Daily Current Affairs, Current Affairs 2 September, Current Affair 2 September 2020, 2 September Current Affairs Question, 2 September Current Affairs 2020, 2 September Current Affairs 2020

यह 2nd September 2020 का करेंट अफेयर्स है, जो आपके कांपटीटिव एग्‍जाम्‍स में मदद करेगा। इसका PDF Download Link इस पेज के लास्‍ट में मौजूद है। Current Affairs PDF आप इस पेज के आखिरी हिस्‍से से Free में डाउनलोड करें।

1. Indian Army ने लद्दाख में किस जगह चीनी सेना के सर्विलांस कैमरे तोड़ दिए और कब्‍जे की कई कोशिशें नाकाम की?

a. टाइगर हिल
b. ब्‍लैक टॉप
c. चुमार
d. डेपसांग

Answer: b. ब्‍लैक टॉप

– यह घटना 20-30 अगस्‍त की रात की है। चीनी पीएलए ने लद्दाख में पैंगोंग त्‍सो झील के साउथर्न पार्ट में मौजूद ब्‍लैक टॉप पहाड़ी पर सर्विलांस कैमरा तैनात कर दिया था।
– चीनी सेना तीन बार कब्‍जा करने की कोशिश कर चुकी है और इंडियन आर्मी ने पीछे धकेल दिया।
– इसके बाद चीनी और इंडिया के टैंक आमने-सामने तैनात हैं।

– तो लद्दाख में यह पहाड़ी कहां पर है, यह घटना कैसे हुआ, किस तरह चीनी सेना को पीछे धकेला गया, यह सब 3D मैप के जरिए बताते हैं।

—-
सबसे पहले जानते हैं इंडिया-चाइना सीमा विवाद?
– 1962 के युद्ध के बाद एक लाइन खींची गई, जिसे LAC (लाइन ऑफ एक्‍चुअल कंट्रोल) कहा गया।
– इसके इधर, भारतीय कंट्रोल का हिस्‍सा और दूसरी ओर चीन का कंट्रोल है।
– एलएसी भी पूरी तरह तय नहीं है। भारत का दावा है कि LAC 3,488 किलोमीटर लंबा है, लेकिन चीन इसे लगभग 2000 किलोमीटर मानता है।
– लद्दाख का ये वाला हिस्‍सा चीन के कब्‍जे में है।
– दोनों सेनाएं अपने-अपने दावे के अनुसार पेट्रोलिंग करती हैं।
– कुछ जगहों पर इंडियन आर्मी और चाइनीज PLA के बीच मई से ही स्‍टैंड ऑफ है। जैसे – पैंगोंग त्‍सो लेक, डेपसांग प्‍लेंस।

पैंगोंग त्‍सो लेक का ताजा विवाद-
– लद्दाख में पैंगोंग त्‍सो लेक है।
– इसकी लंबाई 145 किलोमीटर है और चौड़ाई ज्‍यादातर हिस्‍से की छह किलोमीटर है।
– यह एक ब्रैकेश वाटर लेक (खारे पानी की झील) है।
– लेकिन इसका ज्‍यादातर हिस्‍सा चीन के कंट्रोल में है।
– इंडिया के कंट्रोल में ओनली 45 किलोमीटर है। जबकि चीन के कंट्रोल में 90 किलोमीटर का एरिया है।
– भारतीय सीमा तो काफी दूर तक है, लेकिन 1962 के वॉर में हमने इसका बड़ा हिस्‍सा खो दिया था।
– इसी लेक में फिंगर एरिया है। यहां पर पहाड़ फिंगर के शेप में हैं।
– इंडिया का मानना है कि LAC फिंगर आठ से गुजरती है, जबकि चीन का कहना है कि LAC फिंगर दो से गुजरती है।
– भारत का पोस्‍ट है फिंगर 4 पर।
– चीन घुसपैठ करके फिंगर 5 में बैठा हुआ है।
– बातचीत चल रही है, लेकिन वह हट नहीं रहा है।

ब्‍लैक टॉप कहां है और यहां पर क्‍या हुआ?
– तो पैंगोंग त्‍सो लेक के सामने यानी साउथ साइड में है।
– इसी सादड में से एक पहाड़ी के ऊपरी हिस्‍से का नाम है ब्‍लैक टॉप या काला टॉप।
– द हिन्‍दू और इंडियन एक्‍सप्रेस ने जो लोकेशन दी है वह यहीं की है। चुशूल, रेजांग ला और पैंगोंग त्‍सो लेक के पास मेा।
– तो इस पहाड़ी को लेकर इंडिया और चाइना में डिस्‍प्‍यूट है।
– वहां पर चीनी सैनिकों ने कैमरे और कई इक्‍यूपमेंट लगा दिए थे।
– ताकि पूरी नजर रखी जा सके।

पहाड़ी के सामने इंडियन आर्मी- 
– वैसे तो यहां से पूरा इलाका वीरान दिख रहा है।
– लेकिन जूम करके दिखाते हैं, ठीक सामने तीन जगह पर इंडियन आर्मी और ITBP का सेंटर है।
– ये रहा रेजांगला वॉर मेमोरियल है।
– यहां पर 1962 युद्ध हुआ था और इंडियन आर्मी ने चीन के कब्‍जे से इलाके को छीना था।

– इसके बगल में चुशूल एयरस्ट्रिप है। यहां आर्मी के प्‍लेन उतरते हैं।
– इसके कुछ किलोमीटर पर यहां आईटीबीपी का चुशूल बेस है। जिसमें इंडियन आर्मी भी कैंप करती है।
– यहां पर आपको चुशूल लिखा हुआ दिख रहा होगा।

– तो युद्ध में सबसे इंपॉर्टेंट होता है इंफॉर्मेशन।
– अगर दुश्‍नम चीन के पास इंफॉर्मेशन हो जाए, कि यहां क्‍या गतिविधि चल रही है, कितने प्‍लेन आ रहे हैं, कितने सैनिक हैं।

– चीनी सेना ने पहले तो ब्‍लैक टॉप पहाड़ी पर कैमरा और इक्‍यूपमेंट लगाए।
– इंटेलिजेंस सोर्सेज ने यह सूचना इंडियन आर्मी को दे दी।
– इंडिया ने भी अपने सर्विलांस कैमरे इसके आस-पास लगाए हुए हैं।
– इंडिया को 29 और 30 अगस्‍त की रात को यह पता चला कि चीन यहां पर अपनी मिलिटरी बड़े पैमाने पर तैनात करने वाला है पूरी तरह से कब्‍जा करने की तैयारी है।
– तो इंडिया ने चीन को चौंकाते हुए पहले ही अपने सोल्‍जर्स इस एरिया के आस-पास भेज दिए।
– आज के समय में इंडिया के सोल्‍जर्स यहां पर डिप्‍लॉड हैं।
– इंडिया ने चौंकाते हुए वहां जाकर चीनी कैमरे और इक्‍यूपमेंट तो उखड़ डाला।
– इस ब्‍लैक टॉप पोस्‍ट पर इंडियन आर्मी ने कब्‍जा कर लिया।
– इसके आस-पास की पहाड़ी पर भी आर्मी तैनात कर दी गई है।
– इसी जगह का इस्‍तेमाल चीन ने 1962 के युद्ध में किया था।
– इसलिए यह बहुत स्‍ट्रैटेजिक लोकेशन है। भविष्‍य के लिए भी।
– अब इंडिया की पोस्‍ट ऊंचाई पर तो हम यहां से चीन पर नजर रख सकते हैं।


चीन का रिएक्‍शन?
– चाइना यह देखकर बिलकुल खुश नहीं है।
– चीन ने इंडिया के अगेंस्‍ट में टैंक डिप्‍लॉय कर दिए हैं यहां पर।
– इंडिया ने भी इसके रेस्‍पांस में टैंक तैनात कर दिए हैं।
– इंडियन आर्मी ने T90 टैंक को चीनी आर्मी कैंप और चीनी टैंकों की ओर मोड़ रखा है।
– भारतीय सेना ने अतिरिक्त सैनिकों को तैनात कर, टैंक और एंटी टैंक गाइडेड मिसाइलों सहित अधिक हथियार लाने के लिए पैंगोंग झील के दक्षिण क्षेत्र के आसपास अपनी उपस्थिति को और तेज कर दिया है।

चीन ने सेना भेजकर ब्‍लैक टॉप पर कब्‍जे की कोशिश की-
– इंडियन मिनिस्‍ट्री ऑफ एक्‍सटर्नल अफेयर्स (विदेश मंत्रालय) ने कहा है कि 31 अगस्‍त को चीन ने फिर कोशिश की, कि वह ब्‍लैक टॉप को कैप्‍चर कर लें।
– लेकिन यहां पर इंडियन सोल्‍जर्स तैनात थे।
– हमने चाइनीज सोल्‍जर्स को पुशबैक कर दिया।
– इंडिया का मेन इश्‍यू है कि चीन ने यहां पर स्‍टेटस को चेंज करने की कोशिश की फोर्सफुली।
– यह तब हुआ जब इंडिया और चाइना के बीच ब्रिगेडियर लेवेल की बातचीत चल रही थी तब।

अब चीन ने क्‍या कहा?
– चीन ने कहा है कि इंडिया ने LAC (लाइन ऑफ एक्‍चुअल कंट्रोल) क्रॉस कर दी है।
(न्‍यूज – इंडियन एक्‍सप्रेस – ब्‍लॉक्‍ड बाइ आर्मी एट पैंगोंग त्‍सो, चाइना क्‍लेम्‍स इंडिया डिस्‍टर्बिंग बॉर्डर पीस. दी हिनदू की भी न्‍यूज)
– चाइना एंग्री है इंडिया से कि इंडिया ने कैसे बड़ा एरिया कैप्‍चर कर लिया।
– कहा है कि इंडियन आर्मी ने इलीगली LAC को क्रॉस कर लिया है।
– अब चीन डिप्‍लोमेटिक लेवेल पर यह इश्‍यू उठा रहा है कि इंडिया यहां पर अग्रेशन दिखा रहा है अगेंस्‍ट चाइना।

– इधर, अमेरिका के उपविदेश मंत्री ने कहा है कि इंडिया, जापान, ऑस्‍ट्रेलिया और अमेरिका को नाटो की तरह एक संधि करनी चाहिए।
– जिसमें अगर इनमें से कोई भी देश पर अगर कोई अदर कंट्री हमला करता है तो यह चारों यानी अमेरिका, जापान, ऑस्‍ट्रेलिया और इंडिया पर हमला माना जाएगा।
– इसके बाद चीन के सरकारी अखबार ग्‍लोबल टाइम्‍स ने कहा है कि अगर युद्ध होता है, तो अमेरिका भी नहीं बचा पाएगा।

———————————–
2. किस देश ने भारत के 1000 वर्ग किलोमीटर पर पिछले कुछ महीनों में नियंत्रण हासिल कर लिया है?

a. पाकिस्‍तान
b. चीन
c. बांग्‍लादेश
d. भूटान

Answer: b. चीन

– द हिन्‍दू ने यह खबर पब्लिश की है 31 अगस्‍त को। द हिन्‍दू ने इसका अपडेट भी जारी किया 1 सितंबर को।
– इस न्‍यूज में सीनियर गवर्नमेंट ऑफीशियल के हवाले से कहा गया है कि चीन ने हाल के महीनों में भारतीय दावे वाले 1000 वर्ग किलोमीटर इलाके पर नियंत्रण हासिल कर लिया है।
– दरअसल, मई से ही लद्दाख में कई जगहों पर इंडियन और चाइनीज आर्मी के बीच स्‍टैंडऑफ देखने को मिल रहा है।
– तो रिपोर्ट के अनुसार डेपसांग प्‍लेंस में ही पेट्रोलिंग प्‍वाइंट 10 से 13 तक चीनी सेना का 900 स्‍क्‍वायर किलोमीटर का कब्‍जा हो गया है।

– इसी जगह पर इंडियन पेट्रोलिंग प्‍वाइंट पर इंडियन सोल्‍जर्स को ही चीन नहीं जाने दे रहा है।
– द हिन्‍दू के अनुसार यहां 900 स्‍क्‍वायर किलोमीटर जमीन पर ताजा कब्‍जा हुआ है चीन के द्वारा।

– इसके अलावा गलवान वैली से पिछले दिनों चीनी सेना पीछे हटी थी, लेकिन अभी भी LAC के भारतीय दावे के अनुसार 20 स्‍क्‍वायर किलोमीटर का अभी भी कब्‍जा है।

– हॉट स्प्रिंग गोगरा में भी 12 स्‍क्‍वायर किलोमीटर चीनी नियंत्रण में है।

– इसके अलावा पैंगोंग त्‍सो लेक के उत्‍तरी किनारे में फिंगर एरिया में भी चीन ने 65 स्‍क्‍वायर किलोमीटर का कब्‍जा किया है।

– इसके पास में ही चुशूल में 20 क्‍वायर किलोमीटर पर भी चीनी सेना ने नियंत्रण कर लिया है।

– दोनों देशों के टॉप सैन्‍य कमांडर के बीच बातचीत, डिप्‍लोमेटिक बातचीत के बावजूद सेनाओं का स्‍टैंडऑफ जारी है।

———————————–
3. रक्षा मंत्रालय ने छह सैन्य रेजीमेंट के लिए पिनाका रॉकेट लॉन्चर खरीदने को लेकर घरेलू रक्षा कंपनियों के साथ कितने करोड़ का समझौता किया है?

a. 2080 करोड़ रुपए
b. 3080 करोड़ रुपए
c. 2280 करोड़ रुपए
d. 2580 करोड़ रुपए

Answer: d. 2580 करोड़ रुपए

– लद्दाख में चीन की घुसपैठ की साजिश के बीच सेना को मजबूत करने के लिए ये करार किया गया है।
– इसके लिए 31 अगस्‍त को टाटा पावर कंपनी लिमिटेड (टीपीसीएल) और लार्सन एंड टूब्रो (एल एंड टी) के साथ कांट्रैक्‍ट पर दस्तखत किए हैं।
– रक्षा क्षेत्र के सरकारी उपक्रम भारत अर्थ मूवर्स लिमिटेड (बीईएमएल) को भी इस परियोजना का हिस्सा बनाया गया है।

चीन-पाकिस्तान सीमा पर तैनात होंगे-
– अफसरों ने बताया कि पिनाका रेजीमेंट को चीन-पाकिस्तान के साथ लगी भारतीय सीमा पर तैनात किया जाएगा।
– बीईएमएल ऐसे वाहनों की आपूर्ति करेगी जिस पर रॉकेट लॉन्चर को रखा जाएगा।
– 6 पिनाका रेजीमेंट में ‘ऑटोमेटेड गन एमिंग एंड पोजिशनिंग सिस्टम’के साथ 114 लॉन्चर, 45 कमान पोस्ट भी होंगे।
– मिसाइल रेजीमेंट का संचालन 2024 तक शुरू करने का प्‍लान है।

कारगिल में दिखा था पिनाका-
– कारगिल की जंग में पिनाका का इस्तेमाल किया गया था।
– इसका निशाना अचूक बनने के बाद इसका इस्तेमाल सीमा पार सर्जिकल स्ट्राइक में भी किया जा सकता है।
– इसकी एक बैटरी में 6 लॉन्चर होते हैं।
– और हर एक लॉन्चर व्हीकल में 12 रॉकेट लगे होते हैं।
– 12 रॉकेट्स में एक टन से ज्यादा विस्फोटक होता है।
– ये रॉकेट तीन स्क्वायर किमी एरिया में तबाही मचा सकते हैं।
– पिनाका का एक लॉन्चर 44 सेकेंड में 12 रॉकेट के हमले से दुश्मन के खेमे में खलबली मचा सकता है।

——————————–
4. भारत किस देश में होने वाले बहुपक्षीय युद्धाभ्यास ‘कावकाज-2020’ में जाने से मना कर दिया?

a. चीन
b. रूस
c. अमेरिका
d. मलेशिया

Answer: b. रूस

– यह एक्सर्साइज ट्राई सर्विस (आर्मी, नेवी, एयरफोर्स) रूस के अस्त्रखान में 15 से 26 सितंबर तक होनी है।
– दरअसल, रूस ने भारत और चीन दोनों देशों को इसका निमंत्रण दिया है।
– जबकि लद्दाख में लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल पर भारत और चीन की सेनाएं आमने-सामने हैं।
– गतिरोध लंबे समय से चल रहा है।
– ऐसे में भारत ने 29 अगस्‍त को इस एक्सर्साइज में जाने से मना कर दिया।
– भारत नहीं चाहता कि एलएसी में तनाव के बीच भारत के सैनिक चीन के साथ एक्सर्साइज करें।

– इस एक्सर्साइज के लिए शंघाई कोऑपरेशन ऑर्गनाइजेशन (एससीओ) के देशों के अलावा ईरान, टर्की सहित करीब 18 देशों को शामिल होने के लिए न्योता भेजा गया है।

एससीओ क्‍या है-
– आठ देशों का संगठन है जिसमें भारत और पाकिस्तान 2018 में फुल मेंबर बने हैं।
– एससीओ में चीन, रूस, कजाकिस्तान, किर्गिस्तान, तजाकिस्तान और उजबेकिस्तान शामिल हैं।

———————————
5. कोरोना महामारी के दौरान संसद का मानसून सत्र कब से होगा?

a. 14 सितंबर
b. 10 सितंबर
c. 20 सितंबर
d. 11 सितंबर

Answer: a. 14 सितंबर

– लोकसभा सचिवालय ने 31 अगस्‍त को इसके लिए नोटिफिकेशन जारी कर दिया है।
– मानसून सत्र के 1 अक्टूबर तक चलने की उम्मीद है।
– लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने कहा कि सांसद, मंत्रालयों के अधिकारी, मीडिया प्रतिनिधि और लोकसभा-राज्यसभा के स्टाफ समेत संसद में आने वाले हर व्यक्ति की कोरोना जांच होगी।
– नोटिफिकेशन ने बताया गया कि राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने लोकसभा को 14 सितंबर को सुबह 9 बजे बुलाया है।
– राज्यसभा के भी इसी दिन अगल समय पर चलने की उम्मीद है।
– इस बार बिना किसी छुट्टी या वीकेंड ब्रेक के कुल 18 बैठकें होगीं।
– इस बार एक सदन सुबह और दूसरा शाम को चलेगा।

कोरोना की वजह से रोकना पड़ा बजट सत्र-
– संसद के अंतिम बजट सत्र को कोरोना की वजह से बीच में ही रोकना पड़ा था।
– और दोनों सदनों को 23 मार्च को स्थगित कर दिया गया था।

ऐसी हो सकती है व्यवस्था-
– गैलेरी की सीट्स को कंसोल्स के साथ फिट किया जा रहा है।
– प्ले-कार्ड्स राज्यसभा की गैलेरी में पार्टियों को इंडीकेट करेंगे।
– दोनों सदनों को जोड़ने के लिए स्पेशल केबल होगा।
– जिससे कार्यवाही के ऑडियो-विजुअल बिना देरी के दोनों हाउस के बैठे मेंबर्स तक पहुंचे।
– राज्यसभा की ऑफिशियल्स गैलेरी को चेंबर से अलग करने के लिए पॉलीकार्बोनेट शीट्स का इस्तेमाल किया जाएगा।

————————————-
6. लेबनान के नए प्रधानमंत्री के तौर पर किसे नामित किया गया है?

a. नजीब मिकाती
b. हरीरी मिकानो
c. आदिल हुसैन
d. मुस्तफा अदीब

Answer: d. मुस्तफा अदीब

– आदिब को चार पूर्व लेबनान प्रधानमंत्रियों ने पद के लिए अपनी पसंद के तौर पर नामित किया है।
– अदीब को कथित तौर पर पूर्व प्रधानमंत्री साद अल-हरीरी का समर्थन भी प्राप्त है।
– दरअसल, अगस्‍त में लेबनान की राजधानी बेरूत में अमोनियम नाइट्रेट से हुए धमाके के बाद वहां व्‍यापक जन प्रदर्शन हुए और सरकार को इस्‍तीफा देना पड़ा था।
– तो अब नए प्रधानमंत्री मुस्‍तफा अदीब बने हैं।

————————————
7. किस राज्‍य में सी-प्‍लेन सेवा की शुरुआत अक्‍टूबर में होगी?

a. गुजरात
b. केरल
c. दिल्‍ली
d. पंजाब

Answer: a. गुजरात

– मुख्यमंत्री विजय रूपाणी और नागरिक उड्डयन मंत्रालय (MoCA) और भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण के बीच एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए थे।
– राष्ट्रीय एकता दिवस यानि सरदार वल्लभभाई पटेल की जयंती पर 31 अक्‍टूबर को इसे शुरू किया जाएगा।
– गुजरात में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए साबरमती रिवरफ्रंट और केवडिया कॉलोनी के बीच सी-प्लेन सेवा शुरू होगी।
– प्रधानमंत्री केवडिया स्थित स्टैच्यू ऑफ यूनिटी तक सी प्लेन का सफर तय करेंगे।
– अहमदाबाद के रिवरफ्रंट और स्टैच्यू ऑफ यूनिटी के बीच समुद्री विमान की गति 170 किलोमीटर प्रति घंटा हो सकती है।

किसे दी जिम्‍मेदारी-
– स्पाइस जेट एयरलाइन को सी प्लेन उड़ाने की जिम्मेदारी दी गई है।
– 31 अक्टूबर से 19 सीटर सी प्लेन हर रोज 4 उड़ान भरेगा।
– किराया 4800 रुपये प्रति व्यक्ति रखा गया है।
– 31 अगस्त तक सभी मगरमच्छों को पकड़कर तालाब को मगरमच्छ रहित कर दिया जाएगा।
– सरदार सरोवर नर्मदा बांध के एरिया में तालाब नंबर तीन के पास सी प्लेन उतारने के इंतजाम भी किए जा रहे हैं।
– वन विभाग ने अलग-अलग स्थानों पर पिंजरे लगाए हैं।
– सरदार सरोवर में अब तक 108 मगरमच्छों को पकड़ा जा चुका है।

साल 2017 में मेादी ने किया था सफर-
– गुजरात चुनाव के वक्‍त 2017 में नरेंद्र मोदी सी प्लेन में बैठकर अहमदाबाद में साबरमती रिवर फ्रंट से उड़े थे।

सी प्‍लेन क्‍या है-
– आम बोलचाल में इसे समुद्री विमान कहा जाता है, जो पानी में उतर सकता है।
– पहला समुद्री विमान 1898 में ऑस्ट्रेलिया के विल्हेम क्रेस द्वारा बनाया गया था।

गुजरात के मुख्यमंत्री: विजयभाई रूपानी।
राज्यपाल: आचार्य देव व्रत.
नागरिक उड्डयन राज्यमंत्री :हरदीप सिंह पुरी

——————————–
8. मेजर ध्यानचंद विजय पथ योजना की शुरुआत किस राज्‍य में की गई है?

a. उत्तर प्रदेश
b. मध्‍य प्रदेश
c. हिमाचल प्रदेश
d. पंजाब

Answer: a. उत्तर प्रदेश

– उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने 28 अगस्‍त को प्रदेश में पद्मभूषण मेजर ध्यानचंद विजय पथ योजना की शुरुआत की।
– राज्य के 19 राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ियों के गांव-घर तक जाने वाली सड़कों को बनाने का वर्चुअल शिलान्यास किया गया है।
– यह भी घोषणा की कि पूर्व क्रिकेटर स्व. चेतन चौहान के नाम से राज्य की किसी प्रमुख सड़क का नामकरण भी किया जाएगा।
-अगले वर्ष खेल दिवस 29 अगस्त को इन सड़कों का लोकार्पण होगा।

मुख्यमंत्री: योगी आदित्य नाथ
राज्यपाल: आनंदीबेन पटेल

————————————
9. भारत का पहला अंतर्राष्ट्रीय महिला व्यापार केंद्र (International women’s trade centre) किस राज्‍य में स्‍थापित किया जाएगा?

a. महाराष्ट्र
b. केरल
c. कर्नाटक
d. दिल्‍ली

Answer: b. केरल

– केरल के अंगमाली में ये बनेगा।
– IWTC महिला उद्यमिता में तेजी लाने और लिंग समानता को बनाए रखने का प्रयास है।
– नए व्यवसायों को शुरू करने, स्थापित करने, उनके उत्पादों को दुनिया भर के बाजारों तक पहुँचाने के लिए घर से दूर महिलाओं को एक सुरक्षित स्थान भी देगा।
– ये महिला उद्यमियों को अंतर्राष्ट्रीय व्यापार का हिस्सा बनने और बाजार के अवसरों का लाभ उठाने में मदद करेगा।

केरल के मुख्यमंत्री: पिनाराई विजयन
राज्यपाल: आरिफ मोहम्मद खान.

—————————–
10. जबर्दस्ती गुम किए गए पीड़ितों का अंतर्राष्ट्रीय दिवस (International Day of the Victims of Enforced Disappearances ) कब मनाया जाता है?

a. 27 अगस्त
b. 28 अगस्त
c. 29 अगस्त
d. 30 अगस्त

Answer: d. 30 अगस्त

– संयुक्त राष्ट्र द्वारा ये दिन मनाया जाता है।
– इसे पहली बार वर्ष 2011 में मनाया गया था।
– यह दिन नजरबंद और अपहरण की घटनाओं सहित दुनिया के विभिन्न क्षेत्रों में जबरदस्ती गायब किए जाने वाले लोगों के बारे में चिंता व्यक्त करने के लिए मनाया जाता है।

संयुक्त राष्ट्र के महासचिव: एंटोनियो गुटेरेस
मुख्यालय: न्यूयॉर्क


Free Notes PDF of Toady’s Current Affairs : Download – Click Here

Free One Liner MCQ PDF –  Current Affairs : Download – Click Here

आप यूट्यूब चैनल सरकारी जॉब न्‍यूज पर भी करेंट अफेयर्स के वीडियो को देख सकते हैं।


Buy eBooks & PDF

0 Comments

Leave a reply

About Us | Help Desk | Privacy Policy | Disclaimer | Terms and Conditions | Contact Us

©2022 Sarkari Job News powered by Alert Info Media Pvt Ltd.

Log in with your credentials

or    

Forgot your details?

Create Account