Current Affairs 27 September, Sanmay Prakash, Current Affairs 27th September 2021, 27th Sept 2021. Current Affairs, Gulab Cyclone,

यह 27th September 2021 का करेंट अफेयर्स है, जो आपके कांपटीटिव एग्‍जाम्‍स में मदद करेगा। इसका PDF Download Link इस पेज के लास्‍ट में मौजूद है। Current Affairs PDF आप इस पेज के आखिरी हिस्‍से से Free में डाउनलोड करें।

1. चक्रवाती तूफान ‘गुलाब’ आंध्र व ओडिशा के तट से टकराया, यह नाम किस देश ने दिया?

a. पाकिस्‍तान
b. चीन
c. श्रीलंका
d. भारत

Answer: a. पाकिस्‍तान

– साइक्‍लोन ‘गुलाब’ 26 सितंबर 2021 को आंध्र प्रदेश और ओडिशा के तटों से कलिंगापट्टनम (आंध्र) और गोपालपुर (ओडिशा) के बीच में टकराया।
– तटीय इलाकों को पहले ही खाली करवा लिया गया था।
– हवा की रफ्तार 95 किलोमीटर प्रतिघंटे तक बताई गई है।
– तूफान का असर छह राज्‍यों में होगा। लेकिन जमीन से आगे बढ़ते हुए यह कमजोर पड़ रहा है और बारिश के रूप में अपना असर दिखा रहा है।
– चक्रवाती तूफान ‘गुलाब’ ने आंध्र प्रदेश और ओडिशा से निकलकर दक्षिण छत्‍तीसगढ़, महाराष्‍ट्र, गोवा और गुजरात तक असर दिखाया।

तूफान का सही उच्‍चारण गुल-आब
– इस तूफान को ‘गुलाब’ नाम पाकिस्तान ने दिया है। इसे बोलने का सही तरीका गुल-आब बताया है।

हिन्‍द महासागर के तूफान कैसे तय होते हैं?
– हिन्द महासागर क्षेत्र के 8 देशों (भारत, पाकिस्तान, श्रीलंका, बांग्लादेश, मालदीव, म्यांमार, ओमान और थाईलैंड) ने भारत की पहल पर 2004 से चक्रवाती तूफानों को नाम देने की व्यवस्था शुरू की थी।
– इसके बाद 2018 में इसमें ईरान, कतर, सऊदी अरब, यूएई और यमन भी जुड़ गए।
– ये 13 देश पहले से ही नाम का लिस्‍ट बनाकर रखते हैं।
– जैसे ही चक्रवात इन 8 देशों के किसी हिस्से में पहुंचता है, सूची में मौजूद अलग नाम इस चक्रवात को दिया जाता है।
– इससे चक्रवात की न केवल आसानी से पहचान हो जाती है बल्कि बचाव अभियानों में भी इससे मदद मिलती है. किसी भी नाम को दोहराया नहीं जाता है।
– तूफान का नाम रखने की व्‍यवस्‍था संयुक्‍त राष्‍ट्र के निर्देशन में बनी हुई है।

पिछले तूफान
– 25 मई 2021 को तूफान ‘यास’ नाम ओमान ने रखा था। यह तूफान ओडिशा से टकराया था।
– 17 मई को तूफान ‘ताउते’ गुजरात से टकराया था। उसका नाम म्‍यांमार ने रखा था।

चक्रवाती तूफान कैसे बनते हैं?
– जब समुद्र में कम दबाव का क्षेत्र बनता है, तब चक्रवाती तूफान उठता है।
– यहां सवाल होगा कि समुद्र में कम दबाव का क्षेत्र क्‍या होता है और यह कैसे बनता है?
– इसके लिए ग्‍लोबल वार्मिंग जिम्‍मेदार है।
– जब समुद्र का तापमान बढ़ता है या कहें कि जब समुद्र गर्म होना शुरू होता है, तो उसकी गर्मी से हवा ऊपर उठती है और उस खाली जगह (इससे एक वैक्‍युम सा क्षेत्र) को भरने के लिए आस-पास की हवा दौड़ती है। इसी को कम दबाव का क्षेत्र कहते हैं।
– चूकि समुद्र बहुत विशाल होते हैं, तो इसलिए यह प्रक्रिया बहुत विशाल होती जाती है।
– चूकि, गर्म हवा ऊपर चली तो जाती है और बड़े इलाके से हवा यहां आती, लेकिन ऊपर उठने वाली हवा भी ठंडी होती है, क्‍योंकि जैसे-जैसे हम ऊंचाई पर जाएंगे, तो तापमान कम होता जाता है।
– ऐसे में ऊपर की हवा, जो ठंडी हो चुकी है वह भी नीचे आना चाहती है और यह तूफान में बदल जाता है।
– हवा बहुत तेजी से घूमती है।

– समुद्र, धरती में ग्‍लोबल वार्मिंग या गर्मी को सोखने में बड़ा योगदान है।
– एक तरह से कह सकते हैं कि चक्रवाती तूफान के जरिए समुद्र खुद को ठंडा रखने की कोशिश करता है।

तूफान से नुकसान
– चक्रवाती तूफान आते हैं तो बहुत नुकसान करते हैं।
– विश्‍व मौसम संगठन की रिपोर्ट के अनुसार 2020 में भारत-बांग्‍लादेश में अम्‍फान तूफान आया था, उससे एक लाख करोड़ का नुकसान हुआ था।
– जैसे जैसे ग्‍लोबल वार्मिंग बढ़ेगी, तो इससे तूफान के ताकत बढ़ेंगे।
– इससे जानमाल को क्षति होगी।
– भारत के 65 से 70 जिले तट पर है। 75 सौ किलोमीटर का तट रेखा है।
– तूफान लगातार अर्थव्‍यवस्‍था को खोखला करेंगे।
– एक दशक में दो प्रतिशत का जीडीपी में नुकसान हुआ, तूफान से।
– जलवायु परिवर्तन भारत जैसे देश को काफी नुकसान पहुंचाता है।
– अमीर देशों में जीडीपी में ज्‍यादा दिक्‍कत नहीं हो रही है, क्‍योंकि उनके पास नुकसान सहने की आर्थिक क्षमता बहुत बेहतर है।
– पिछले पचास साल में भारत में मौसमी कारणों से जुड़ी घटनाएं (जैसे तूफान, सूखा) नहीं होतीं तो भारत की जीडीपी तीस प्रतिशत ज्‍यादा होती।
– तूफान ‘गुलाब’ की वजह से सितंबर के अंतिम हफ्ते में मध्य भारत के राज्यों में भारी बारिश से सोयाबीन व दलहन की फसलों को भारी नुकसान हो सकता है। यदि मानसून तय समय पर ही लौटना शुरू हो जाता तो यह ज्यादा फायदेमंद होता।

———————–
2. विश्‍व पर्यटन दिवस (world tourism day) कब मनाया जाता है?

a. 24 सितंबर
b. 26 सितंबर
c. 27 सितंबर
d. 28 सितंबर

Answer: c. 27 सितंबर

– वर्ष 2021 की थीम – “Tourism for Inclusive Growth”
– हालांकि कोविड-19 ने टूरिज्‍म इंडस्‍ट्री को काफी नुकासान किया है।

– 1970 में 27 सितंबर को ही संयुक्‍त राष्‍ट्र महासभा ने UN वर्ल्‍ड टूरिज्‍म ऑर्गेनाइजेशन (UNWTO) के नियमों को मंजूरी दी थी।
– यह ग्लोबल टूरिज्म के क्षेत्र में बहुत बड़ी उपलब्धि थी।
– इसी दिन को यादगार बनाने के लिए 1980 से हर साल पूरी दुनिया में 27 सितंबर को वर्ल्ड टूरिज्म डे मनाया जा रहा है।

—————————-
3. किस देश की संसद ने ‘महिला प्रभुत्‍व वाले कैबिनेट’ (female-dominated Cabinet) को मंजूरी सितंबर 2021 में दी?

a. बांग्‍लादेश
b. फ्रांस
c. फिनलैंड
d. अल्बानिया

Answer: d. अल्बानिया

– अल्बानिया, एक यूरोपीय देश है और प्रधानमंत्री एडी रामा हैं।
– इस देश में 17 सदस्‍यीय कैबिनेट है, जिसमें 12 मंत्री महिला हैं।

संसद ने दी मंजूरी
– महिला प्रभुत्‍व वाला कैबिनेट बनाना अल्बानिया के लिए आसान नहीं था।
– इस मुद्दे पर संसद में 17 सितंबर 2021 को 20 घंटे तक बहस हुई। वोटिंग भी हुई।
– इसके बाद फीमेल डॉमिनेटेड कैबिनेट को मंजूरी मिली।

प्रधानमंत्री एडी रामा
– प्रधानमंत्री एडी रामा ने कहा, “हम इतिहास के एक नए अध्याय में एंट्री कर रहे हैं, जहां महिला मंत्रियों की संख्या पुरुषों के मुकाबले ज्यादा है। अल्बानियाई समाज में आज भी महिलाओं के खिलाफ भेदभाव किया जाता है। महिलाओं के साथ होने वाले भेदभाव और घरेलू हिंसा के खिलाफ लड़ाई जारी है।”
– PM एडी रामा, कम्‍युनिस्‍ट सोशलिस्‍ट पार्टी से हैं और अप्रैल 2021 में उन्‍हें तीसरी बार प्रधानमंत्री चुना गया था।
– अल्बानिया में नया मंत्रिमंडल अगले चार साल तक काम करेगा।

UN Report : Women in Politics: 2021
– संयुक्‍त राष्‍ट्र की रिपोर्ट के अनुसार अल्बानिया कैबिनेट में महिलाओं को प्रतिनिधित्व देने के मामले में दुनिया में पांचवें नंबर पर है।
– हालांकि यह रिपोर्ट एक जनवरी 2021 की रिपोर्ट के आधार पर है।

Women in ministerial Positions
1. न‍िकारागुआ (58.8%)
2. ऑस्ट्रिया, बेल्जियम, स्‍वीडन (57.1%)
5. अल्बानिया (56.3%) (यह आंकड़ा अब बढ़कर 70.58 हो जाएगा)
160. भारत (9.1%) (यह रिपोर्ट 1 जनवरी 2021 तक की है और इसके बाद भारत में मंत्रिमंडल विस्‍तार हुआ, तो आंकड़ा बढ़ेगा।)

भारत में महिला मंत्री
– नरेंद्र मोदी सरकार में 11 महिला मंत्री हैं।
– दो कैबिनेट मंत्री – निर्मला सीतारमण और स्‍मृति ईरानी
– नौ राज्‍य मंत्री – साध्वी निरंजन ज्योति, रेणुका सिंह, मीनाक्षी लेखी, शोभा कारंदलजे, दर्शना जरदोश, अन्नपूर्णा देवी, प्रतिमा भौमिक, भारती पवार और अनुप्रिया पटेल।

भारत की पहली महिला पीएम
– इंदिरा गांधी 1962 में देश की पहली महिला प्रधानमंत्री बनीं थी।

———————-
4. भारत का कौन सा शहर, पुरुष हॉकी जूनियर विश्व कप (Men’s Hockey Junior World Cup) 2021 की मेजबानी करेगा?

a. रांची
b. मुंबई
c. लखनऊ
d. भुवनेश्‍वर

Answer: d. भुवनेश्‍वर

– यह आयोजन 24 नवंबर से 5 दिसंबर 2021 को ओडिशा के कलिंगा स्‍टेडियम में होगा।
– मुख्‍यमंत्री नवीन पटनायक ने इस आयोजन के लिए लोगो और ट्रॉफी का भी अनावरण किया।
– आगामी कार्यक्रम में, 16 राष्ट्र खिताब के लिए प्रतिस्पर्धा करेंगे।
– भाग लेने वाली टीमें भारत, कोरिया, मलेशिया, पाकिस्तान, दक्षिण अफ्रीका, मिस्र, बेल्जियम, इंग्लैंड, फ्रांस, जर्मनी, नीदरलैंड, स्पेन, अमेरिका, कनाडा, चिली और अर्जेंटीना हैं।

———————-
5. पंजाब के नए मुख्‍यमंत्री कौन है?

a. चरणजीत सिद्धू
b. भूपेंद्र रजनीकांत पटेल
c. चरणजीत सिंह चन्नी
d. विजय शंकर सिंह

Answer: c. चरणजीत सिंह चन्नी

– कैप्टन अमरिंदर सिंह के CM पद से इस्तीफा देने के बाद 58 वर्षीय चन्नी ने इस पदभार को संभालने के लिए शपथ ली।
– शपथ 20 सिंतबर 2021 को राजभवन में राज्यपाल बनवारीलाल पुरोहित द्वारा दिलाई गई।
– दो डिप्टी सीएम सुखजिंदर रंधावा और ओपी सोनी भी बनाए गए हैं।
– ताजा खबर है कि पंजाब सरकार में 26 सितंबर 2021 को 15 मंत्रियों ने शपथ ली है।
– वह पहले दलित नेता है, जो पंजाब के CM बने।

पंजाब
राज्यपाल: बनवारीलाल पुरोहित
राजधानी: चण्डीगढ़

———————–
6. नीति आयोग ने ‘Reforms in Urban Planning Capacity in India’ रिपोर्ट में ‘500 स्वस्थ शहर कार्यक्रम (500 Healthy Cities Programme)’ कितनी अवधि के लिए चलाने की सिफारिश की है?

a. 2 साल
b. 5 साल
c. 10 साल
d. 50 साल

Answer: b. 5 साल

– नीति आयोग ने सितंबर 2021 में रिपोर्ट तैयार की – ‘भारत में शहरी नियोजन क्षमता में सुधार (Reforms in Urban Planning Capacity in India)’
– यह रिपोर्ट 14 सदस्‍यीय कमेटी (Composition of the advisory committee for reforms in urban planning capacity in India) ने बनाई, जिसकी अध्‍यक्षता नीति आयोग के उपाध्‍यक्ष डॉ. राजीव कुमार ने की।

रिपोर्ट में शहरी आबादी के कुछ तथ्‍य
– भारत की शहरी जनसंख्या विश्व जनसंख्या का 11% है।
– भारत की जनगणना 2011 के अनुसार कुल आबादी का 31.1 प्रतिशत शहरी आबादी है।
राज्यवार शहरी आबादी का प्रतिशत:
– राष्ट्रीय औसत से ऊपर: गोवा, तमिलनाडु, केरल, महाराष्ट्र और गुजरात जैसे राज्यों में शहरीकरण का स्तर 40% से अधिक है।
– राष्ट्रीय औसत से नीचे: बिहार, ओडिशा, असम और उत्तर प्रदेश में शहरीकरण का स्तर राष्ट्रीय औसत (31.1% ) से कम है।
– केंद्रशासित प्रदेश: दिल्ली, दमन और दीव, चंडीगढ़ तथा लक्षद्वीप में शहरीकरण का स्तर 75% से अधिक है।

हेल्‍दी सिटी प्रोग्राम?
– रिपोर्ट में केंद्र सरकार से 500 शहरों में हेल्‍दी सिटी प्रोग्राम चलाने का सुझाव दिया गया है।
– इसके अंतर्गत राज्यों और स्थानीय निकायों द्वारा संयुक्त रूप से प्राथमिक शहरों और कस्बों का चयन किया जाए।
– यहां पर सोशियो-इकोनॉमिक डेवलपमेंट, अच्‍छा जीवनस्‍तर, एन्‍वायरमेंटल सस्‍टैनेबिलिटी, क्‍लाइमेट चेंज से संबंधित रिस्‍क को बचाने की व्‍यवस्‍था होनी चाहिए।
– रिपोर्ट में कहा गया है कि व्‍यापक डेवलपमेंट स्‍ट्रैटजी न होने की वजह से शहरों की खराब स्थिति है और ट्रैफिक जाम, जल-जमाव, वाटर रिसोर्स की बर्बादी, अफोर्डेबल हाउसिंग की कमी की समस्‍या है।
– इसलिए जरूरी है कि केंद्र सरकार के स्‍तर पर ‘500 Healthy Cities Programme’ चलाए जाएं।
– मतलब कि स्‍मार्ट सिटी योजना के बाद अब हेल्‍दी सिटी प्रोग्राम देखने को मिलेगा।

रिपोर्ट में अन्‍य सुझाव
– शहरी सेवाओं में निजी क्षेत्र की भूमिका को सुदृढ़ बनाने का सुझाव।
– आवास और शहरी मामलों के मंत्रालय (MoHUA) के ‘नेशनल अर्बन इनोवेशन स्टैक’ के भीतर एक ‘नेशनल डिजिटल प्लेटफॉर्म ऑफ़ टाउन एंड कंट्री प्लानर्स’ बनाने का सुझाव।
– अर्बन प्‍लानिंग एजुकेशन सिस्‍टम विकसित किया जाए। यूनिवर्सिटी में अर्बन प्‍लानिंग से रिलेटेड कोर्सेंज चलाए जाएं।
– अर्बन गवर्नेंस की परिभाषा को विस्‍तार देने का सुझाव। इसके तहत राज्‍य स्‍तर पर अर्बन प्‍लानिंग को लेकर कमेटी का गठन हो।(

शहरी विकास योजनाएं और उद्देश्‍य
– स्मार्ट सिटीज : शहरों में मुख्य बुनियादी सुविधाएँ और स्‍वच्‍छ व स्‍मार्ट व्‍यवस्‍था बनाना।
– अमृत मिशन : हर घर में पानी की आपूर्ति और सीवरेज कनेक्‍शन।
– स्‍वच्‍छ भारत मिशन – शहरी : खुले में शौच मुक्‍त करना और नगरीय ठोस अपशिष्‍ट प्रबंधन।
– हृदय मिशन : शहर की विरासत को संरक्षित रखना।
– प्रधानमंत्री आवास योजना – शहरी : पात्र शहरी गरीबों को पक्‍के घर उपलब्‍ध करवाना।

नीति आयोग
Vice-Chairman: डॉ. राजीव कुमार
CEO : अमिताभ कांत

———————–
7. केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय ने प्रारंभिक बचपन, स्कूल, शिक्षक और वयस्क शिक्षा के लिए नए पाठ्यक्रम बनाने के लिए किसकी अध्‍यक्षता में समिति बनाई?

a. के कस्‍तूरीरंगन
b. आर माधवन
c. के सिवन
d. सी रंगराजन

Answer: a. के कस्‍तूरीरंगन

– वह इसरो के अध्‍यक्ष (1994-2003) रह चुके हैं। जेएनयू सहित कई यूनिवर्सिटी के चांसलर रह चुके हैं।

12 सदस्‍यीय कमेटी
– केंद्र सरकार ने चार राष्ट्रीय पाठ्यक्रम ढांचे (national curriculum frameworks – NCFs) को विकसित करने के लिए 12 सदस्‍यीय कमेटी का गठन किया है।
– चार राष्‍ट्रीय पाठ्यक्रम प्रारंभिक बचपन, स्कूल, शिक्षक और वयस्क शिक्षा के लिए होगा।
– इस पैनल का नेतृत्व राष्ट्रीय शिक्षा नीति -2020 (एनईपी-2020) मसौदा समिति के अध्यक्ष के कस्तूरीरंगन ( K Kasturirangan) करेंगे।

शिक्षा मंत्री: धर्मेंद्र प्रधान

————————
8. एशिया की पहली हाइब्रीड फ्लाइंग कार, भारत की कौन सी कंपनी बना रही है?

a. रिलायंस एयरोमोबिलिटी
b. अडानी एयरोमोबिलिटी
c. टाटा-एयरबस लिमिटेड
d. विनाटा एयरोमोबिलिटी

Answer: d. विनाटा एयरोमोबिलिटी

– चेन्नई स्थित ये कंपनी इस हाइब्रिड फ्लाइंग कार को बना रही है।
– हाइब्रिड का मतलब कि दो ईंधन से चलने वाला।
– यह फ्लाइंग कार बायोफ्यूल और बैटरी से चलेगी।
– इसमें दो लोग बैठ सकेंगे।

सिविल एविएशन मिनिस्‍टर को दिखाया मॉडल
– विनाटा एयरोमोबिलिटी ने सिविल एविएशन मिनिस्‍टर ज्‍योतिरादित्‍य सिंधिया को इस हाइब्रिड फ्लाइंग कार का मॉडल (21 सितंबर 2021 को) दिखाया।
– सिंधिया ने कहा कि विनाटा एयरोमोबिलिटी एशिया की पहली हाइब्रिड फ्लाइंग कार को जल्द तैयार कर लेगी।
– इस कार का इस्तेमाल लोगों के ट्रैवल के अलावा मेडिकल इमरजेंसी सर्विसेज में भी किया जाएगा।
– अमेरिका में फेडरल एविएशन ऐडमिनिस्ट्रेशन ने ऐसी ही एक कार को परमिशन दी है, जो 10 हजार फीट तक की ऊंचाई पर उड़ने में सक्षम है।

कीमत
– कंपनी ने कहा है कि यह कार लंदन में लॉन्च की जा सकती है।
– हालांकि अभी इसकी कीमत को लेकर कोई जानकारी सामने नहीं आई है। लॉन्चिंग के वक्त इसकी कीमत का खुलासा किया जा सकता है।

किस तरह की होगी हाइब्रिड कार
– इस हाइब्रिड कार में दो इंजन का इस्तेमाल किया जाता है।
– इसमें पेट्रोल/डीजल इंजन के साथ इलेक्ट्रिक मोटर होती है।
– इस तकनीक को हाइब्रिड कहा जाता है।
– इसमें व्हील लगाए गए हैं।
– इसमें फ्लाइंग वग्सिं को जोड़ा गया है, जो सामान्‍य ड्रोन की तरह लगते हैं।
– फ्लाइंग कार का वजन 1100 किलोग्राम होगा।
– ये अधिकतम 1300 किलोग्राम वजन उठा सकेगी।
– कार का एयरक्राफ्ट हाइब्रिड इलेक्ट्रिक वर्टिकल टेक-ऑफ और लैंडिंग है।
– कार में एक बैकअप पावर भी होगा, जो पावर कट होने पर मोटर को बिजली सप्लाई करेगा।

दुनिया में अन्‍य फ्लाइंग कार
– जापान की कंपनी स्काइड्राइव इंक कंपनी अपनी फ्लाइंग कार को 2023 तक लॉन्च कर सकती है। इसके उड़ान समय को बढ़ाकर 30 मिनट किया जा सकता है।
– डच कंपनी पाल-वी इंटरनेशल भी लिबर्टी नाम की फ्लाइंग कार पेश कर चुकी है। PAL-V कार हवा में 321 किमी प्रति घंटा और सड़क पर 160 किमी प्रति घंटा की रफ्तार से दौड़ने में सक्षम है।
– अमेरिकन स्टार्टअप कंपनी नेक्स्ट फ्यूचर मोबिलिटी भी अपनी फ्लाइंग कार अस्का पर काम कर रही है। ये अपने फोल्डिंग विंग्स की मदद से उड़ान भी भरेगी। फुल चार्ज पर यह 241 किमी तक उड़ान भर पाएगी।

———————–
9. सड़क दुर्घटनाओं में 1.20 लाख लोगों की मौत वर्ष 2020 में हो गई, यह रिपोर्ट किस सरकारी संगठन ने जारी की?

a. ICMR
b. NCRB
c. AICET
d. NCB

Answer: b. NCRB

– NCRB : नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्‍यूरो
– यह केंद्रीय गृह मंत्रालय के तहत काम करता है।
– यह संगठन क्राइम से संबंधित डेटा को कलेक्‍ट करने और अनैलिसिस करने का काम करता है।

रिपोर्ट का नाम: Crime India 2020 Report
– वर्ष 2020 में 1.20 लाख लोगों की मौत हुई।
– इस साल COVID-19 लॉकडाउन के बावजूद, औसतन हर दिन 328 लोगों की जान गई।

तीन साल का आंकड़ा
2020 : कुल 66,01,285 मामले दर्ज : 1.20 लाख मौत
2019 : कुल 51,56,158 मामले दर्ज : 1.36 लाख मौत
2018 : कुल 14,45,127 मामले दर्ज : 1.35 लाख मौत
– तीन साल के दौरान 3.92 लाख लोगों की जान जा चुकी है।

हिट एंड रन के 1.35 लाख मामले
– 2020 में 41,196 मामले
– 2019 में 47,504 मामले
– 2018 में 47,028 मामले

घायल होने के मामले
– 2020 में 1.30 लाख
– 2019 में 1.60 लाख
– 2018 में 1.66 लाख

रेल हादसों में मौतों के मामले
– 2020 में 52 मामले
– 2019 में 55 मामले
– 2018 में 35 मामले

इलाज में लापरवाही से मौतों के मामले
2020 में 133 मामले
2019 में 201 मामले
2018 में 218 मामले

नागरिक निकायों की लापरवाही के कारण
– 2020 में 51 मामले
– 2019 में 147 मामले
– 2018 में 40 मामले

अन्य लापरवाही के कारण
– 2020 में 6,367 मामले
– 2019 में 7,912 मामले
– 2018 में 8,687 मामले

NCRB (नेशनल क्राइम रिकॉर्ड्स ब्यूरो)
– स्थापना – 11 मार्च 1986
– मुख्यालय – नई दिल्ली

—————————-
10. उपन्‍यास ‘400 DAYS’ के लेखक कौन हैं?

a. कमला भसीन
b. चेतन भगत
c. आरएस कपूर
d. नरेंद्र मोदी

Answer: b. चेतन भगत

– केशव-सौरभ श्रृंखला (Keshav-Saurabh series) में यह तीसरा उपन्यास है।
– इससे पहले स श्रृंखला की पुस्‍तक ‘द गर्ल इन रूम 105’ और ‘वन अरेंज मर्डर’ प्रकाशित हो चुकी है।

————————-
11. इंटरनेशनल एस्ट्रोनॉमिकल यूनियन ने चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर एक क्रेटर (गड्ठा) का नाम मैथ्‍यू हेंसन के नाम पर रखा, वह इनमें से क्‍या थे?

a. माउंट एवरेस्‍ट खोजकर्ता
b. आर्कटिक खोजकर्ता
c. चांद के क्रेटर खोजकर्ता
d. मंगल ग्रह खोजकर्ता

Answer: b. आर्कटिक खोजकर्ता

– हेंसन क्रेटर चांद के दक्षिणी ध्रुव पर डे गेरलाचे और सेवरड्रुप क्रेटर के बीच स्थित है।
– यह चंद्रमा पर वही क्षेत्र है जहां नासा आर्टेमिस कार्यक्रम का लक्ष्य अपने मून रिसर्चर्स को उतारना है।
– आर्कटिक क्षेत्र में उत्तरी ध्रुव तक पहुंचने के लिए पीअरी के अभियान के दौरान मैथ्यू हेंसन इस समूह द्वारा ध्रुव की खोज के दौरान अग्रिम पंक्ति में थे।
– हेंसन के पदचिन्ह इस समूह में सबसे पहले उत्तरी ध्रुव पर पाए गए थे।
– हेंसन के विवरण से, वह पहले ऐसे व्यक्ति थे जो दुनिया के शीर्ष पर पहुंचे थे।

————————-
12. राष्ट्रीय लघु उद्योग निगम लिमिटेड (NSIC) के नए चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्‍टर (CMD) कौन हैं?

a. रामागुंडम
b. मनोज मिश्रा
c. अलका नांगिया अरोड़ा
d. साहू कुमार

Answer: c. अलका नांगिया अरोड़ा

– उन्होंने 14 सितंबर, 2021 को पद का अतिरिक्त प्रभार संभाला है।
– वह सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम मंत्रालय में संयुक्त सचिव हैं।
– उनके पास देश भर में विभिन्न कार्यभार संभालने का 30 वर्ष से अधिक का अनुभव है।

NSIC (National Small Industries Corporation Ltd.)
– यह एक मिनी रत्न (Mini Ratna) कंपनी है, जो भारत के सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम मंत्रालय के अंतर्गत आती है।
– MSME मंत्रालय की कई योजनाओं के लिए एक नोडल एजेंसी के रूप में काम करती है।
– संगठन नई तकनीक अपनाने के लिए MSME को सलाह देती है। लैब से जांच की सुविधाएं, प्रोडक्‍ट का डिजाइन, मशीनिंग आदि का काम करता है।
– स्‍थापना : 1955

———————–
13. अंतर्राष्ट्रीय तटीय सफाई दिवस (International Coastal Cleanup Day) कब मनाया जाता है?

a. 8 सितंबर
b. सितंबर के तीसरे शनिवार
c. 18 सितंबर
d. 13 सितंबर

Answer: b. सितंबर के तीसरे शनिवार

– वर्ष 2021 में यह दिवस 18 सितंबर को मनाया गया।
– अंतर्राष्ट्रीय तटीय सफाई दिवस का मकसद है, “कचरा कूड़ेदान में रखें, समुद्र में नहीं” (Keep trash in the bin and not in the ocean)
– उद्देश्य: महासागरों, समुद्र तटों और समुद्र तटों पर कूड़े के ढेर और ख़राब प्रभावों के बारे में लोगों को जागरूक करना है।

———————-
14. अंतर्राष्ट्रीय समान वेतन दिवस (International Equal Pay Day) कब मनाया जाता है?

a. 19 सितंबर
b. 17 सितंबर
c. 18 सितंबर
d. 16 सितंबर

Answer: c. 18 सितंबर

– इसका मुख्‍य उद्देश्य समाज के सभी वर्गों को एक समान वेतन के लिए जन जागरूकता फैलाना।

इतिहास
– संयुक्त राष्ट्र महासभा ने यह दिवस वर्ष 2019 में घोषित किया था।
– वर्ष 2020 से यह दिवस मनाया जाता है।

———————–
15. विश्व बांस दिवस की कब मनाया जाता है?

a. 15 सितंबर
b. 16 सितंबर
c. 17 सितंबर
d. 18 सितंबर

Answer: d. 18 सितंबर

– इसका उद्देश्य बांस के फ़ायदे और रोजमर्रा के उत्पादों में इसके उपयोग को बढ़ावा देने के लिए जागरूकता बढ़ाना है।
– भारत चीन के बाद बांस का दूसरा सबसे बड़ा उत्पादक देश है।
– भारत में बांस की 130 से अधिक प्रजातियां पायी जाती हैं।

इतिहास:
– World Bamboo Day मनाए जाने की घोषणा 18 सितंबर, 2009 को विश्व बांस संगठन द्वारा बैंकॉक(थाईलैंड) में आयोजित 8 वीं विश्व बांस कांग्रेस(World Bamboo Congress) में आधिकारिक रूप से गई थी।

विश्व बांस संगठन (World Bamboo Organization)
मुख्यालय: एंटवर्प (Antwerp), बेल्जियम
स्थापना: 2005


 

Free Download Notes PDF of Toady’s Current Affairs : – Click Here

Buy eBooks & PDF

 

 

About Us | Help Desk | Privacy Policy | Disclaimer | Terms and Conditions | Contact Us

©2022 Sarkari Job News powered by Alert Info Media Pvt Ltd.

Log in with your credentials

or    

Forgot your details?

Create Account