Daily Current Affairs, Current Affairs 20 February 2021, Current Affairs 20 February 2021, Current Affair 20 February 2021 Question, Current Affairs 20 February 2021, Current Affairs 20 February 2021, Current Affair

यह 20 February 2021 का करेंट अफेयर्स है, जो आपके कांपटीटिव एग्‍जाम्‍स में मदद करेगा। इसका PDF Download Link इस पेज के लास्‍ट में मौजूद है। Current Affairs PDF आप इस पेज के आखिरी हिस्‍से से Free में डाउनलोड करें।

1. मंगल ग्रह पर नासा का हेलीकॉप्‍टर सहित पर्सविरंस रोवर फरवरी 2021 को उतरा, इसका मुख्‍य उद्देश्‍य क्‍या है?

a. प्राचीनकाल के जीवन के सबूत ढूंढना
b. मंगल पर मानव मिशन की तैयारी
c. पानी ढूंढना
d. a और b

Answer: d. a और b
प्राचीनकाल के जीवन के सबूत ढूंढना और मंगल पर मानव मिशन की तैयारी

– नासा ने 30 जुलाई 2020 को रोवर पर्सविरंस को रॉकेट के जरिए पृथ्‍वी से लांच किया था।
– सात महीने बाद यह अमेरिकी समायानुसार 18 फरवरी (भारतीय समयानुसार 19 फरवरी 2021) को मार्स के जेजेरो क्रेटर पर उतरा।
– इसमें हेलीकॉप्‍टर भी है, जिसका नाम इंजीन्‍यूटी है. यह नाम भारतीय मूल की अमेरिकी स्‍टूडेंट वनीजा रूपाणी ने रखा था।

क्‍या करेगा Perseverance
– पर्सवीरंस का मतलब दृढता।
– यह रोवर मंगल ग्रह पर एंसिएंट लाइफ (प्राचीनकाल के जीवन) के सबूत खोजेगा।
– वैज्ञानिकों के सामने सवाल है कि क्‍या प्राचीन काल में लाइफ के लिए सुटेबल कंडीशन थे।
– इसके सबूत ढूंढने की कोशिश करेगा रोवर। पता लगाएगा यह थ्‍योरी सच है या नहीं।
– रोवर प्लूटोनियम पावर का इस्तेमाल करेगा, जो करीब 10 साल चलेगी।

मार्स पर कैसे उतरा रोवर Perseverance
– लैंडिंग बहुत ही चुनौती भरा होता है।
– तो मार्स पर पर्सवीरंस लैंडिंग का तरीका कुछ इस तरह हुआ।
– इसमें स्‍काई क्रेन का इस्‍तेमाल किया गया।
– मार्स की सतह पर आने से कुछ ऊपर ही यह रोवर, स्‍काई क्रेन से केबल के जरिए लटका रहा।
– जेजेरो क्रेटर पर लैंड होते ही स्‍काई क्रेन का केबल रोवर से अलग हो गया।
– इस तरह से सेफ लैंडिंग हुई

मार्स पर कहां उतरा Perseverance रोवर
– यह रोवर मंगल ग्रह के जेजेरो क्रेटर (Jezero Crater) (गड्ढ़ा) पर उतरा।
– यह 3.5 अरब वर्ष पूर्व अस्तित्व में आई एक झील का स्थल है.
– साइंटिस्‍ट्स का मानना है कि मार्स पर अरबों साल पहले नदियां बहती थी।
– जब भी कोई एस्‍ट्रॉयड मार्स को हिट करता था, तो बड़ा गड्ढा बन जाता था, और पानी भर जाता था।
– कुछ वक्‍त बाद यह लेक (झील) में तब्‍दील हो जाता था।
– तो जेजेरो क्रेटर के साथ भी यही हुआ था।
– वैज्ञानिक इसको लेकर आश्‍वस्‍त हैं, क्‍योंकि जजेरो क्रेटर में पानी के अंदर आने का चैनल दिखाई देता है और इसके बाहर जाने का भी।
– इसका मतलब है कि यहां पहले पानी भरा होगा।
– वहां डेल्‍टा डिपॉजिट भी नजर आते हैं। डेल्‍टा तभी बनता है, जब पानी का बहाव बनता है। जैसे कि पश्चिम बंगाल के सुंदरवन में डेल्टा है, उसी तरह का।
– तो यह पॉसिबिलिटी है कि वहां पर माइक्रो ऑर्गेनिज्‍म या बैक्‍टीरिया वहां पर जीवित रहा हो।
– अगर बैक्‍टीरिया रहा होगा, तो उसके सबूत भी मिल सकेंगे।

—-
रोवर में हेलीकॉप्‍टर रहेगा
– रोवर Perseverance में ही हेलीकॉप्‍टर है, जिसका नाम इंजीन्‍यूटी है।
– पर्सविरंस, मंगल ग्रह की सतह पर हेलीकॉप्‍टर पर रखकर दूर चला जाएगा।
– इसके बाद रोवर अपने कैमरे से इंजीन्‍यूटी हेलीकॉप्‍टर की फ्लाइट देखेगा।

मंगल पर हेलीकॉप्‍टर क्‍या करेगा?
– यह हेलीकॉप्‍टर फ्लाइट बस डेमोंस्‍ट्रेशन एक्‍सपेरिमेंट है, यह देखने के लिए कि मंगल पर हेलीकॉप्‍टर उड़ाना कितना मुमकिन है।
– दरअसल, मंगल का एटमॉस्‍फेयर (वायुमंडल), पृथ्‍वी के मुकाबले काफी थिन (कम घनत्‍व का) है।
– तो हेलीकॉप्‍टर के पंखों से हवा पर वो असर देखने को नहीं मिलेगा, जो पृथ्‍वी पर मिलता है। क्‍योंकि अर्थ पर हवा की डेंस (घनत्‍व ज्‍यादा) है।
– मंगल पर भेजे जाने से पहले इसकी टेस्टिंग के लिए पृथ्‍वी पर एन्‍वायरमेंट बनाया गया था।
– जब एक्‍सपेरिमेंट सफल रहा, तो मंगल पर इसे भेजा गया है।
– यह देखने के लिए कि क्‍या यह वहां पर उड़ सकता है या नहीं।
– हेलीकॉंप्‍टर का फायदा होता है कि फील्‍ड ऑफ व्‍यू बढ़ जाता है।
– ये देखकर पता कर सकता है कि आगे कैसे काम कर सकता है।

हेलीकॉप्‍टर की लाइफ
– इस हेलीकॉप्‍टर की लाइफ 30 दिन की है, लेकिन हो सकता है कि यह आगे भी काम करे।
– इंजीन्‍यूटी हेलीकॉप्‍टर सोलर पावर से चलेगा।
– एक दिन में बस तीन मिनट ही फ्लाई कर पाएगा।
– तो तीन दिन में 1.8 किलोमीटर की उड़ान भरेगा।

हेलीकॉप्‍टर का और क्‍या मकसद
– दरअसल, इस हेलीकॉप्‍टर को भेजने का मकसद यह भी है कि भविष्‍य में जब मार्स पर ह्यूमन मिशन जाएगा, तो उसके लिए ऐसा हेलीकॉप्‍टर तैयार किया जाए, जिससे एस्‍ट्रोनॉमर मार्स में फ्लाई कर सकें।

—-
रोवर Perseverance में कौन-कौन से उपकरण?
– रोवर में कई उपकरण हैं, जो मार्स के सर्फेस की स्‍टडी में मदद करेंगे।
– इसमें कई तरह के कैमरे हैं।
– यह नासा का मिशन है, लेकिन फ्रांस, स्‍पेन और डेनमार्क ने भी कुछ इक्‍यूपमेंट दिए हैं, जो रोवर में लगाए गए हैं।
– फ्रांस का सुपर कैमरा, स्‍पेन का विंड सेंसर, और डेनमार्क का रिमफैक्‍स एंटीना।
– इस रोवर में पहली बार माइक्रोफोन लगाया गया है।
– अब तक साउंड नहीं सुना है कि मंगल पर कैसा आवाज आती है।—

रोवर Perseverance का मकसद?
– चार ऑब्‍जेक्टिव है –
i) हैबिटेबिलिटी देखना। (वहां रहा जा सकता है या नहीं। सूक्ष्‍म जीव रहे हैं या नहीं।)
ii) बायो सिग्‍नेचर तलाशना – कुछ खास चट्टानें, जिनमें सूक्ष्‍म जीव के अंश हों।
iii) सैंपल इकट्ठा करना – पहली बार ड्रिल मैकेनिज्‍म किया जा रहा है। यह रोवर चट्टान का ड्रिल करके सैंपल एक ट्यूब में रखेगा। ताकि भविष्‍य में कोई मिशन जाकर उसे ला सके।
iv) ह्यूमन मिशन की तैयारी करना – अगर ह्यूमन वहां जाते हैं, तो ऑक्‍सीजन की जरूरत होगी।
– पृथ्‍वी से सीमित मात्रा में ही ऑक्‍सीजन ले जाया जा सकता है।
– ऐसे में साइंटिस्‍ट यह तरीका खोज रहे हैं, जिससे मंगल पर ही ऑक्‍सीजन बन जाए।

क्‍या है मौक्‍सी (MOXIE)- Mars Oxygen ISRU Experiment?
– सारे साइंस इंस्‍ट्रूमेंट में से सबसे ज्‍यादा ध्‍यान खींचने वाली है मौक्‍सी (MOXIE)- Mars Oxygen ISRU Experiment
– दरअसल, मंगल के वातावरण में पाई जाने वाली गैसों में 96 प्रतिशत कार्बन डाई ऑक्‍साइड होती है।
– ऑक्‍सीजन नाम मात्र की होती है। मात्र 0.1 प्रतिशत
– तो इस एक्‍सपेरिमेंट के जरिए कार्बन डाइऑक्‍साइड के जरिए ऑक्‍सीजन बनाने की कोशिश की जाएगी।
– कार्बन डाई ऑक्‍साइड का स्‍ट्रक्‍चर ऐसा होता है कि उसमें कार्बन का एटम होता और साइड में दो ऑक्‍सीजन का एटम होता है।
– तो अगर ऑक्‍सीजन के दो एटम्‍स को अलग कर लिया जाए, कार्बन डाई ऑक्‍साइड से तो इन दोनों को जोड़कर ऑक्‍सीजन बनाया जात सकता है।
– O2 का मॉल्‍यूकुल बनाया जाए।

– पृथ्‍वी पर पेड़-पौधे जो काम करते हैं ऑक्‍सीजन बनाने का, वही काम मौक्‍सी के जरिए साइंटिस्‍ट मंगल पर करना चाहते हैं।


मिशन की लागत
– यह बहुत ही महंगा मिशन है।
– लांच करने की कॉस्‍ट, रोवर, हेलीकॉप्‍टर बनाने की कॉस्‍ट जोड़ें, तो नासा ने 2.4 बिलियन डॉलर (लगभग 18 हजार करोड़ रुपए) खर्च किए हैं।
– अगर मिशन ऑपरेशन के खर्च को भी जोड़ लें, तो यह 2.8 से 2.9 बिलियन डॉलर तक चला जाता है।
– इंडिया का मार्स ऑर्बिटर मिशन है, जो अभी भी काम कर रहा है, उसका मात्र 500 करोड़ बजट था।
– तो डिफरेंस काफी ज्‍यादा है।

——————————–
2. पुदुचेरी की नई उप-राज्‍यपाल कौन हैं?

a. आर लक्ष्‍मी
b. किरण बेदी
c. द्रौपदी मुर्मू
d. तमिलसाई सौंदरराजन

Answer: d. तमिलसाई सौंदरराजन

– राष्‍ट्रपति ने तेलंगााना के राज्‍यपाल डॉ. तमिलिसाई सौंदरराजन को पुदुचेरी के उपराज्‍यपाल का अतिरिक्‍त कार्यभार सौंपा है।
– इससे पहले 16 फरवरी को राष्‍ट्रपति ने किरण बेदी को लेफ्टिनेंट गवर्नर पद से हटा दिया।
– पुदुचेरी विधानसभा के अगले कुछ महीनों में चुनाव होने वाले हैं।
– इस केंद्र शासित प्रदेश में कांग्रेस की सरकार है और मुख्‍यमंत्री वी. नारायणस्‍वामी हैं।
– कई कांग्रेस विधायकों ने इस्‍तीफा दे दिया है और सरकार संकट में है।
– मौजूदा विधानसभा का कार्यकाल 21 जून को 2021 को खत्‍म होगा।
– लेकिन इससे पहले नई उप-राज्‍यपाल ने राज्‍य सरकार से विधानसभा में बहुमत साबित करने को कहा है।

पुदुचेरी
– यह केंद्र शासित प्रदेश कई हिस्‍सा में है।
– एक हिस्‍सा तमिलनाडु, दूसरा आंध्र प्रदेश और तीसरा केरल से लगा हुआ है।
– राजधानी – पुदुचेरी
– सीएम – वी. नारायणस्‍वामी
– उपराज्‍यपाल – तमिलसाई सौदरराजन

———————————
3. किस धावक (Athletes) को असम सरकार ने फरवरी 2021 में डीएसपी नियुक्‍त किया?

a. दुती चंद
b. हिमा दास
c. सुधा सिंह
d. रिमा दास

Answer: b. हिमा दास

– असम सरकार ने इसके लिए एकीकृत खेल नीति में संशोधन किया है।
– सीएम सर्बानंद सोणेवाल ने कहा कि हिमा दास को डीएसपी के रूप में नियुक्‍त किया गया है।
– हिमा दास ओलंपिक, एशियाई खेल, राष्ट्रमंडल खेल और विश्व चैंपियनशिप वरिष्ठ के पदक विजेता हैं।
– खेल मंत्री किरण रिजीजू ने कैबिनेट के इस फैसले का स्‍वागत किया।
– हिमा दास असम के नगांव जिले के धिंग गांव की रहने वाली है।
– हिमा दास ने वर्ष 2019 में 5 गोल्‍ड मेडल जीते थे।

असम
सीएम – सर्बानंद सोणेवाल
गवर्नर – जगदीश मुखी
राजधानी – दिसपुर

———————————-
4. पूर्व राज्‍यपाल एम. रामा जोइस का निधन 16 फरवरी 2021 को हो गया, वह किस राज्‍य के राज्‍यपाल रहे थे?

a. बिहार
b. झारखंड
c. महाराष्‍ट्र
d. a और b दोनों

Answer: d. a और b दोनों

– एम. रामा जोइस हरियाणा और पंजाब उच्‍च न्‍यायालय के मुख्‍य न्‍यायाधीश भी रहे हैं।
– वह इंडिया के सुप्रीम कोर्ट में सीनियर एडवोकेट भी थे।
– वह एक लेखक भी थे उनके द्वारा कई किताबे भी लिखी गई हैं।
– उनके निधन के दिन बिहार सरकार ने उनके सम्‍मान में एक दिन का राजकीय शोक घोषित कर दिया था।
– एम. रामा जोइस 89 साल के थे, 27 जुलाई 1931 को इनका जन्‍म हुआ था।

बिहार
राज्‍यपाल: फागु चौहान
राजधानी

झारखंड
राज्‍याल : द्रौपदी मुर्मू
राजधानी: रांची

———————————-
5. कोविड-19 महामारी को देखते हुए हरिद्वार कुंभ की अवधि को 48 दिन से घटाकर कितने दिन कर दिया है?

a. 35 दिन
b. 40 दिन
c. 20 दिन
d. 30 दिन

Answer: d. 30 दिन

– इस साल हरिद्वार महाकुंभ की शुरूआत 1 अप्रैल से होगी और 30 अप्रैल को समाप्‍त होगा।
– पहले इसकी शुरूआत 27 फरवरी से होनी थी, लेकिन कोरोना की वजह से अवधि को चेंज कर दिया गया है।
– पहली बार इस मेले की अवधि को कम किया गया है।

कितने और कब होंगे शाही स्‍नान-
– पहले शाही कुंभ मेले के समय 4 शाही स्‍नान होते थे।
– लेकिन कोरोना के कारणअवधि कर दिया गया है, इसलिए 2021 कुंभ में 3 शाही स्‍नान होंगे।
– पहला शाही स्‍नान 12 अप्रैल को होगा (सोमवती अमावस्‍या के दिन)
– दूसरा शाही स्‍नान 14 अप्रैल को होगा (बैसाखी के दिन)
– तीसरा शाही स्‍नान 27 अप्रैल को होगा (पूर्णिमा के दिन)

मेले के दौरान जरूरी गाइडलाइन-

– इस कुंभ मेले में आने वाले हर एक व्‍यक्ति को 72 घंटे पहले की नेगेटिव कोविड RT-PCR रिपोर्ट दिखाना होगा।
– महाकुंभ मेला, 2021 वेब पोर्टल पर अपना रजिस्ट्रेशन (Registration) करवाना होगा।
– जिसका इस वेब पोर्टल पर रजिस्‍ट्रेशन नही होगा उसे एंट्री नही मिलेगी।
– इसके साथ ही थर्मल स्‍क्रीनिंग और मास्‍क का उपयोगी भी करना होगा।

भारत में कुंभ का महत्‍व-
– यहां 12 साल के बाद चार जगहों पर कुंभ का आयोजन होता है।
– कुंभ तीन प्रकार का होता है,

1- पूर्ण कुंभ मेला
2- अर्ध कुंभ मेला
3- कुंभ मेला

———————————-
6. “ईरान-रूस समुद्री सुरक्षा क्षेत्र 2021” नामक नौसेना अभ्‍यास कहां आयोजित किया गया?

a. हिंद महासागर के दक्षिणी हिस्से
b. हिंद महासागर के उत्तरी हिस्से
c. हिंद महासागर के पश्चिमी हिस्से
d. हिंद महासागर के पूर्वी हिस्से

Answer: b. हिंद महासागर के उत्तरी हिस्से (northern part of the Indian Ocean.)

– वर्ष 2019 के बाद रूस-ईरान दूसरी बार संयुक्‍त अभ्‍यास कर रहे हैं।
– सन् 2019 में चीन ने भी इस चार दिवसीय अभ्‍यास में भाग लिया।
– आपको बता दें कि डोनाल्‍ड ट्रंप ने वर्ष 2018 में अमेरिका को इस समझौते से बाहर कर लिया था।
– लेकिन हाल ही में बने अमेरिका के नए राष्‍ट्रपति जो बाइडन ने ने कहा कि-
– ईरान के साथ हुए परमाणु समझौते में अमेरिका फिर से शामिल होगा।
– इस अभ्‍यास ने 17 हजार स्‍क्‍वायर किलोमीटर (6,500 वर्ग मील) के हिस्‍से को कवर किया है।

Note:
– पहले कुछ न्‍यूज चैनलों ने बताया कि इस अभ्‍यास में भारत भी शामिल हो रहा है।
– लेकिन इंडियन नेवी ने इसका खंडन किया और कहां कि भारत इसमें शामिल नही होगा।

(“ईरान-रूस समुद्री सुरक्षा क्षेत्र 2021”
“Iran-Russia Maritime Security Belt 2021”)

———————————-
7. इटली के नए प्रधानमंत्री कौन हैं?

a. मारियो द्राघी
b. केरिन सेट्रा
c. इवोक रामोंजी
d. विफ्रोन द्राघी

Answer: a. मारियो द्राघी

– वह यूरोपियन सेंट्रल बैंक के प्रमुख रह चुके हैं।
– इटली पहले ही आर्थिक संकट से जूझ रहा था, कोरोना ने इस संकट को और गंभीर बना दिया है।
– इटली यूरोपियन यूनियन के तहत जर्मनी और फ्रांस के बाद तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है।
– इटली यूरोपियन यूनियन के अनुसार जर्मनी और फ्रांस के बाद तीसरी सबसे बड़ी Economy है।
– इटली में कोरोना माहामारी से 93000 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है।

———————————-
8. प्राचीन कंचोथ उत्‍सव किस केंद्र शासित प्रदेश में मनाया जाता है?

a. लद्याख
b. जम्‍मू-कश्‍मीर
c. दिल्‍ली
d. पुदुचेरी

Answer: b. जम्‍मू-कश्‍मीर

– यह जम्‍मू कश्‍मीर के चिनाब घाटी में हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है।
– यह त्‍योहार मुख्‍य रूप से नाग अनुयायियों के द्वारा मनाया जाता है।
– जिनका मानना है कि इस दिन भगवान शिव और देवी पार्वती का विवाह हुआ था।
– यह त्‍योहार प्राचीन नाग संस्‍कृति का प्रतीक होता है।

जम्‍मू-कश्‍मीर
लेफ्टिनेंट गवर्नर: मनोज सिन्‍हा

———————————-
9. विश्‍व रेडियो दिवस कब मनाया जाता है?

a. 12 February
b. 13 February
c. 14 February
d. 15 February

Answer: b. 13 February

हर साल 13 फरवरी को रेडियो को एक पावरफुल तरीके के रूप में मान्‍यता देने के लिए मनाया जाता है।
विश्‍व रेडियो दिवस 2021 की थीम:- “New World, New Radio” है।

———————————-
10. IPL में 150 करोड़ रुपये से ज्‍यादा कमाने वाले पहले क्रिकेटर कौन बने?

a. MS Dhoni
b. Rohit Sharma
c. Virat kohli
d. Suresh Raina

Answer: a. MS Dhoni

– 150 करोड़ रुपये से ज्‍यादा कमाने वाले धोनी पहले और अकेले क्रिकेटर बन गए है।
– आईपीएल में अभी तक किसी ने भी इतना पैसा नही कमाया गया है।
– आपको बता दें कि यह रकम सिर्फ आईपीएल में कमाई गई है।
– एम. एस. धोनी भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्‍तान और IPL टीम ‘चेन्‍नई सुपर किंग्‍स’ (CSK) के कप्‍तान (प्‍लेयर्स) हैं।
– धोनी 2008 से CSK टीम की कप्‍तानी कर रहे हैं।
– आपको बता दें कि धोनी का वेतन 15 करोड़ रुपये है।
– धोनी 2018 से इतना पैसा कमा रहे है, इसके अलावा इंडियन टीम के खि खिलाड़ी रोहित शर्मा भी IPL में 15 करोड़ रुपये सीजन कमा रहें है।
– 2008 के सीजन में धोनी सबसे बड़े और सबसे महंगे खिलाड़ी थे।
– उस समय टीम CSK द्वारा धोनी को 6 करोड़ रुपये में खरीदा था।
– इसके बाद 2011 में BCCI ने रिटेंशन की राशि बढ़ाकर 8 करोड़ कर दी।
– वर्ष 2011 से 2013 के मध्‍य धोनी को 8.28 करोड़ रुपये सैलरी मिली।
– ऐसे ही साल 2014 और 2015 में धोनी ने आईपीएल से 12.5 करोड़ रुपये के हिसाब से कमाई की।
– आपको पता होगा कि CSK की टीम पर 2016 और 2017 में बैन लगा दिया था।
– इसके बाद धोनी नई टीम राइजिंग पुणे सुपरजाइंट्स के साथ खेले थे।
– उस सीजन में उनकी सैलरी 25 करोड़ रुपये थी।


Free Download Notes PDF of Toady’s Current Affairs : – Click Here

Free Download One Liner MCQ PDF –  Current Affairs : – Click Here

आप यूट्यूब चैनल सरकारी जॉब न्‍यूज पर भी करेंट अफेयर्स के वीडियो को देख सकते हैं।

 


Buy eBooks & PDF

About Us | Help Desk | Privacy Policy | Disclaimer | Terms and Conditions | Contact Us

©2021 Sarkari Job News powered by Alert Info Media Pvt Ltd.

Log in with your credentials

or    

Forgot your details?

Create Account