Daily Current Affairs, Current Affairs 29 December 2020, Current Affairs 29 December 2020, Current Affair 29 December 2020 Question,

यह 28 & 29 December 2020 का करेंट अफेयर्स है, जो आपके कांपटीटिव एग्‍जाम्‍स में मदद करेगा। इसका PDF Download Link इस पेज के लास्‍ट में मौजूद है। Current Affairs PDF आप इस पेज के आखिरी हिस्‍से से Free में डाउनलोड करें।

1. दुनिया के सबसे बड़े Iceberg (हिमखंड) का नाम बताएं, जो अंटार्कटिका से टूटकर समुद्र में बह रहा है और वैज्ञानिकों की चिंता बढ़ गई है?

a. A68a आइसबर्ग
b. A69a आइसबर्ग
c. A70c आइसबर्ग
d. A9a आइसबर्ग

Answer: a. A68a आइसबर्ग

– दक्षिणी अटलांटिक महासागर (South Georgia Island) के आइसबर्ग ने वैज्ञानिकों की चिंताओं को बढ़ा दिया है।
– विज्ञानियों की एक टीम अटलांटिक महासागर जा रही है, जो वातावरण पर आइसबर्ग के प्रभाव का अध्ययन करेगी।
– अभियान का नेतृत्व ब्रिटिश अंटार्कटिक सर्वे (बीएएस) करेगी।
– इस आइसबर्ग का क्षेत्रफल करीब 4,000 वर्ग किलोमीटर है और यह दक्षिणी जॉर्जिया की ओर बढ़ रहा है।
– इसके कारण पारिस्थितिकी संतुलन बिगड़ सकता है और समुद्री जीवों के लिए परिस्थितियां मुश्किल हो सकती हैं।

– ए-68ए आइसबर्ग 2017 में अंटार्कटिका के लार्सन सी नाम की चट्टान से टूटा था।
– तब से यह दक्षिण जॉर्जिया के दूरस्थ उप-अंटार्कटिक द्वीप की ओर बह रहा है
– जो एक ब्रिटिश प्रवासी क्षेत्र (BOT) है।
– उस वक्त इसका आकार 5,800 वर्ग किमी था।
– दक्षिण जॉर्जिया में इसके कारण जीवजंतु खतरे में आ सकते हैं।
– ब्रिटिश अंटार्कटिक सर्वे के शोधकर्ता 11 जनवरी 2021 को फॉकलैंड्स के लिए उड़ान भरेंगे।
-दक्षिण अटलांटिक महासागर में, दक्षिण जॉर्जिया एक द्वीप है जो दक्षिण जॉर्जिया के ब्रिटिश प्रवासी क्षेत्र और दक्षिण सैंडविच द्वीप (SGSSI) का हिस्सा है।
– मुख्य आबादी वाला क्षेत्र Grytviken है।

आइसबर्ग क्या होता है-
– आइसबर्ग अथवा हिमखंड उसे कहते है, जो ग्लेशियर या आइस-शेल्फ़ से टूटकर खुले पानी में तैर रहा हो।
– ये समुद्र की धाराओं के साथ बहते हैं।

– यूएस नेशनल आइस सेंटर (USNIC) ने पुष्टि की है कि A68a से अलग हुए दो नए हिमखंडों को शांत किया गया था।
– और जिन्हें A68E और A68F कहा जाता है।

————————————
2. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 28 दिसंबर 2020 को देश की पहली ड्राइवरलेस मेट्रो ट्रेन की शुरुआत किस केंद्र शासित प्रदेश में की?

a. दिल्‍ली
b. पुदुचेरी
c. जम्‍मू एंड कश्‍मीर
d. लक्षद्वीप

Answer: a. दिल्‍ली

– प्रधानमंत्री ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से इसकी शुरूआत की।
– जनकपुरी पश्चिम से बॉटनिकल गार्डन तक मेट्रो की 37 किलोमीटर लंबी मैजेंटा लाइन पर यह सुविधा शुरू की है।
– इसका सिस्टम ऐसा है कि दो ट्रेनें अगर एक ट्रैक पर आ जाएंगी, तो अपने आप रुक जाएंगी।
– मेट्रो में सफर के दौरान कई बार झटके जैसा जो अनुभव होता है, वह ड्राइवरलेस ट्रेन में नहीं होगा।
– ट्रेन में चढ़ने-उतरने के दौरान पैसेंजर्स को परेशानी भी नहीं होगी।

सिस्टम कैसे काम करता है-
– ड्राइवरलेस मेट्रो का सफर कम्युनिकेशन बेस्ड ट्रेन कंट्रोल सिग्नलिंग सिस्टम (CBTC) से लैस है।
– यह सिस्टम एक वाई-फाई की तरह काम करता है।
– जो मेट्रो को सिग्नल देता है जिससे वह चलती है।
– मेट्रो ट्रेन में लगे रिसीवर सिग्नल मिलने पर मेट्रो को आगे बढ़ाते हैं। – विदेशों की कई मेट्रो में इस सिस्टम को यूज किया जाता है।

————————————
3. टोक्यो ओलंपिक से बाहर होने के साथ किस देश पर दो साल का बैन लगा दिया गया है?

a. ऑस्ट्रेलिया
b. रूस
c. जर्मनी
d. जापान

Answer: b. रूस

– रूस को अगले दो ओलंपिक (ग्रीष्म और शीतकालीन) के लिये किसी भी विश्व चैंपियनशिप में अपने नाम, ध्वज और राष्ट्रगान का उपयोग करने से प्रतिबंधित कर दिया गया है।
– खेल पंचाट ने रूस को दो साल के लिये बड़ी खेल प्रतियोगिताओं की मेजबानी का दावा करने से भी प्रतिबंधित कर दिया।
– रूसी खिलाड़ी और टीमें अगर डोपिंग मामलों में नहीं फंसते हैं तो तोक्यो ओलंपिक और 2022 में बीजिंग में होने वाले शीतकालीन ओलंपिक के अलावा विश्व चैंपियनशिप और कतर में 2022 में होने वाले फुटबॉल विश्व कप में भाग ले सकती हैं।

डोपिंग के नियमों का उल्लंघन-
– दरअसल, रूस पर डोपिंग के नियमों का उल्लंघन करने का दोष साबित हुआ है।
– हालांकि जो खिलाड़ी डोपिंग में शामिल नहीं हैं वह ओलंपिक में हिस्सा ले सकते हैं, लेकिन वह रूस का नाम, ध्वज और गान का इस्तेमाल नहीं कर पाएंगे।
– हालांकि विश्व डोपिंग रोधी एजेंसी (वाडा) ने चार साल के प्रतिबंध की पेशकश की थी।
– लेकिन प्रतिबंध दो साल का ही लगाया गया है।

– जापान के टोक्यो में 2020 में ओलंपिक और पैरालंपिक खेलों का आयोजन होना था, लेकिन कोविड-19 की वजह से इन खेलों को स्थगित कर दिया गया।
– अब वर्ष 2021 में ये खेल आयेाजित किए जाएंगे।
– इन खेलों की मेजबानी टोक्यो करेगा।

————————————
4. केन्‍द्रीय मंत्रिमंडल ने सरकार द्वारा संचालित चार फिल्म और मीडिया इकाइयों का विलय करने की मंजूरी दी है, अब इसका क्‍या नाम है?

a. राष्ट्रीय फिल्म विकास निगम
b. भारतीय राष्‍ट्रीय फिल्‍म अभिलेखागार
c. फिल्‍म समारोह निदेशालय
d. सेंसर बोर्ड

Answer: a. राष्ट्रीय फिल्म विकास निगम

– फिल्‍म डिवीजन, फिल्‍म समारोह निदेशालय, भारतीय राष्‍ट्रीय फिल्‍म अभिलेखागार, और बाल फिल्‍म सोसायटी का विलय राष्ट्रीय फिल्म विकास निगम (National Film Development Corporation) के साथ करने की मंजूरी दे दी है।
– केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने 24 दिसंबर 2020 को इसकी जानकारी दी है।
– बुनियादी ढांचा, मानव शक्ति और अन्य संसाधनों को युक्तिसंगत (Rationalize infrastructure, manpower and other resources) बनाने के उद्देश्य से इन फिल्म मीडिया इकाइयों के विलय को मंजूरी दी गई।
– यह भी बताया गया कि इससे कार्यों का दोहराव कम करने में मदद मिलेगी और खजाने की सीधे तौर पर बचत होगी।

फिल्म्स डिवीजन-
– फिल्‍म डिवीजन की स्‍थापना 1948 में सरकारी कार्यक्रमों और भारतीय इतिहास के चलचित्र संबंधी रिकॉर्ड के प्रचार के लिए वृत्तचित्र और न्‍यूज मैगजीन बनाने के लिए की गई थी।

भारतीय राष्ट्रीय फिल्म अभिलेखागार
– भारतीय राष्‍ट्रीय फिल्‍म अभिलेखागार की स्‍थापना 1964 में मीडिया इकाई के रूप में की गई थी।
– इसका उद्देश्‍य भारतीय सिनेमा से जुड़ीधरोहर को संरक्षित करना है।

फिल्‍म समारोह निदेशालय-
– फिल्‍म समारोह निदेशालय की स्‍थापना भारतीय फिल्‍मों और सांस्‍कृतिक आदान-प्रदान को बढ़ावा देने के लिए 1973 में की गई थी।

बाल फिल्‍म सोसायटी-
– यह एक स्‍वायत्तशासी संगठन है।
– भारतीय बाल फिल्‍म सोसायटी की स्‍थापना सोसायटी कानून के अंतर्गत 1955 में की गई थी।
– इसका उद्देश्‍य फिल्‍मों के माध्‍यम से बच्‍चों और युवाओं को मूल्‍य आधारित मनोरंजन देना है।

——————————
5. बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने जनता दल यूनाइटेड (JDU) का अध्यक्ष पद छोड़ दिया, अब इस पार्टी का राष्ट्रीय अध्‍यक्ष किसे बनाया है?

a. आरसीपी सिंह
b. राजन मिश्र
c. महेंद्र प्रसाद सिंह
d. नरेंद्र सिंह

Answer: a. आरसीपी सिंह (रामचंद्र प्रसाद सिंह)

– पटना में JDU की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की मीटिंग में 27 दिसंबर 2020 को नीतीश ने रामचंद्र प्रसाद के नाम का ऐलान किया।
– रामचंद्र पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष थे, और राज्‍यसभा सांसद भी हैं।
————————————–
6. अमेरिका और रूस के बाद भारत ‘हाइपरसोनिक विंड टनल’ (HWT) परीक्षण सुविधा शुरू करने वाला तीसरा देश बना, यह किस राज्‍य में स्थित है?

a. केरल
b. आंध्र प्रदेश
c. तेलंगाना
d. उत्‍तराखंड

Answer: c. तेलंगाना

– राजनाथ सिंह ने 19 दिसंबर 2020 को तेलंगाना राज्‍य के शहर हैदराबाद में इस हाइपरसोनिक विंड टनल परीक्षण सुविधा का उद्घाटन किया।
– रक्षा मंत्रालय के मुताबिक, एचडब्ल्यूटी परीक्षण सुविधा को स्वदेश में ही विकसित किया गया है।
– एचडब्ल्यूटी में व्यापक स्पेक्ट्रम पर हाइपरसोनिक प्रवाह को अनुकरण (Simulate hypersonic flow over broad spectrum) करने की क्षमता है और यह एयरोस्पेस एवं रक्षा प्रणाली के क्षेत्र में अहम भूमिका अदा करेगी।
– केंद्रीय गृह राज्य मंत्री जी किशन रेड्डी और डीआरडीओ के अध्यक्ष जी सतीश रेड्डी भी साथ थे।

हाइपरसोनिक क्‍या होता है?
– मैक 5 या इससे ज्‍यादा की स्‍पीड को हाइपरसोनिक कहते हैं।
– मतलब 6174 किलोमीटर प्रति घंटा या इससे ज्‍यादा की स्‍पीड.
– इंडिया ने 7 सितंबर 2020 को HSTDV – Hypersonic Technology Demonstrator Vehicle का परीक्षण किया था। उसमें मैक 6 की स्‍पीड पा ली थी।
– मतलब 7408 किलोमीटर प्रति घंटा की स्‍पीड.

क्‍या डीआरडीओ ने नया हाइपरसोनिक मिसाइल डेवलप किया है?
– नहीं।
– लेकिन सबसे इंपॉर्टेंट हाइपरसोनिक मिसाइल बनाने की ओर हमने कदम रखा है।
– उम्‍मीद है कि अगले चार या पांच साल में मेड इन इंडिया हाइपर सोनिक मिसाइल होगा।
– इसके तहत भारत ने पहले HSTDV का परीक्षण किया और अब हाइपरसोनिक विंड टनल परीक्षण सुविधा शुरू की।

क्‍यों जरूरी है हाइपरसोनिक मिसाइल?
– यह बहुत इंपॉर्टेंट है, क्‍योंकि दुनिया में आज के समय, जो मेजर देश हैं, यूएस, चाइना, रशिया, ब्रिटेन, फ्रांस सभी कोशिश कर रहे हैं कि जल्‍द से जल्‍द ये अपने देश में हाइपरसोनिक मिसाइल डेवलप कर दें।
– रूस ने तो हाइपरसोनिक मिसाइल डेवलप कर ली है और उसका नाम ‘अवनगार्ड’ है। (हालांकि अमेरिका इसे गलत मानता है)
– अमेरिका ने पिछले साल हाइपरसोनिक मिसाल का परीक्षण किया था।
– चीन ने भी ऑफिशियली हाइपरसोनिक टेक्‍नोलॉजी तेयार कर ली है। वह मिसाइल बनाने की ओर है।
– तो इंडिया ने उसी रेस में एक इंपॉर्टेंट स्‍टेप चला है।
– तो इस तरह भारत हाइपरसोनिक मिसाइल क्‍लब में शामिल हो गया है, जिसने यह तकनीक टेस्‍ट कर ली।
– अमेरिका, रूस और चीन के बाद भारत चौथा ऐसा देश है।

बेसिक से जानिए
– मिसाइल की कई कैटेगरी होती है, जैसे बैलेस्टिक मिसाइल और क्रूज मिसाइल।
– बैलिस्टिक मिसाइल – इनका आकार काफ़ी बड़ा होता है और वो काफ़ी भारी वज़न का बम ले जाने में सक्षम होते हैं.
– लेकिन उन्हें छोड़े जाने से पहले ही नष्ट किया जा सकता है क्योंकि उन्हें छिपाया नहीं जा सकता.
– लेकिन एक बार छूट जाने के बाद उन्हें नष्ट करना आसान नहीं होता.
– जैसे अग्नि, पृथ्‍वी, प्रगति, प्रहार मिसाइल।
– अग्नि 5 पांच हजार किलोमीटर तक मार कर सकता है।

– दूसरा है क्रूज मिसाइल – मिसाइल बहुत छोटे होते हैं और उनपर ले जाने वाले बम का वज़न भी ज़्यादा नहीं होता. लेकिन अपने आकार के कारण उन्हें छोड़े जाने से पहले बहुत आसानी से छुपाया जा सकता है.
– क्रूज़ मिसाइल पृथ्वी की सतह के समांनांतर चलते हैं और उनका निशाना बिल्कुल सटीक होता है.
– जैसे निर्भय, ध्रुव, इंडिया और रूस के सहयोग से बनी हुई ब्रह्मोस।
– इसकी ज्‍यादातर रेंज एक हजार किलोमीटर से कम हाती है।
– लेकिन, छोटी रेंज में काफी तेजी से हमला करते हैं और ऐसे में रडार को दिक्‍कत होती है, इसे डिटेक्‍ट करने में।

कितने तरह की क्रूज मिसाइल
– सबसोनिक क्रूज मिसाइल
– सुपर सोनिक क्रूज मिसाइल
– हाइपर सोनिक क्रूज मिसाइल

सबसोनिक क्रूज मिसाइल
– इसकी स्‍पीड साउंड की स्‍पीड से कम होती है। 0.8 मैक की स्‍पीड.
– टॉमहॉक अमेरिका का है। इंडिया का निर्भय मिसाइल है।

सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल
– इसकी स्‍पीड 2-3 मैक तक हो सकती है। मतलब साउंड की स्‍पीड से दो से तीन गुना तेज।
– ऐसे मिसाइल एक सेकेंड में 662.6 Meters से एक किलोमीटर तय कर लेते हैं। मतलब 2,385.36 Kilometers per Hour.
– इसका बेहतरीन उदाहरण है ब्रह्मोस।
– जिसे इंडिया और रूस ने मिलकर तैयार किया है।
– इसे लैंड से, सी (समुद्र) से या एयर से फायर कर सकते हैं।
– लेकिन दुनिया चाहती है कि इससे भी आगे चला जाए।
– ताकि एयर डिफेंस सिस्‍टम जैसे रूस का एस-400, अमेरिका का थाड को चकमा दिया जा सके।
– दुनियाभर में जो डिफेंस सिस्‍टम है, वो नाकाम हो जाएं। यह है हाइपरसोनिक मिसाइल।

हाइपर सोनिक मिसाइल
– जिनकी स्‍पीड 5-6 मार्क या इससे ज्‍यादा स्‍पीड हो।
– इंडिया कोशिश कर रहा है कि मेड इन इंडिया हाइपर सोनिक मिसाइल बनाएं।
– इसी के तहत भारत ने पहले HSTDV का परीक्षण किया और अब हाइपरसोनिक विंड टनल परीक्षण सुविधा शुरू की।

——————————
7. भारतीय अंतर्राष्ट्रीय विज्ञान महोत्सव (IISF) 2020 (22-25 दिसंबर) का विषय क्‍या था?

a. आत्मनिर्भर भारत और वैश्विक कल्याण के लिए विज्ञान
b. वैश्विक कल्याण के लिए विज्ञान
c. आत्मनिर्भर भारत में विज्ञान का महत्‍व
d. वैश्विक कल्याण के लिए विज्ञान की जरूरत

Answer: a. आत्मनिर्भर भारत और वैश्विक कल्याण के लिए विज्ञान

– 22 दिसम्बर को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने विडियो कांफ्रेंस के माध्यम से इस इवेंट का उद्घाटन किया था।
– 22 दिसम्बर को गणितज्ञ श्रीनिवास रामानुजन की जयंती से इस महोत्‍सव की शुरुआत हुई थी।
– यह विज्ञान और प्रौद्योगिकी को बढ़ावा देने के लिए एक उत्सव है।

————————————-
8. BCCI ने घरेलू टूर्नामेंट सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी 2020 का शेड्यूल जारी किया है, ये कब से खेला जाएगा?

a. 15 से 31 जनवरी
b. 20 से 31 जनवरी
c. 10 से 31 जनवरी 2021
d. 10 से 28 जनवरी

Answer: c. 10 से 31 जनवरी 2021

– कोरोना के कारण टलते आ रहा ये घरेलू टूर्नामेंट अब छह राज्‍यों में खेला जाएगा।
– BCCI सचिव जय शाह ने शेड्यूल की जानकारी दी है।
– बोर्ड के मुताबिक, कोरोना के कारण टूर्नामेंट बायो-सिक्योर माहौल में खेला जाएगा।
– यह बायो-बबल जल्द ही बनाया जाएगा।
– टूर्नामेंट में शामिल होने वाली टीमों को 2 जनवरी तक बायो-हब में रिपोर्ट करना होगा।

—————————————–
9. भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) ने इंडियन प्रीम‍ियर लीग (IPL) में 2022 से कुल कितनी टीमों के खेलने पर फैसला किया?

a. 11 टीमें
b. 10 टीमें
c. 8 टीमें
d. 9 टीमें

Answer: b. 10 टीमें

– अहमदाबाद के मोटेरा स्टेडियम में बीसीसीआई की सालाना आम बैठक में इसे मंजूरी दे दी गई है।
– वर्ष 2021 के टूर्नामेंट में तो पहले की तरह आठ टीम भी खेलेंगी, लेकिन 2022 से 10 टीम होंगी।

BCCI के फैसले
– BCCI ने घरेलू क्रिकेट को शुरू करने पर भी फैसला लिया है।
– जनवरी 2021 में सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी टी-20 चैम्पियनशिप के बाद सभी घरेलू टूर्नामेंट्स कराए जाएंगे।
– BCCI अध्यक्ष सौरव गांगुली ICC बोर्ड में डायरेक्टर बने रहेंगे। उनकी गैरमौजूदगी में सेक्रेटरी जय शाह यह जिम्मेदारी संभालेंगे।
– शाह ICC में भारत रिप्रेजेंटेटिव भी होंगे। वह ICC के चीफ एग्जीक्यूटिव मीटिंग में बोर्ड का प्रतिनिधित्व करेंगे।
– राजीव शुक्ला को औपचारिक तौर पर बोर्ड का उपाध्यक्ष नियुक्त किया गया।

——————————-
10. एसोसिएटेड चैंबर्स ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री ऑफ इंडिया (Assocham) के नए अध्यक्ष के रूप में किसने पदभार संभाला?

a. एस राजखेड़ा
b. शेखर वाजपेयी
c. विनीत अग्रवाल
d. मनोज मुकुंद

Answer: c. विनीत अग्रवाल

– 21 दिसंबर 2020 को ये जिम्‍मेदारी उन्‍हें सौंपी गई है।
– विनीत ने हीरानंदानी ग्रुप ऑफ कंपनीज के सह-संस्थापक और प्रबंध निदेशक निरंजन हीरानंदानी का स्थान लिया है।
– वहीं रीन्यू पावर के चेयरमैन और प्रबंध निदेशक सुमंत सिन्हा एसोचैम के नये वरिष्ठ उपाध्यक्ष होंगे।
– विनीत अग्रवाल ने अमेरिका के कारनेगी मेलोन विश्वविद्यालय से स्नातक की डिग्री हासिल की है।

एसोचैम का मुख्यालय: नई दिल्ली

——————————-
11. नृत्य इतिहासकार एवं आलोचक सुनील कोठारी का निधन 27 दिसंबर 2020 को हो गया, उन्‍हें कौन सा सम्‍मान मिला था?

a. पद्म विभूषण
b. पद्मश्री
c. संगीत नाटक अकादमी पुरस्कार
d. b और c दोनों

Answer: d. b और c दोनों

– 87 वर्ष के सुनील कोठारी का दिल का दौरा पड़ने निधन हो गया।
– उनका जन्म 20 दिसंबर 1933 को मुंबई में हुआ था।
– उन्‍होंने भरतनाट्यम, ओडिसी, छऊ, कथक समेत अन्य भारतीय नृत्य कलाओं पर 20 से ज्यादा किताबें लिखी हैं।
– उन्हें 1995 में संगीत नाटक अकादमी पुरस्कार मिला था।
– इसके अलावा वर्ष 2000 में गुजरात संगीत नाटक अकादमी ने भी सम्मानित किया था।
– अमेरिका में 2011 में डांस क्रिटिक्स एसोसिएशन, न्यूयॉर्क का ‘लाइफ टाइम अचीवमेंट’ पुरस्कार भी दिया है।

————————————–
12. साहित्यकार शम्सुर रहमान साहब का निधन 25 दिसंबर 2020 को हो गया, उन्‍हें कौन सा सम्‍मान मिला था?

a. भारत रत्‍न
b. पद्म भूषण
c. पद्मश्री
d. साहित्‍यकार-2020

Answer: c. पद्मश्री

– प्रयागराज के शम्सुर रहमान कोरोना पॉजिटिव थे।
– शम्सुर फारुकी कवि, उर्दू आलोचक और विचारक थे।
– उन्हें 16वीं सदी में विकसित हुई उर्दू में कहानी सुनाने की कला “दास्तानगोई” को पुनर्जीवित करने के लिए जाना जाता है।
– उनको उर्दू आलोचना के टीएस इलिएट के रूप में माना जाता है।
– उनकी रचित एक समालोचना तनकीदी अफकार के लिए उन्हें वर्ष 1986 में साहित्य अकादमी पुरस्कार (उर्दू) से भी सम्मानित किया गया है।

————————————–
13. ग्लोब सॉकर अवॉर्ड्स में किस फुटबॉलर को प्लेयर ऑफ द सेंचुरी का खिताब दिया गया?

a. गाडिैयोला
b. रॉबर्त लेवानदॉस्की
c. सूकर मेसी
d. क्रिस्टियानो रोनाल्डो

Answer: d. क्रिस्टियानो रोनाल्डो

– पुर्तगाल और युवेंटस के स्टार फुटबॉलर क्रिस्टियानो रोनाल्डो को 27 दिसंबर 2020 को ग्लोब सॉकर अवॉर्ड्स में ये सम्‍मान दिया गया।
– उन्हें यह अवॉर्ड 2001 से 2020 तक लीग और इंटरनेशनल फुटबॉल में शानदार प्रदर्शन के लिए दिया गया।
– दुबई में हुई इस सेरेमनी में 5 बार के बेलोन डी’ओर विजेता रोनाल्डो का यह इस साल का दूसरा अवॉर्ड है।
– उन्होंने दिसंबर 2020 में ही गोल्डन फुट अवॉर्ड भी जीता था।
– गोल्डन फुट अवॉर्ड किसी 28 साल या इससे ज्यादा उम्र के खिलाड़ियों को पूरे करियर में एक ही बार दिया जाता है।

————————————
14. ग्लोब सॉकर अवॉर्ड्स में किस फुटबॉलर को प्लेयर ऑफ द ईयर 2020 का खिताब दिया गया?

a. गाडिैयोला
b. रॉबर्त लेवानदॉस्की
c. सूकर मेसी
d. क्रिस्टियानो रोनाल्डो

Answer: b. रॉबर्त लेवानदॉस्की

– बायर्न म्यूनिख के रॉबर्त लेवानदॉस्की ने ये सम्‍मान हासिल किया।

————————————
15. ग्लोब सॉकर अवॉर्ड्स में किस फुटबॉलर को कोच ऑफ द सेंचुरी का खिताब दिया गया?

a. पेप गार्डियोला
b. रॉबर्त लेवानदॉस्की
c. सूकर मेसी
d. क्रिस्टियानो रोनाल्डो

Answer: a. पेप गार्डियोला

– मैनचेस्टर सिटी के कोच पेप गार्डियोला को ये अवॉर्ड मिला है।
– गार्डियोला सिटी से पहले बार्सिलोना और बायर्न म्यूनिख के भी कोच रह चुके हैं।
– उनकी कोचिंग में बार्सिलोना की टीम 2009 में UEFA चैम्पियंस लीग भी जीत चुकी है।
– 2009 में बार्सिलोना की टीम ने स्पैनिश सुपर कप, UEFA सुपर कप और फीफा क्लब वर्ल्ड कप समेत 6 ट्राफियां अपने नाम की थीं। – गार्डियोला फीफा बेस्ट कोच (2011), UEFA बेस्ट कोच (2009, 2011) और ला लीगा के बेस्ट कोच (2009, 2010, 2011 और 2012) का अवॉर्ड भी जीत चुके हैं।


Free Download Notes PDF of Toady’s Current Affairs : – Click Here

Free Download One Liner MCQ PDF –  Current Affairs : – Click Here

आप यूट्यूब चैनल सरकारी जॉब न्‍यूज पर भी करेंट अफेयर्स के वीडियो को देख सकते हैं।

 

 


Buy eBooks & PDF

About Us | Help Desk | Privacy Policy | Disclaimer | Terms and Conditions | Contact Us

©2021 Sarkari Job News powered by Alert Info Media Pvt Ltd.

Supportscreen tag

Log in with your credentials

or    

Forgot your details?

Create Account