Daily Current Affairs, Current Affairs 27 January 2021, Current Affairs 27 January 2021, Current Affair 27 January 2021 Question, Current Affairs 27 January 2021, Current Affairs 27 January 2021, Current Affair 27 January 2021 Question,

यह 27 January 2021 का करेंट अफेयर्स है, जो आपके कांपटीटिव एग्‍जाम्‍स में मदद करेगा। इसका PDF Download Link इस पेज के लास्‍ट में मौजूद है। Current Affairs PDF आप इस पेज के आखिरी हिस्‍से से Free में डाउनलोड करें।

1. गलवान घाटी में चीनी सैनिकों से संघर्ष में शहीद हुए किस सैन्‍य अधिकारी को गणतंत्र दिवस 2021 को महावीर चक्र से सम्‍मानित किया?

a. कर्नल संतोष बाबू
b. कर्नल राकेश सिंह
c. कर्नल उम्‍मेद सिंह
d. कर्नल विनोद बाबू

Answer: a. कर्नल संतोष बाबू

– यह सम्मान सैनिकों और असैनिकों को असाधारण वीरता या प्रकट शूरता या बलिदान के लिए दिया जाता है।
– 16वीं बिहार रेजिमेंट के कर्नल संतोष बाबू को मरणोपरांत महावीर चक्र से सम्मानित किया है।
– इस संघर्ष में भारत के 20 सैनिक शहीद हुए थे, जिसके बाद से दोनों देशों के बीच LAC और सीमावर्ती इलाक़ों में तनाव बना हुआ है।
– भारत सरकार ने पहली बार बताया है कि उस रात को आख़िर क्या हुआ था. इससे पहले तक भारत और चीनी सैनिकों के बीच हिंसक झड़प को लेकर बहुत कम आधिकारिक जानकारी उपलब्ध थी.

– लेकिन अब कर्नल बाबू को दिए गए महावीर चक्र के साइटेशन में उस घटना का भी विवरण है, जब कर्नल बाबू ने अपनी अंतिम साँस तक अपनी टुकड़ी का नेतृत्व किया.

महावीर चक्र के साइटेशन में बताया गया है –
– कर्नल संतोष बाबू को 15 जून, 2020 को अपनी टीम 16वीं बिहार रेजिमेंट का नेतृत्व करते हुए ऑपरेशन स्नो लेपर्ड के तहत दुश्मन के सामने ऑब्जर्वेशन पोस्ट स्थापित करने की ज़िम्मेदारी दी गई थी.
– अपनी टुकड़ी को समझाते हुए और उन्हें संगठित करते हुए कर्नल बाबू ने ये काम पूरा किया.
– लेकिन अपने पोस्ट को बचाते हुए उन्हें दुश्मन की ओर से भारी विरोध का सामना करना पड़ा.
– दुश्मन ने जानलेवा और नुकीले हथियारों एवं ऊंचाई से पत्थरबाज़ी की.
– दुश्मन सैनिकों की हिंसक और आक्रामक कार्रवाई से प्रभावित हुए बिना कर्नल बाबू सर्विस को अपने से पहले स्थान देने की सच्ची भावना का उदाहरण देते हुए भारतीय सैनिकों को पीछे धकेले जाने का विरोध करते रहे.
– इस दौरान वह गंभीर रूप से घायल हो गए, लेकिन अपनी अंतिम साँस तक अपनी टुकड़ी का नेतृत्व करते रहे.”

———————————-
2. महावीर चक्र इनमें से किस वक्‍त दिए जाने वाले सम्‍मान हैं?

a. शांति काल
b. युद्ध काल
c. आपात काल
d. उपरोक्‍त सभी

Answer: b. युद्ध काल

– महावीर चक्र युद्ध काल में दिए जाने वाले वीरता पुरस्कारों में शामिल है.
– इससे पहले शौर्य दिखाने के लिए चक्र सिरीज़ के अवॉर्ड वर्ष 1999 के कारगिल युद्ध के लिए 2001 में दिए गए थे।
– भारत सरकार की ओर से चक्र सिरीज़ के वीरता पुरस्कार दिए जाने को सुरक्षा विशेषज्ञों ने काफ़ी गंभीरता से लिया है।
– इसका मतलब माना जा रहा है कि भारत, लद्दाख में चीन के साथ जारी गतिरोध को युद्ध की तरह ले रहा है.

चक्र सीरिज के कई अवार्ड होते हैं, उनमें ये हैं-

परमवीर चक्र
– परमवीर चक्र भारत का सर्वोच्च शौर्य सैन्य अवार्ड है जो दुश्मनों की उपस्थिति में उच्च कोटि की शूरवीरता एवं त्याग के लिए प्रदान किया जाता है।
– तीन जीवित विजेता – योगेंद्र सिंह यादव, बाना सिंह और राइफलमैन संजय कुमार (वर्तमान सूबेदार)।

महावीर चक्र
– यह सम्मान असाधारण वीरता या शूरता के लिए दिया जाता है।

वीर चक्र
– यह सम्मान असाधारण वीरता या शूरता के लिए दिया जाता है।

कीर्ति चक्र
– यह सम्मान असाधारण वीरता या शूरता के लिए दिया जाता है।

———————————-
3. केंद्र सरकार ने गलवान घाटी में चीनी सैनिकों से संघर्ष में वीरता दिखाने वाले किन सैनिकों को गणतंत्र दिवस 2021 को वीर चक्र से सम्‍मानित किया?

Answer:- पांच सैनिकों को वीर चक्र से सम्‍मानित किया गया।

1) 16वीं बिहार रेजीमेंट के नायब सूबेदार नुदुराम सोरेन (मरणोपरांत),
2) 81 फ़ील्ड के हवलदार के पिलानी
3) 3 मीडियम के हवलदार तेजेंदर सिंह
4) 16 बिहार के नायक दीपक सिंह (मरणोपरांत)
5) 3 पंजाब के सिपाही गुरतेज सिंह (मरोपरांत)

———————————-
4. केंद्र सरकार ने गलवान घाटी में चीनी सैनिकों से संघर्ष में वीरता दिखाने वाले किन सैनिकों को गणतंत्र दिवस 2021 को कीर्ती चक्र से सम्‍मानित किया?

Answer:-
1) 4 पैरा (एसएफ) के सूबेदार संजीव कुमार

2) 21 आरआर के मेजर अनुज सूद (मरणोपरांत),

———————————-
5. किन सैनिकों को गणतंत्र दिवस 2021 को शौर्य चक्र से सम्‍मानित किया?

Answer:-
1) 6 असम राइफल्स के राइफलमैन प्रणब ज्योति दास

2) 4 पैरा (एसएफ) के पैराट्रूपर सोनम तेसरिंग तमांग

———————————
6. भारतीय और चीनी सैनिकों के बीच जनवरी 2021 में किस जगह पर झड़प हुई, जिसमें कुछ जवानों के घायल होने की खबर है?

a. नाथुला
b. नाकुला
c. गलवान
d. पैंगोंग त्‍सो

Answer: b. नाकुला

– नाकुला सेक्टर वही जगह है, जहां 9 मई 2020 को दोनों देशों की सेनाओं के बीच झड़प हुई थी.

– अभी भीषण ठंड में भी लद्दाख में इंडिया-चाइना के बीच स्‍टैंडऑफ चल रहा है।
– अब चीन कोशिश कर रहा है कि वह और भी फ्रंट ओपन करे।
– हाल ही में खबर आई कि चीन ने अरुणाचल प्रदेश के आस-पास एक विलेज कंस्‍ट्रक्‍ट किया।
– और अब ये खबर आई है कि 20 जनवरी 2021 को चीन ने कोशिश की कि सिक्किम बॉर्डर के थ्रू घुसपैठ करें और इंडियन इलाके को कब्‍जा करें।
– लेकिन यहां पर इंडियन सोल्‍जर्स मौजूद थे और फिजिकल झड़प हुई है।
– मीडिया रिपोर्ट के अनुसार 20 चीनी सैनिक इस झड़प में घायल हुए हैं।

कहां पर यह इलाका
– सिक्किम के उत्‍तरी इलाके में नाकुला है। यह जगह चीन से इंटरनेशनल बॉर्डर शेयर करता है।
– आप नाथुला मत समझ लेना, नाथुला दूसरी तरफ है और नाकुला अलग।
– तो नाकुला के पास झड़प हुई है।
– अगर आप मैप में देखेंगे तो नाकुला के आगे चीनी इलाका सपाट जैसा दिखाई देगा। लेकिन इंडिया की तरफ पहाड़ हैं।
– नाकुला में इस वक्‍त बहुत बर्फ है, टरेन बहुत मुश्किल है। ऐसे समय में यह भी माना जा रहा है कि चीन की तरफ से घुसपैठ, कोई कोइंसिडेंस नहीं है, प्‍लांड तरीके से यह हुआ होगा।

– चीन अपनी तरफ से बहुत से टैक्टिस अपना रहा है।
– चीन और इंडिया के संबंध बेहतर होते नहीं दिख रहे हैं।
– 9th राउंड की मिलिटरी मीटिंग हो चुकी है, लेकिन कोई सॉल्‍युशन नहीं निकल पाया लद्दाख में एलएसी टेंशन को लेकर।

– लेकिन सिक्किम का मामला इतना ज्‍यादा सीरियस इश्‍यू इसलिए भी है कि यहां पर इंटरनेशनल बॉर्डर है।
– हां अरुणाचल प्रदेश को लेकर चीन क्‍लेम करता रहता है, लेकिन सिक्किम को तो चीन, इंडिया का पार्ट मानता है।

– तो अगर यहां भी झड़प स्‍टार्ट हो गई है, तो मतलब है कि वह प्रोवोग करने की कोशिश कर रहा है।

– अब यहां पर यह भी बात है कि इंडिया इन इश्‍यू को अभी भी काफी हद तक डाउनप्‍ले कर रहा है।
– अभी जो अरुणाचल प्रदेश में इंडिया की टेरेटरी है, वहां पर चीन ने विलेज बनाया।
– विलेज का हिस्‍सा चीन के कब्‍जे में 1959 से था।

– इंडिया मानता है कि वह पार्ट है रिपब्लिक ऑफ इंडिया का। फिर भी चाइना ने अचानक से पिछले कुछ महीने में वहां पर एक विलेज कंस्‍ट्रक्‍ट कर दिया।
– इंडिया ने इस पर बहुत गंभीरता नहीं दिखाई।

– जबकि सिक्किम एक प्रॉपर बॉर्डर है। यहां पर कोई डिस्‍प्‍यूट नहीं है।
– यहां पर झड़प होती है, आर्मी कहती है कि हां, बिलकुल माइनर फेसऑफ हुआ था, नाकुला के आस-पास।
– म‍गर ये प्रोटोकॉल के तहत रिजॉल्‍व कर लिया गया, लोकल कमांडर्स के स्‍तर पर।
– मीडिया से रिक्‍वेस्‍ट करते हैं कि इसे बढ़ा-चढ़ाकर न दिखाया जाए।

– तो चीन कहीं न कहीं चाहता है कि इंडिया को उल्झाकर रखे।
– इसकी वजह क्‍या है, तो रीजन सिंपल है कि
– जिस तरह की रेजिलेंसी (लचीलापन) दिखाया है लद्दाख के पास। इंडिया खड़ा है और पीछे नहीं हटा इस ठंड में भी।
– चीन नहीं चाहता है कि इंडिया और चाइना के बीच बॉर्ड इश्‍यू रिजॉल्‍व हो जाएं।

– कर्नल संतोष बाबू को महावीर चक्र दिया गया है।
– यह वॉर टाइम में अवार्ड दिया जाता है।
– वॉर टाइम में अवार्ड दिया जाता है, तो इंडिया मैसेज सेंड कर रह है चीन को।
– हम मान रहे हैं कि गलवान वैली में जो हुआ था, वह वॉर की तरह का था।

– हाल ही में इंडियन एयरफोर्स चीफ आरकेएस भदौरिया ने कहा था कि अगर चीन एग्रेसिव हो सकता है, तो हम भी एग्रेसिव हो जाएंगे, उस टाइम।

—————————–
7. गणतंत्र दिवस परेड 2021 के मुख्‍य अतिथि कौन थे?

a. बोरिस जॉनसन
b. जो बाइडन
c. वेवल रामकलावन
d. कोई नहीं

Answer: d. कोई नहीं

– 72वें गणतंत्र दिवस पर चीफ गेस्‍ट के तौर पर कोई विदेशी मेहमान नहीं थे।
– कोविड-19 की वजह से केंद्र सरकार ने ऐसा फैसला लिया था।
– इससे पहले यूनाइटेड किंगडम के प्राइम मिनिस्‍टर बोरिस जॉनसन को चीफ गेस्‍ट के तौर पर आमंत्रित किया गया था, लेकिन वहां पर कोविड-19 की वजह से लॉकडाउन के कारण उन्‍होंने भारत दौरा रद कर दिया था।
– इसके बाद भारत ने इस गणतंत्र दिवस में किसी को भी चीफ गेस्‍ट न बनाने का फैसला लिया।

– इससे पहले वर्ष 1952, 1953 और 1966 में कोई विदेशी मेहमान चीफ गेस्‍ट नहीं बना था।
– तो अब कुल चार बार ऐसे मौके आए हैं, जब रिपब्लिक डे परेड ईवेंट में कोई विदेशी मेहमान नहीं रहा।

1966 में क्‍यों नहीं थे चीफ गेस्‍ट
– इससे पहले 1966 में ऐसा हुआ था, जब गणतंत्र दिवस की परेड में कोई चीफ गेस्‍ट नहीं था।
– उस वक्‍त तत्‍कालीन प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्‍त्री का निधन ताशकंद में हो गया था और भारतीय परमाणु वैज्ञानिक होमी भाभा का निधन प्‍लेन क्रैश में हो गया था।

– दरअसल, 1965 के इंडिया-पाकिस्‍तान वॉर के बाद लाल बहादुर शास्‍त्री ताशकंद गए थे। उस समय ताशकंद सोवियत रूस (USSR) का हिस्‍सा था।
– आज के समय में ताशकंद, उजबेकिस्‍तान में है।
– 11 जनवरी को इनकी मौत हो गई। एल्‍प्‍स (स्‍विट्जरलैंड) में
– 24 जनवरी को खबर मिली की होमी भाभा का निधन हो गया।
– उनका प्‍लेन क्रैश हो गया।

– शास्‍त्री जी के निधन के बाद इंदिरा गांधी बनी प्राइम मिनिस्‍टर। ट्रांजिशन पीरियड में टाइम नहीं था कि किसी को बुला पाएं।

बिना फॉरेन चीफ गेस्‍ट चौथी बार रिपब्लिक डे परेड
– कुल तीन बार ऐसा हुआ है जब गणतंत्र दिवस की परेड में विदेशी राष्‍ट्राध्‍यक्ष चीफ गेस्‍ट के रूप में शामिल नहीं हुए।
– 1966, 1953 और 1952 में कोई फॉरेन चीफ गेस्‍ट नहीं थे।
– तो अब ऐसे ईयर की संख्‍या हो गई है चार।

– 1950 में भारत के पहले गणतंत्र दिवस की परेड में इंडोनेशिया के तत्‍कालीन प्रेसिडेंट सुकर्णो चीफ गेस्‍ट बनाए गए।
– पिछले साल 2020 में ब्राजील के प्रेसिडेंट जायल बोरल्सोनारो चीफ गेस्‍ट थे।

——————————
8. किन कानूनों के विरोध में गणतंत्र दिवस 2021 को किसानों ने दिल्‍ली में ट्रैक्‍टर मार्च निकाला, जिसका कुछ हिस्‍सा हिंसक हो गया?

a. कृषक उपज व्यापार और वाणिज्य (संवर्धन और सरलीकरण) अधिनियम, 2020
b. मूल्य आश्वासन पर किसान (संरक्षण एवं सशक्तिकरण) समझौता और कृषि सेवा अधिनियम, 2020
c. आवश्यक वस्तु (संशोधन) अधिनियम, 2020
d. उपरोक्‍त तीनों

Answer: d. उपरोक्‍त तीनों

– किसान इन कानूनों के विरोध में नवंबर 2020 से दिल्‍ली के बॉर्डर पर सड़कों पर डटे हुए हैं।
– 26 जनवरी 2021 को किसानों ने ट्रैक्‍टर मार्च निकाला। इसका एक हिस्‍सा आईटीओ और लाल किले पर पहुंच गया।
– यहां पर तोड़-फोड़ हुई। हालांकि किसान नेताओं का कहना है कि कुछ अराजकतत्‍वों की वजह से ऐसा हुआ।

क्‍या है इन कानूनों में-

कृषक उपज व्यापार और वाणिज्य (संवर्धन और सरलीकरण) अधिनियम, 2020
– यह कानून कृषि उपज विपणन समितियों (एपीएमसी मंडियों) के बाहर भी कृषि उत्पाद बेचने और खरीदने की व्यवस्था देता है।
– बड़े कारोबारी सीधे किसानों से उपज खरीद सकेंगे।
– यह कानून, राज्य सरकारों को मंडियों के बाहर की गई कृषि उपज की बिक्री और खरीद पर टैक्स लगाने से रोकता है और किसानों को लाभकारी मूल्य पर अपनी उपज बेचने की स्वतंत्रता देता है।

सरकार और किसानों का तर्क
– सरकार का कहना है कि एक देश, एक बाजार की व्‍यवस्‍था के लिए ऐसा किया गया है।
– इससे किसान अपनी उपज देश में कहीं भी, किसी भी व्यक्ति या संस्था को बेच सकते हैं।
– किसानों का कहना है कि बड़े कारोबारी सीधे किसानों से उपज खरीद सकेंगे, लेकिन ये यह नहीं बताता कि जिन किसानों के पास मोल-भाव करने की क्षमता नहीं है, वे इसका लाभ कैसे उठाएंगे?
– सरकार एक राष्ट्र, एक मार्केट बनाने की बात कर रही है, लेकिन उसे ये नहीं पता कि जो किसान अपने जिले में अपनी फसल नहीं बेच पाता है, वह राज्य या दूसरे जिले में कैसे बेच पायेगा।
– क्या किसानों के पास इतने साधन हैं और दूर मंडियों में ले जाने में खर्च भी तो आयेगा।

————————————
9. राष्ट्रीय बालिका दिवस (National Girl Child Day) कब मनाया जाता है?

a. 27 जनवरी
b. 26 जनवरी
c. 25 जनवरी
d. 24 जनवरी

Answer: d. 24 जनवरी

– इस दिन का उद्देश्य बालिकाओं की शिक्षा, स्वास्थ्य और पोषण को बढ़ावा देना और उनके अधिकारों के बारे में जागरूकता फैलाना है।
– इस दिन को वर्ष 2008 में पहली बार महिला और बाल विकास मंत्रालय और भारत सरकार द्वारा एक पहल के रूप में मनाया गया था।
– देश में लड़कियों के साथ होने वाले सभी भेद-भाव के बारे में लोगों में जागरूकता फैलाने और बालिकाओं के अधिकारों के बारे में जागरूकता को बढ़ावा देने के लिए ये मनाया जाता है।
– 24 जनवरी 1966 में इंदिरा गांधी देश की पहली महिला प्रधानमंत्री बनी थीं। यही वजह है कि सरकार ने बालिका दिवस मनाने के लिए इस खास दिन को चुना।

महिला और बाल विकास मंत्री: स्मृति जुबिन ईरानी.

———————————
10. उत्तराखंड की एक दिन की बाल मुख्यमंत्री बनने वाली छात्रा का नाम बताएं?

a. सृष्टि गोस्वामी
b. अंजलि पालीवाल
c. गरिमा सारस्‍वत
d. नेहा शर्मा

Answer: a. सृष्टि गोस्वामी

– 24 जनवरी को बालिका दिवस पर सृष्टि गोस्वामी ने एक दिन के लिए बाल मुख्यमंत्री की कुर्सी संभाली।
– वह 19 साल की हैं।
– विधानसभा के कक्ष नंबर 120 में बाल विधानसभा आयोजित की।
– जिसमें एक दर्जन विभागों ने अपनी प्रस्‍तुति दी, इसके निर्देश मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत की ओर से दिए गए थे।
– मई 2018 में बाल विधानसभा में बाल विधायकों की ओर से उनका चयन मुख्यमंत्री के रूप में किया गया था।
– बाल विधानसभा में हर तीन वर्ष में बाल मुख्यमंत्री का चयन किया जाता है।
– सृष्टि गोस्वामी बीएससी एग्रीकल्चर की छात्रा है, हरिद्वार के रुड़की में दौलतपुर गाँव में रहती है।

– बतौर मुख्यमंत्री सृष्टि गोस्वामी उत्तराखंड के विकास कार्यों की समीक्षा की।
– इसके लिए नामित विभाग के अधिकारी बाल विधानसभा में पांच-पांच मिनट अपनी प्रस्तुति दी।
– एक दिवसीय मुख्यमंत्री ने राज्य की ग्रीष्मकालीन राजधानी गैरसैण से प्रशासित किया है।
– डीआईजी, लॉ एंड ऑर्डर, नीलेश आनंद भरनी ने अपराध के रिकॉर्ड पर प्रस्तुति दी, उसके बाद गोस्वामी ने उनसे सार्वजनिक परिवहन में महिलाओं की सुरक्षा करने और स्‍कूलों के 500 मीटर के दायरे में ड्रग्स की बिक्री पर प्रतिबंध लगाने को कहा।

—————————–
11. प्रधानमंत्री राष्ट्रीय बाल पुरस्कार 2021 कितने बच्‍चों को दिया गया है?

a. 32
b. 33
c. 34
d. 35

Answer: a. 32

– महिला और बाल विकास मंत्रालय ने बताया पुरस्कार प्राप्त करने बच्‍चे वाले 21 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के 32 जिलों के हैं।
– बाल शक्ति पुरस्कार ऐसे बच्चों को दिया जाता है जो असाधारण क्षमताओं के धनी हों या जिन्हें नवाचार, शैक्षणिक, खेल, कला और संस्कृति, समाज सेवा और बहादुरी सहित विभिन्न क्षेत्रों में असाधारण पहचान मिली हो।

ये पुरस्‍कार अलग-अलग क्षेत्रों में दिए जाते हैं।
– कला और संस्कृति में – 7
– नवाचार (इनोवेशन) – 9
– शैक्षिक उपलब्धियों – 5
– खेल – 7
– बहादुरी – 3
– समाज सेवा – 1

– उपलब्धि हासिल करने वाले बच्‍चों से राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने एक संदेश में कहा, “मुझे उम्मीद है कि प्रधानमंत्री राष्ट्रीय बाल पुरस्कार, 2021 न केवल विजेताओं को प्रेरित करेगा, बल्कि लाखों अन्य छोटे बच्चों को सपने देखने, उनकी ख्वाहिश और उनकी सीमा को बढ़ाने के लिए प्रोत्साहित करेगा।

– प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 25 जनवरी 2021 को इन बच्‍चों से वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए संबोधित किया।


Free Download Notes PDF of Toady’s Current Affairs : – Click Here

Free Download One Liner MCQ PDF –  Current Affairs : – Click Here

आप यूट्यूब चैनल सरकारी जॉब न्‍यूज पर भी करेंट अफेयर्स के वीडियो को देख सकते हैं।

 


Buy eBooks & PDF

About Us | Help Desk | Privacy Policy | Disclaimer | Terms and Conditions | Contact Us

©2021 Sarkari Job News powered by Alert Info Media Pvt Ltd.

Log in with your credentials

or    

Forgot your details?

Create Account