Daily Current Affairs, Current Affairs 28th July 2021, Current Affairs 28th July 2021, Current Affair 28th July 2021 Question, Current Affairs 28 July 2021, Current Affairs, 28 July 2021 Current Affairs,

यह  28th July 2021 का करेंट अफेयर्स है, जो आपके कांपटीटिव एग्‍जाम्‍स में मदद करेगा। इसका PDF Download Link इस पेज के लास्‍ट में मौजूद है। Current Affairs PDF आप इस पेज के आखिरी हिस्‍से से Free में डाउनलोड करें।

1. कर्नाटक के नए मुख्‍यमंत्री का नाम बताएं?

a. बीके मोदी
b. एसआर बोम्‍मई
c. बसवराज बोम्‍मई
d. राधाकृष्‍ण माथुर

Answer: c. बसवराज बोम्‍मई

– गवर्नर थावर चंद गहलोत ने उन्‍हें 28 जुलाई 2021 को कर्नाटक के नए मुख्‍यमंत्री के तौर पर शपथ दिलाई।
– वह इससे पहले कर्नाटक के गृह, कानून और संसदीय मामलों के मंत्री थे।
– उनका जन्‍म 28 जनवरी 1960 को हुआ था।
– वह मैकेनिकल इंजीनियरिंग में ग्रेजुएट हैं।
– वह टाटा मोटर्स में इंजीयिनर के तौर पर नौकरी कर चुके हैं।
– इंजीनियर और खेती से जुड़े होने के नाते बसवराज को कर्नाटक के सिंचाई मामलों का जानकार माना जाता है।
– राज्य में कई सिंचाई प्रोजेक्ट शुरू करने की वजह से उनकी तारीफ होती है।
– उन्हें अपने विधानसभा क्षेत्र में भारत की पहली 100% पाइप सिंचाई परियोजना लागू करने का श्रेय भी दिया जाता है।
– माना जाता है कि बसवराज बोम्मई, पूर्व मुख्‍यमंत्री येदियुरप्पा के चहेते हैं।
– सूत्रों कहना है कि येदियुरप्पा ने इस्तीफा देने से पहले ही बोम्मई का नाम भाजपा आलाकमान को सुझा दिया था।
– कर्नाटक में 17 प्रतिशत लिंगायत हैं और एक साथ उनका वोट किसी भी पार्टी को हरा या जिता सकता है।
– ऐसे में भाजपा ने लिंगायत समुदाय से आने वाले बसवराज बोम्‍मई को मुख्‍यमंत्री के लिए चुना।

पिता रह चुके हैं मुख्‍यमंत्री, बोम्‍मई केस है मशहूर
– नए मुख्‍यमंत्री बसवराज बोम्‍मई के पिता एसआर बोम्‍मई भी कर्नाटक के चीफ मिनिस्‍टर रह चुके हैं। तब वह जनता पार्टी और फिर जनता दल के लीडर थे।
– सुप्रीम कोर्ट में उनका केस काफी चर्चित रहा – एसआर बोम्‍मई वर्सेज यूनियन ऑफ इंडिया।
– 1988 में गवर्नर ने अपने विवेक यह मानकर की सत्‍ताधारी पार्टी के कई विधायक मुख्‍यमंत्री से खफा हैं, इसलिए सरकार बर्खास्‍त करने की सिफारिश राष्‍ट्रपति को कर दी थी। और बाद में केंद्र सरकार ने अनुच्‍छद 356 के तहत राष्‍ट्रपति से राज्‍य सरकार को बर्खास्‍त कर दिया था।
– उसी केस में सुप्रीम कोर्ट ने तमाम राज्‍यपाल को हिदायत दी थी
– ‘किसी भी राज्य सरकार को बहुमत हैं या नहीं हैं,इसका निर्णय राजभवन में नहीं होना चाहिए इसका निर्णय विधानसभा में होना चाहिए’।
– सुप्रीम कोर्ट ने यह ऐतिहासिक फैसला (landmark judgment) वर्ष 1994 में दिया था।

————————–
2. यूनेस्‍को ने हड़प्‍पा काल के किस शहर को विश्‍व धरोहर सूची में जुलाई 2021 में शामिल किया?

a. उज्‍जैन
b. साहिवाल
c. लाहौल
d. धोलावीरा

Answer: d. धोलावीरा

– लगभग 5000 साल पुराना शहर धोलावीरा को यूनेस्‍को ने वर्ल्‍ड हेरिटेज घोषित किया है।
– यह हड़प्‍पा काल का प्राचीन शहर है।
– गुजरात के कच्छ में भारत-पाकिस्तान सीमा पर में स्थित है।
– नगरीय सभ्यता का एक शानदार उदाहरण माना गया।
– चार-पांच हजार साल पहले हमारे पुरखे इन शानदार घरों में रहते थे।

कब हुई थी खोज
– इसकी खोज 1968 में की गई थी।
– धोलावीरा की गिनती दक्षिण एशिया के सबसे पुराने शहरों में होती है।
माना जाता है कि हड़प्पा काल के शीर्ष 5 शहरों में धोलावीरा शामिल था।
– यहां सिंधु घाटी सभ्यता के कई खंडहर हैं।
– धोलावीरा 54 एकड़ में फैला था।
– माना जाता है कि करीब 3500 ईसा पूर्व ही यहां लोग बसने लगे थे और करीब 1800 ईसा पूर्व तक यह शहर मौजूद था।
– धोलावीरा के बारे में कहा जाता है कि यह हड़प्पा काल का प्रमुख महानगर था।

जल संरक्षण व्‍यवस्‍था
– यहां पर शहरी व्यवस्था को बेहतरीन तरीके से संरक्षित किया गया था।
– इस शहर की खासियत इसकी बेहतरीन जलसंरक्षण व्यवस्था थी।
– यहां 77 लाख लीटर पानी के संग्रह का एक बड़ा टांके के अवशेष तालाब, कूंए, स्नानागार जैसे स्ट्रक्चर पाए गये।
– नहर के जरिए पानी को नगर के जलाशयों तक लाने के लिए तराशी हुई ईटों से विशेष प्रकार की नालियों का निर्माण यहां किया गया।
– उस वक्त भी जल निकासी के लिए इस शहर में जैसी व्यवस्था मिली हैं, जो यह दिखाता है कि यह शहर अपने वक्त में कितना आधुनिक रहा होगा।
– आमतौर पर चर्चा में प्राचीन लोगों को अशिक्षित माना जाता है लेकिन हड़प्पा सभ्यता उनके वैज्ञानिक एवं बेहतर तकनीक का उदाहरण है।

लिपि के अवशेष भी मिले
– इसके अलावा शहर में कुछ साइन बोर्ड भी पुरातत्व विभाग को मिले थे, हालांकि ये किस भाषा में थे यह आज तक रहस्य ही है।
– हड़प्पा काल के इस शहर में उस ज़माने की लिपि में लिखे गए कुछ अवशेष भी मौजूद हैं।
– हालांकि अभी तक इन लिपि को कोई पढ़ नहीं पाया है।

किले नुमा मवशेष
– किले नुमा अवशेष के साथ सामान्य लोगों के आवास के अवशेष भी यहां पाए गए।
– सभासद अथवा अधिकारियों के आवास विशेष डिजाइन में बने हुए पाए गए।
– ऐसा माना जाता है कि इस प्राचीन नगर में करीब 50 हजार लोगों के रहने की व्यवस्था की गई थी।

वर्ल्‍ड हेरिटेज लिस्‍ट के बारे में-
– इसका उद्देश्य पूरे विश्व में मानव सभ्यता से जुड़े ऐतिहासिक और सांस्कृतिक स्थलों के संरक्षण के प्रति जागरूकता लाना है।

इंडिया के 40 वर्ल्‍ड हेरिटेज स्‍थलों लिस्‍ट-
– Dholavira, Gujarat
– Ramappa Temple, Telangana
– Taj Mahal, Agra
– Khajuraho, Madhya Pradesh
– Hampi, Karnataka
– Ajanta Caves, Maharashtra
– Ellora Caves, Maharashtra
– Bodh Gaya, Bihar
– Sun Temple, Konark, Odisha
– Red Fort Complex, Delhi
– Buddhist monuments at Sanchi, Madhya Pradesh
– Chola Temples, Tamil Nadu
– Kaziranga Wild Life Sanctuary, Assam
– Group of Monuments at Mahabalipuram, Tamil Nadu
– Sundarbans National Park, West Bengal
– Humayun’s Tomb, New Delhi
– Jantar Mantar, Jaipur, Rajasthan
– Agra Fort, Uttar Pradesh
– Group of Monuments at Pattadakal, Karnataka
– Elephanta Caves, Maharashtra
– Mountain Railways of India
– Nalanda Mahavihara (Nalanda University), Bihar
– Chhatrapati Shivaji Maharaj Terminus (formerly Victoria Terminus), Maharashtra
– Qutub Minar and its Monuments, New Delhi
– Champaner-Pavagadh Archaeological Park, Gujarat
– Great Himalayan National Park, Himachal Pradesh
– Hill Forts of Rajasthan
– Churches and Convents of Goa
– Rock Shelters of Bhimbetka, Madhya Pradesh
– Manas Wild Life Sanctuary, Assam
– Fatehpur Sikri, Uttar Pradesh
– Rani Ki Vav, Patan, Gujarat
– Keoladeo National Park, Bharatpur, Rajasthan
– Nanda Devi and Valley of Flowers – National Parks, Uttarakhand
– Western Ghats
– Kanchenjunga National Park, Sikkim
– Capitol Complex, Chandigarh
– The Historic City of Ahmedabad
– The Victorian and Art Deco Ensemble of Mumbai
– The Pink City – Jaipur

जुलाई में रमप्‍पा मंदिर भी वर्ल्‍ड हेरिटेज हुआ
– इससे पहले यूनेस्‍को ने विश्‍व धरोहर समिति के 44वें सत्र में भारत के रमप्‍पा मंदिर (तेलंगाना में स्थित) को नया वर्ल्‍ड हेरिटेज घोषित किया था।

——————————-
3. दिल्‍ली पुलिस के नए कमिश्‍नर का नाम बताएं?

a. राकेश अस्‍थाना
b. सुरजीत सिंह देसवाल
c. आलोक वर्मा
d. एसएन श्रीवास्‍तव

Answer: a. राकेश अस्‍थाना

– वह 1984 बैच के गुजरात कैडर के आईपीएस अधिकारी हैं।
– 27 जुलाई 2021 की रात को उनकी नियुक्ति केंद्र सरकार ने की।
– आम तौर पर दिल्‍ली पुलिस कमिश्‍नर के पद पर अरुणाचल प्रदेश- गोवा – मिजोरम एंड यूनियन टेरेटरी (AGMUT) कैडर के अधिकारी की नियुक्ति होती रही है। ऐसा बहुत कम ही मामला देखने को मिला है, जब दूसरे कैडर के अधिकारी को पुलिस कमिश्‍नर बनाया जा रहा हो।

– राकेश अस्‍थाना इससे पहले BSF (बॉर्डर सिक्योरिटी फोर्स) के DG (डायरेक्टर जनरल) के तौर पर तैनात थे।
– 18 अगस्त 2020 को उन्हें इस पद पर नियुक्त किया गया था। खास बात यह है कि 31 जुलाई को वे रिटायर होने वाले थे।
– रिटायरमेंट से तीन दिन पहले उन्‍हें नई नियुक्ति दी गई।
– अब दिल्‍ली पुलिस कमिश्‍नर के तौर पर एक साल का कार्यकाल होगा। (मतलब कि वह अभी रिटायर नहीं होंगे)

विवादित कॅरियर
– वर्ष 2018 में राकेश अस्‍थाना सीबीआई के स्‍पेशल डायरेक्‍टर थे। तब उस वक्‍त के निदेशक आलोक वर्मा से विवाद हुआ था।
– बाद में सुप्रीम कोर्ट ने बीच-बचाव किया था।
– इसके बाद राकेश अस्‍थाना के खिलाफ CBI में ही भ्रष्‍टाचार के आरोप की इंक्‍वायरी हुई थी। हालांकि बाद में CBI ने उन्‍हें क्‍लीन-चिट दे दी थी।

——————————–
4. BSF के नए प्रभारी महानिदेशक (DG) कौन हैं?

a. आभा सिंह
b. पंकज विशेष
c. राजेंद्र त्रिपाठी
d. एसएस देसवाल

Answer: d. एसएस देसवाल

– एसएस देसवाल का पूरा नाम सुरजीत सिंह देसवाल है।
– वह ITBP के डायरेक्‍टर जनरल हैं।
– उन्‍हें अब BSF का प्रभारी महानिदेशक बनाया गया है।
– दरअसल, BSF के डीजी राकेश अस्‍थाना को दिल्‍ली पुलिस कमिश्‍नर बनाया गया है, उससे यह पद खाली हो गया था।

————————–
5. संसद ने ‘राष्ट्रीय खाद्य प्रौद्योगिकी संस्थान विधेयक’ (National Institutes of Food Technology, Entrepreneurship and Management Bill) 2021 को मंजूरी दी, इसमें किन राज्‍यों के संस्थानों को राष्ट्रीय महत्व के संस्थान का दर्जा देने का प्रावधान है?

a. हरियाणा और तमिलनाडु
b. हरियाणा और केरल
c. तमिलनाडु और पंजाब
d. पंजाब और तमिलनाडु

Answer: a. हरियाणा और तमिलनाडु

– ये संस्‍थान हरियाणा के कुंडली में स्थित NIFTEM (National Institute of Food Technology Entrepreneurship and Management) और तमिलनाडु के तंजावुर में स्थित IIFPT (Indian Institute of Food Processing Technology) हैं।
– इन्‍हें अब नेशनल इंपॉर्टेंस का दर्जा मिल गया है।
– संसदीय कार्य मंत्री प्रल्हाद जोशी का कहना है कि इससे इन संस्थानों को अधिक स्वायत्तता मिलेगी जिससे, वे नए और नवोन्मेषी (innovative) कोर्स शुरू कर सकेंगे, साथ ही उत्कृष्ट संकाय और छात्रों को आकर्षित करने में भी मदद मिलेगी।
– एकेडमिक और रिसर्च वर्क में भी ग्‍लोबल स्‍टैंडर को अपनाया जा सकता है।
– संस्‍थान को परीक्षाएं आयोजित करने और डिग्रियां, डिप्लोमा, प्रमाणपत्र और अन्य ज्ञान संबंधी विशेष पदवियां तथा मानद डिग्रियां देने का प्रोवीजन है।

– आपको बता दें कि पेगासस जासूसी मामला, तीन केंद्रीय कृषि कानून एवं अन्य मुद्दे को विपक्षी सदस्य एक सप्ताह से संसद में उठा रहे हैं जिसके कारण कामकाज बाधित रहा है ।
– 26 जुलाई 2021 को इस शोर शराबे के बीच सिर्फ 8 मिनट में ही राष्ट्रीय खाद्य प्रौद्योगिकी संस्थान विधेयक (National Institutes of Food Technology Bill) पारित किया।
– यह विधेयक मार्च 2021 में राज्य सभा में पारित हो चुका है।
– संसद में इसे खाद्य प्रसंस्करण और उद्योग मंत्री पशुपति कुमार पारस ने पेश किया था।

———————–
6. केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (Central Reserve Police Force -CRPF) का स्‍थापना दिवस कब मनाया जाता है?

a. 26 जुलाई
b. 27 जुलाई
c. 28 जुलाई
d. 29 जुलाई

Answer: b. 27 जुलाई

– बता दें कि CRPF 27 जुलाई, 1939 को क्राउन रिप्रेजेंटेटिव्स पुलिस के रूप में अस्तित्व में आया।
– 28 दिसंबर, 1949 को सीआरपीएफ अधिनियम के अधिनियमित होने पर ये CRPF बन गया।

CRPF DG : कुलदीप सिंह

———————–
7. अंतरराष्‍ट्रीय मैंग्रोव दिवस (World Mangrove Day) कब मनाया जाता है?

a. 23 जुलाई
b. 24 जुलाई
c. 25 जुलाई
d. 26 जुलाई

Answer: d. 26 जुलाई

– मैंग्रोव पारिस्थितिकी (Mangrove Ecosystem) तंत्र के संरक्षण के लिए अंतर्राष्ट्रीय दिवस हर साल 26 जुलाई को मनाया जाता है।
– यह दिन मैंग्रोव पारिस्थितिक तंत्र के महत्व के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए मनाया जाता है।

– वर्ष 2015 में UNESCO के सामान्य सम्मेलन ने इस दिन को अपनाया था।

मैंग्रोव क्‍या है
– ये छोटे पेड़ या झाड़ी होते हैं जो समुद्र तटों, नदियों के मुहानों पर स्थित ज्वारीय, दलदली भूमि पर पाए जाते हैं।
– मुख्यतः खारे पानी में इनका विकास होता है।
– यह पर्यावरण के लिए बहुत ही उपयोगी हैं।
– मैंग्रोव शब्द का इस्तेमाल उष्णकटिबंधीय तटीय (tropical coastal) वनस्पतियों के लिये भी किया जाता है, जिसमें ऐसी ही प्रजातियाँ पाई जाती हैं।
– भारत में दुनिया का सबसे बड़ा मेंग्रोव जंगल, सुंदरबन (पश्‍चिम बंगाल) है।
– सुंदरवन UNESCO की इस वर्ल्ड हेरिटेज साइट भी है। यह रामसर साइट भी है।
– इसमें पेड़-पौधों की 180 प्रजातियां रहती हैं। यहां एक से बढ़कर एक अनोखे और दुर्लभ जीव पाए जाते हैं।
– यह 9,630 वर्ग किमी. क्षेत्र में फैला हुआ है जिसमें 4,263 वर्ग किमी. में मैंग्रोव मौजूद है।

भारत के 10 राज्‍यों में मैंग्रोव वन
1. सबसे ज्‍यादा पश्चिम बंगाल में
2. गुजरात
3. अंडमान एंड निकोबार आईलैंड्स
4. आंध्र प्रदेश
5. ओडीशा
6. महाराष्‍ट्र
7. तमिलनाडु
8. गोवा
9. कर्नाटक
10. केरल

क्‍यों जरूरी है मैंग्रोव
– मैंग्रोव तटीय इलाकों में ये प्राकृतिक सुरक्षा प्रणाली का काम करते हैं।
– मैंग्रोव जंगल भोजन, आवास और रोजगार मुहैया कराके इंसानी जीवन को बेहतर बनाने में अहम भूमिका निभाते हैं।
– इनका ठोस रूट सिस्टम ऐसी खासियत है जो तेज तूफानी बहाव और बाढ़ जैसे हालात में प्राकृतिक बैरियर का काम करता है।
– न सिर्फ ये समुद्र की विशाल लहरों से तट के पास रहने वाले लोगों को बचाते हैं बल्कि जमीन से प्रदूषक तत्वों को समुद्र के साफ पानी में मिलने से भी रोकते हैं।
– इनके पानी में मछलियों, केकड़ों और शेलफिश की भारी पैदाइश होती है जिससे मछुआरे समुदाय को रोजगार भी मिलता है।
– लेकिन कुछ जगहों पर कमर्शल इस्तेमाल के लिए अंधाधुंध कटाई से sustainability पर खतरा पैदा होता है।

कार्बन के विशाल स्टोर
– ये दूसरे जंगलों की तुलना में चार गुना ज्यादा कार्बनडायऑक्साइड सोखते हैं।
– मैंग्रोव के पेड़ मरने के बाद भी पानी के नीचे की मिट्टी से ढके रहते हैं।
– इसकी वजह से इनके सड़ने पर कार्बन वायुमंडल में नहीं जाती।
– इस तरह ये कार्बन को स्टोर करने की बड़ी जिम्मेदारी निभाते हैं।

प्राकृतिक जल शोधक
-पानी के अन्दर जड़ों का जो जाल मैंग्रोव बनाते हैं उन पर स्पंज तथा शंख मीन (शैलफिश) चिपके रहते हैं।
– ये जीव पानी को छान कर उसमें से तलछट तथा पोषक तत्वों को अलग कर देते हैं और समुद्र के पानी को साफ करते हैं जो मूंगे की चट्टानों के पारिस्थितिकी तंत्र के लिये आवश्यक है।

– मैंग्रोव वनों की तलछट में, भारी धातु तत्वों को पानी से सोख कर रोके रखने की उच्च क्षमता होती है।
– इस कारण ये तटीय क्षेत्रों में भारी धातुओं से होने वाले प्रदूषण को कम करते हैं।
– इस तलछट में पूरे तंत्र का 90 प्रतिशत मैंगनीज तथा तांबा (कॉपर) और लगभग 100 प्रतिशत लोहा, जस्ता, क्रोमियम, सीसा तथा कैडमियम पाया जाता है।
– कुछ प्रजातियां इस कार्य को दूसरों की अपेक्षा अच्छी तरह कर सकती हैं।

पूरी दुनिया जुटी है संरक्षण में
– दुनिया में कई जगहों पर मैंग्रोव के जंगलों के अंदर ईको फार्मिंग और ऐक्वाकल्चर की मदद से इनके हालात सुधारने की कोशिश की गई है।
– फरवरी, 1971 में ईरान के रामसार शहर में वेटलैंड संरक्षण के लिए समझौते पर दस्तखत किए गए और आज भारत में 42 रामसार साइट हैं।

मैंग्रोव एकशन प्रोजेक्‍ट
– यह प्रोजेक्‍ट यूएस बेस्‍ड नॉनप्रोफिट कार्यक्रम है। इसके जरिए पूरी दुनिया में मैंग्रोव के संरक्षण का काम होता है।
– भारत और विश्‍व के कई संगठन इसके संरक्षण में लगी है।
– यह फल विहीन वृक्षों का समूह ही नहीं, तटीय सुरक्षा भी है।
– यह जलवायु का मसला है, इसलिए इसपर काम हो रहा है।

———————–
8. किस देश में हिंसक प्रदर्शन के बीच राष्ट्रपति कैस सैयद ने वहां के प्रधानमंत्री हिचेम मेचिची को उनके पद से बर्खास्त कर दिया है?

a. इजिप्‍ट
b. पेरू
c. सूडान
d. ट्यूनीशिया

Answer: d. ट्यूनीशिया

– देश में कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते मामले और वहां की सरकार की व्‍यवस्‍थाओं से देश के नागरिक नाराज हैं।
– प्रदर्शनकारियों ने कई हिंसक प्रदर्शन किए।
– जिसके बाद स्थिति काबू से बाहर होते देख, राष्ट्रपति कैस सईद ने प्रधानमंत्री हिचेम मेचिची को बर्खास्त कर दिया है।
– साथ ही सेना की मदद से संसद को भंग कर सांसदों के सभी अधिकारों को समाप्त कर दिया है।
– ‘कैस सईद’ वर्ष 2019 में राष्ट्रपति चुने गए थे।
– कोरोना वायरस के टीकाकरण अभियान में गड़बड़ी के बाद ट्यूनीशिया के स्वास्थ्य मंत्री को भी पिछले सप्ताह बर्खास्त कर दिया गया था।

ट्यूनीशिया
– यह अफ्रीका के उत्‍तर में स्थित है।

———————–
9. भारतीय नौसेना के जहाज ‘INS तलवार’ ने बहुराष्‍ट्रीय अभ्यास ‘कटलैस एक्‍सप्रेस 2021’ में भाग लिया, यह किस देश के तट पर आयोजित किया गया?

a. जापान
b. केन्‍या
c. फ्रांस
d. रूस

Answer: b. केन्‍या

‘कटलैस एक्सप्रेस’ अभ्यास
– यह पूर्वी अफ्रीका और पश्चिमी हिंद महासागर में राष्ट्रीय एवं क्षेत्रीय समुद्री सुरक्षा को बढ़ावा देने के उद्देश्य से आयोजित एक एनुअल नेवल एक्‍सरसाइज है।
– वर्ष 2021 में यह एक्‍सरसाइज 26 जुलाई 2021 से 06 अगस्त 2021 तक होगा।

वर्ष 2021 के संस्करण में कौन-कौन शामिल
– 12 पूर्वी अफ्रीकी देश,
– अमेरिका,
– ब्रिटेन,
– भारत
– विभिन्न अंतर्राष्ट्रीय संगठनों जैसे- अंतर्राष्ट्रीय समुद्री संगठन (IMO), ड्रग्स और अपराध पर संयुक्त राष्ट्र कार्यालय (UNODC), इंटरपोल, यूरोपीय संघ नौसेना बल (EUNAVFOR) तथा क्रिटिकल मैरीटाइम रूट्स इंडियन ओसियन (CRIMARIO).

अभ्‍यास का महत्‍व
– इस अभ्यास को संयुक्त समुद्री कानून प्रवर्तन क्षमता का आकलन करने और उसमें सुधार करने, राष्ट्रीय एवं क्षेत्रीय सुरक्षा को बढ़ावा देने तथा क्षेत्रीय नौसेनाओं के बीच अंतर-संचालन को बढ़ाने हेतु डिज़ाइन किया गया है।

पश्चिमी हिंद महासागर का महत्त्व:
– पश्चिमी हिंद महासागर (western Indian ocean) का आशय उस क्षेत्र से है जहाँ हिंद महासागर और अरब सागर मिलते हैं। यह उत्तरी अमेरिका, यूरोप तथा एशिया को जोड़ता है, इसलिये रणनीतिक रूप से काफी महत्त्वपूर्ण है।
– पश्चिमी हिंद महासागर (WIO) क्षेत्र में 10 देश शामिल हैं: सोमालिया, केन्या, तंजानिया, मोज़ाम्बिक, दक्षिण अफ्रीका, कोमोरोस, मेडागास्कर, सेशेल्स, मॉरीशस और रीयूनियन द्वीप।
– प्राकृतिक संसाधनों से समृद्ध होने के कारण हाल के वर्षों में विश्व के कई बड़े देशों की रुचि इस क्षेत्र के प्रति काफी बढ़ गई है।

———————–
10. लोकसभा में पेश की गई रिपोर्ट के अनुसार देश के किसानों पर कितने रुपए का कृषि कर्ज बकाया है?

a. एक लाख करोड़
b. 5.8 लाख करोड़
c. 16 लाख करोड़
d. 16.8 लाख करोड़

Answer: d. 16.8 लाख करोड़

– वित्‍त राज्‍यमंत्री भागवत कराड ने लोकसभा में यह जानकारी दी।
– सबसे ज्‍यादा तमिलनाडु के किसानों पर 1.89 लाख करोड़ का कर्ज है।
– वित्‍त मंत्री निर्मला सीतारमण ने लोकसभा में यह स्‍पष्‍ट किया कि किसानों का लोन माफ नहीं किया जाएगा।

किसान कर्ज में टॉप 5 राज्‍य
– तमिलनाडु : 1.89 लाख करोड़
– आंध्र प्रदेश : 1.69 लाख करोड़
– उत्‍तर प्रदेश : 1.55 लाख करोड़
– महाराष्‍ट्र : 1.53 लाख करोड़
– कर्नाटक : 1.43 लाख करोड़

अन्‍य राज्‍य
– गुजरात : 90.6 हजार करोड़
– केरल : 84.3 हजार करोड़
– तेलंगाना : 84 हजार करोड़
– हरियाणा : 78.3 हजार करोड़
– पंजाब : 71.3 हजार करोड़
– बिहार : 49.8 हजार करोड़
– पश्चिम बंगाल : 44.8 हजार करोड़
– छत्‍तीसगढ़ : 29.3 हजार करोड़
– ओडीशा : 23.6 हजार करोड़
– झारखंड : 13.1 हजार करोड़


Free Download Notes PDF of Toady’s Current Affairs : – Click Here

Free Download One Liner MCQ PDF –  Current Affairs : – Click Here

Buy eBooks & PDF

[products limit=”3″ columns=”3″ order=”DESC” visibility=”visible”]

About Us | Help Desk | Privacy Policy | Disclaimer | Terms and Conditions | Contact Us

©2022 Sarkari Job News powered by Alert Info Media Pvt Ltd.

Log in with your credentials

or    

Forgot your details?

Create Account