: नई दिल्ली.

————————————
10. “युद्ध प्रदुषण के विरुद्ध’ अभियान का किस राज्‍य / UT सरकार ने शुरू किया?

a. दिल्‍ली
b. उत्‍तर प्रदेश
c. पंजाब
d. हरियाणा

Answer: a. दिल्‍ली

– दिल्ली सरकार ने कोरोना काल में सर्दियों में बढ़ने वाले प्रदूषण से लड़ने के लिए ये अभियान शुरू किया है।
– 5 अक्‍टूबर को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ऑनलाइन प्रेसवार्ता में इसकी घोषणा की।
– दिल्ली में 2014-2019 तक 25 प्रतिशत प्रदूषण के स्तर में कमी आई है।
– दिल्ली के खेतों में पराली को खाद्य बनाने के लिए सरकार डी-कंपोजर घोल का छिड़काव कराएगी।
– एंटी डस्ट कैंपेन अभियान शुरू कर रहे है इसमें कई एक्शन प्लान है।
– निर्माण स्थल पर धूल उड़ने से न रोकने वालों पर चालानी कार्रवाई होगी।
– सड़कों पर धूल उड़ने से रोकने के लिए मैकेनिकल स्वीपिंग की जाएगी।
– दिल्ली सरकार जल्द ही प्रदूषण से संबंधित शिकायत के लिए ‘दिल्ली ग्रीन एप’ लांच करेंगी।
– इस एप पर कोई भी व्यक्ति प्रदूषण से संबंधित शिकायत कर सकेगा।
– प्रदूषण को रोकने के लिए तय एक्टिविटी पर मॉनीटरिंग करने के लिए एक वॉर रूम भी बनाया जाएगा।

———————————–
11. अंतरराष्ट्रीय ऑनलाइन निशानेबाजी (शूटिंग) चैम्पियनशिप के दस मीटर एयर राइफल में स्‍वर्ण पदक किस भारतीय के नाम रहा?

a. विष्णु शिवराज पांडियन
b. मनु भाकर
c. सौरभ चौधरी
d. लिन जुनमिन

Answer: a. विष्णु शिवराज पांडियन

– पांडियन ने 3 अक्‍टूबर 2020 को ऑनलाइन निशानेबाजी के पांचवें सत्र में दस मीटर एयर राइफल में स्वर्ण पदक जीता।
– वह 16 वर्ष के हैं।
– दुनिया के 27वें नंबर के निशानेबाज फ्रांस के एटियेने जेरमोंड दूसरे नंबर पर रहे।
– भारत के अन्‍य खिलाड़ी प्रत्युष बारीक सातवें स्थान पर रहे।
– दो दिन की ऑनलाइन प्रतियोगिता में 15 देशों के निशानेबाजों ने भाग लिया।

 


Free Download Notes PDF of Toady’s Current Affairs : – Click Here

Free Download One Liner MCQ PDF –  Current Affairs : – Click Here

आप यूट्यूब चैनल सरकारी जॉब न्‍यूज पर भी करेंट अफेयर्स के वीडियो को देख सकते हैं।

0 Comments

Leave a reply

About Us | Help Desk | Privacy Policy | Disclaimer | Terms and Conditions | Contact Us

©2022 Sarkari Job News powered by Alert Info Media Pvt Ltd.

Log in with your credentials

or    

Forgot your details?

Create Account