Daily Current Affairs, Current Affairs 2 May 2020, Current Affairs 2 May, Current Affair 2 May 2020 Question, 2 May 2020 Current Affairs, Current Affairs 2 May 2020

यह 2nd May 2020 का करेंट अफेयर्स है, जो आपके कांपटीटिव एग्‍जाम्‍स में मदद करेगा। इसका PDF Download Link इस पेज के लास्‍ट में मौजूद है। Current Affairs PDF आप इस पेज के आखिरी हिस्‍से से Free में डाउनलोड करें।

1. मंगल ग्रह के लिए नासा के पहले हेलीकॉप्‍टर का नाम बताएं, जिसका नामाकरण भारतीय मूल की वनीजा रूपाणी ने किया है?

a. केए- 52
b. केए-53
c. इंजीन्यूटी
d. चिनूक

Answer: c. इंजीन्यूटी

– वह 17 साल की हैं। वह अमेरिका के अलबामा में रहती है।
– इंजीन्‍यूटी का हिंदी में मतलब है किसी व्यक्ति का आविष्कारी चरित्र।

– दरअसल, नासा ने मंगल ग्रह (Mars) के पहले हेलीकॉप्‍टर के नाम के सेलेक्‍शन के लिए ‘नेम द रोवर’ कॉन्टेस्ट रखा था।
– स्टूडेंट वनीजा रूपाणी ने कॉन्टेस्ट में इस नाम ‘इंजीन्यूटी’ रखने का सुझाव दिया था।
– वनीजा ने अपने निबंध में लिखा, ‘‘लोगों की बुद्धिमत्ता और आविष्कारी चरित्र (इंजीन्यूटी) हमें दूसरे ग्रहों में यात्रा करने और अंतरिक्ष के आश्चर्य को समझने में मदद करेगा।’’

– यह जानकारी खुद नासा ने ट्विटर पर सभी के साथ साझा की।
– नासा ने लिखा है – Our Mars helicopter has a new name! Ingenuity (इंजीन्यूटी)
– नासा के प्रशासक जिम ब्रिडेंस्टाइन से भी वनीजा की फोटो ट्वीट की है।

जुलाई में मिशन होना है लॉन्च
– मंगल के लिए मिशन इसी साल जुलाई 2020 में लॉन्च होना है।
– अगले साल फरवरी 2021 में मंगल ग्रह के जेजेरो क्रेटर (गड्ढे) में लैंडर और रोवर ‘पर्सविरन्स’ उतरेगा।
– यह 3.5 अरब वर्ष पूर्व अस्तित्व में आई एक झील का स्थल है.
– रोवर जमीन से सैंपल इकट्‌ठा करेगा और हेलिकॉप्टर इंजीन्यूटी आकाश में उड़कर मंगल की भौगोलिक स्थिति के बारे में जानकारी देगा।
– रोवर ‘पर्सविरन्स’ का भी नाम सातवीं के छात्र एलेक्जलेंडर मैथर के निबंध पर आधारित है।

——————————–
2. गूगल पे इंडिया का सलाहकार किसे नियुक्त किया गया?

a. अमित व्‍यास
b. शिखा शर्मा
c. राजीव सचान
d. प्रिया

b. शिखा शर्मा

– वह एक्सिस बैंक की सीईओ रह चुकी हैं।
– 2018 के अंत में एक्सिस बैंक छोड़ दिया।
– गूगल पे इंडिया ने 30 अप्रैल को उन्‍हें डिजिटल भुगतान ऐप के सलाहकार के रूप में नामित किया।

———————————-
3. भारत निर्वाचन आयोग ने महाराष्‍ट्र में विधान परिषद (Legislative Council) की कितनी सीटों के लिए 21 मई को चुनाव करवाने का नोटिफिकेशन जारी किया?

a. 10
b. 9
c. 8
d. 7

Answer: b. 9

– दरअसल, राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने चुनाव आयोग से अनुरोध किया था कि जल्द से जल्द महाराष्ट्र विधान परिषद की 9 खाली सीटों पर चुनाव कराया जाए.
– राज्यपाल ने कहा था कि राज्य में मौजूदा संकट को खत्म को देखते हुए विधान परिषद की सीटों पर चुनाव का ऐलान हो, जो 24 अप्रैल से खाली हैं.

क्यों जरूरी है चुनाव
– उद्धव ठाकरे ने 28 नवंबर 2019 को मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी।
– वह अभी विधानमंडल के किसी भी सदन के सदस्य नहीं हैं.
– संविधान के तहत उन्हें सीएम बनने के 6 महीने के अंदर यानी 27 मई 2020 तक किसी सदन का सदस्य बनना जरूरी है.
– कोविड-19 महामारी की वजह से यहां पर विधान परिषद चुनाव स्‍थागित कर दिया गया था।
– ऐसे में अगर खाली सीटों पर चुनाव नहीं होता तो उद्धव ठाकरे को इस्‍तीफा देना पड़ता।

एमएलसी नॉमिनेट करने के प्रस्‍ताव पर चुप थे राज्‍यपाल
– महाराष्‍ट्र कैबिनेट ने उद्धव ठाकरे को एमएलसी नॉमिनेट करने का प्रस्‍ताव गवर्नर भगत सिंह कोश्‍यारी को दिया था।
– लेकिन राज्‍यपाल इसपर खामोश थे।
– इसके बाद उद्धव ठाकरे ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से फोन पर बात की और महाराष्‍ट्र में राजनीतिक और संवैधानिक संकट को लेकर कहा।
– अब राज्‍यपाल ने चुनाव आयोग से एमएलसी चुनाव करवाने को कहा।

विधान परिषद
– संविधान के अनुच्छेद 168 के अनुसार विधानमंडल में दो सदन होते हैं. एक का नाम ‘विधान परिषद’ और दूसरे का नाम ‘विधान सभा’.
– विधान परिषद चुनाव छह राज्यों में आयोजित किए जाते हैं. Andhra Pradesh, Bihar, Karnataka, Maharashtra, Telangana and Uttar Pradesh
– लेकिन आंध्र प्रदेश में विधान परिषद समाप्त करने के लिए प्रस्ताव पास किया गया है। इस पर संसद की मुहर लगने के बाद राज्य का विधान परिषद समाप्त कर दिया जाएगा।
– इन सभी राज्यों में विधान मंडल के दो सदन होते हैं. जिसमें उच्च सदन को विधान परिषद और निम्न सदन को विधान सभा कहते हैं.
– भारत के शेष राज्यों में केवल एक सदन होते हैं, जिसका नाम विधान सभा.

क्‍या काम है विधान परिषद का?
– जिस तरह केंद्र सरकार का कानून संसद में बनाता है, ठीक उसी प्रकाप राज्यों में कानून विधानमंडल में तैयार किया जाता है.
– जिन राज्यों में विधान परिषद है, उसमें इसके सदस्यों का कार्यकाल छह वर्षों का होता है लेकिन प्रत्येक दो साल पर एक तिहाई सदस्यों को रिटायर कर दिया जाता है.
– साधारण विधेयक विधानसभा या विधान परिषद में पेश किया जा सकता है लेकिन असहमति की स्थिति में विधानसभा प्रभावी है।
– वित्त विधेयक को विधान परिषद में पेश करने की जरूरत नहीं है। ना ही वह इसे नामजूर कर सकती है। विधेयक रोक लेने की स्थिति में 14 दिन में उसे अपने आप पारित मान लिया जाता है।
– राज्यसभा चुनाव में भी विधान परिषद के सदस्य वोट नहीं दे सकते हैं।

कैसी होती है चुनाव प्रक्रिया
– विधान सभा सदस्‍य के लिए प्रत्‍यक्ष चुनाव होता है। जबकि विधान परिषद के लिए अप्रत्‍यक्ष।
– पांच प्रकार से विधान परिषद का सदस्य चुना जाता है.
– 1. राज्य के MLA चुनते हैं. – वह केवल एक तिहाई सदस्यों को चुन सकते हैं.
2. एक तिहाई राज्य की स्थानीय सरकारें यानी नगर पालिका और जिला बोर्ड के सदस्यों द्वारा चुने जाते हैं.
3. 1/12 सीट को ग्रेजुएशन कर चुके लोग चुनते हैं।
4. 1/12 सदस्यों का चुनाव राज्य के शिक्षक करते हैं. इसमें प्राइमरी में पढ़ाने वाले शिक्षक शामिल नहीं है.
5. 1/6 सदस्‍यों को राज्‍यपाल नॉमिनेट करते हैं।

विधान परिषद के सदस्य की शक्तियां
– विधानसभा और परिषद दोनों के ही सदस्यों को समान शक्तियां मिलती हैं।
– 1. सदन के सत्र के दौरान, सदन का सत्र शुरू होने के 40 दिन पहले या 40 दिन बाद तक सिविल मामलों में विधान सभा या परिषद के सदस्य को गिरफ्तार नहीं किया जा सकता है।
– 2. सदन में कही गई बात के लिए कोई भी सदस्य किसी भी प्रकार के न्यायालय के प्रति जवाबदेह नहीं है। सदन में दिए गए वोट के संबंध में भी सदस्यों को किसी को जवाब नहीं देना होता है।
– 3. सदन के सत्र के दौरान किसी भी केस के संबंध में सदन का सदस्य कोर्ट में उपस्थित होने या कोई सबूत देने से इनकार कर सकता है।

—————————-
4. केंद्र सरकार ने देश में लॉकडाउन को तीसरी बार कब तक के लिए बढ़ा दिया?

a. 17 मई
b. 18 मई
c. 19 मई
d. 20 मई

Answer: a. 17 मई

– भारत में दुनिया का सबसे बड़ा लॉकडाउन अभी खत्म नहीं होने वाला। 3 मई को इसका दूसरा दौर खत्म होना था, लेकिन शुक्रवार को सरकार ने इसे दो और हफ्तों के लिए बढ़ा दिया।
– यानी अब 4 मई से 17 मई तक लॉकडाउन का तीसरा दौर चलेगा।
– हालांकि देशभर के जिलों को तीन जोन में बांटा गया है, रेड, ऑरेंज और ग्रीन में।
– रेड जोन में सख्‍ती रहेगी।
– ऑरेंज जोन में कुछ राहत रहेगी।
– जबकि ग्रीन जोन में बहुत सारी छूटें मिलेंगी।

——————————-
5. ICC द्वारा एक मई 2020 जारी टेस्‍ट रैकिंग में भारतीय टीम का स्‍थान बताएं?

a. पहला
b. दूसरा
c. तीसरा
d. चौथा

Answer: c. तीसरा

– भारतीय टीम ने अक्टूबर 2016 के बाद पहली बार टेस्ट रैंकिंग में नंबर-1 का स्थान गंवाया है।

टॉप 5 टीम
1 – ऑस्ट्रेलिया
2 – न्यूजीलैंड
3 – भारत
4 – इंग्लैंड
5 – श्रीलंका

——————————-
6. ICC ने एक मई 2020 को टी-20 रैकिंग जारी की, इसमें भारतीय टीम का स्‍थान बताएं?

a. पहला
b. दूसरा
c. तीसरा
d. चौथा

Answer: c. तीसरा

टॉप 5 टीम
1 – ऑस्ट्रेलिया
2 – इंग्लैंड
3 – भारत
4 – पाकिस्तान
5 – दक्षिण अफ्रीका

– यह पहला मौका है, जब ऑस्ट्रेलिया टी-20 रैंकिंग में टॉप पर पहुंची है

——————————-
7. मशहूर पूर्व खिलाड़ी चुन्‍नी गोस्‍वामी का निधन 30 अप्रैल 2020 हो गया, वह किस खेल से जुड़े थे?

a. फुटबॉल
b. क्रिकेट
c. हॉकी
d. a और b

Answer: d. a और b (फुटबॉल और क्रिकेट)

– कार्डिएक अरेस्ट की वजह से उनकी मौत हो गई।
– वह 82 वर्ष के थे। उनका जन्‍म जन्म: 15 जनवरी 1938 को हुआ था।
– असल नाम सुबीमल था लेकिन उन्हें उनके निकनेम से ही जाना जाता था।
– चुन्नी गोस्वामी उन चुनिंदा खिलाड़ियों में शामिल थे, जिन्होंने अपने राज्य के लिए फुटबॉल और क्रिकेट दोनों में नुमाइंदगी की थी।
– उन्‍होंने 1957 में अपना अंतरराष्ट्रीय करियर शुरु किया, जिसके बाद राष्ट्रीय टीम के सबसे बड़े सितारों के रूप में उभरे थे।
– भारतीय फुटबाल टीम के कप्तान के रूप में उन्होंने देश को 1962 एशियाई खेलों में स्वर्ण पदक और इस्राइल में 1964 एशिया कप में रजत पदक दिलाया।
– यह अब तक का भारत का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है।

– उन्होंने 27 साल की उम्र में साल 1964 में अंतर्राष्ट्रीय फुटबॉल को अलविदा कह दिया था।
– इसके बाद उन्‍होंने क्रिकेट की ओर रुख किया।
– उन्‍हें 1971-72 सीज़न में बंगाल रणजी ट्रॉफी टीम का कप्तान बनाया गया था।
– कॉलेज में उन्होंने कलकता यूनिवर्सिटी की फुटबॉल और क्रिकेट दोनों टीमों की कप्तानी भी की।
– गोस्वामी 1970 के दशक में भारतीय फुटबॉल के चयनकर्ता भी थे और 1996 में जब राष्ट्रीय फुटबाल लीग शुरू हुई तो वह सलाहकार समिति का भी हिस्सा थे।

अवार्ड
– गोस्वामी ने 1962 में एशिया के सर्वश्रेष्ठ स्ट्राइकर का पुरस्कार जीता था।
– 1963 में अर्जुन पुरस्कार और 1983 में पद्मश्री से नवाजा गया।
– भारतीय डाक विभाग ने जनवरी में उनके 82वें जन्मदिन पर भारतीय फुटबॉल में उनके योगदान के लिए विशेष डाक टिकट जारी किया।

—————————-
8. लॉकडाउन के दौरान प्रवासी मजदूरों के लिए पहली ‘श्रमिक स्‍पेशल’ ट्रेन कहां से कहां तक चली?

a. तेलंगाना से बिहार
b. तेलंगाना से झारखंड
c. महाराष्ट्र से झारखंड
d. झारखंड से बिहार

Answer: b. तेलंगाना से झारखंड

– तेलंगाना के लिंगमपेल्ली में फंसे मजदूरों को लाने के लिए एक स्पेशल ट्रेन की व्यवस्था की गई।
– एक मई को इस ट्रेन में कुल 1200 मजदूर सवार हुए। तेलंगाना के लिंगमपेल्ली से झारखंड के हतिया तक चली।
– कई राज्य सरकारों की ओर से केंद्र से अपील की गई है कि मजदूरों को वापस लाने के लिए स्पेशल ट्रेन की व्यवस्था की जाए।
– झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने मजदूरों की वापसी के लिए स्पेशल ट्रेन चलाने की मांग को लेकर रेलमंत्री पीयूष गोयल से बात की थी।

– इस पहली ट्रेन के बाद अब कई ट्रेनें प्रवासी मजदूरों के लिए चलाई गई हैं, जो अलग-अलग राज्‍यों से बिहार, झारखंड, यूपी, पश्चिम बंगाल के लिए जाएगी।

——————————-
9. निक्केई एशिया पुरस्कार 2020 के लिए किसे चुना गया है?

a. टी. प्रदीप
b. थलप्पिल प्रदीप
c. कदेल
d. सुरेश

Answer: a. टी. प्रदीप

– आईआईटी मद्रास के प्रो. टी प्रदीप को यह सम्मान नैनो-प्रौद्योगिकी आधारित जल शोधन के रिसर्च के लिए दिया गया है।
– उन्होंने भारत में 2 पैसे प्रति लीटर की लागत से स्वच्छ पानी पहुंचाने में मदद की है।
– उनके इस कार्य से एक करोड़ से अधिक भारतीयों को लाभ हुआ है। वह हाल ही में पद्म श्री पुरस्कार के प्राप्तकर्ता भी हैं।

क्‍या होता है निक्केई एशिया पुरस्कार
– उन्हें तीन क्षेत्रों में सालाना सम्मानित किया जाता है – आर्थिक और व्यावसायिक नवाचार (इनोवेशन), विज्ञान और प्रौद्योगिकी और संस्कृति और समुदाय।
– उन व्यक्तियों पर सम्मानित किया जाता है जिन्होंने इस क्षेत्र के सतत विकास और एशिया में बेहतर भविष्य के निर्माण में योगदान दिया है।

————————-
10. अंतर्राष्ट्रीय श्रमिक दिवस कब मनाया जाता है?

a. 1 मई
b. 2 मई
c. 30 अप्रैल
d. 29 अप्रैल

Answer: a. 1 मई

– इसे मई दिवस के रूप में भी जाना जाता है।
– दुनिया भर में अंतरराष्ट्रीय श्रम संघों को बढ़ावा देने और प्रोत्साहित करने के लिए मनाया जाता है।
– सबसे पहले 4 मई 1886 को श्रम दिवस विश्व स्तर पर मनाया गया था।

क्‍यों मनाते हैं?
– 1886 में 1 मई को पहली बार संयुक्त राज्य अमेरिका में लोगों ने काम की अवधि को अधिकतम 8 घंटे प्रति दिन निर्धारित करने के लिए हड़ताल शुरू की थी।
– इस दौरान पुलिस ने मजदूरों पर गोलीबारी की थी। कई लोग मारे गए थे।
– इस घटना के बाद मजदूरों को 8 घण्‍टे के काम का नियम बना, जिसका संदेश पूरी दुनिया में गया।
– इसके बाद दुनियाभर में लेबर लॉ बने और मजदूरों के काम करने के हालात सुधरे।
– शिकागो में शहीद हुए मजदूरों की कुर्बानियों को याद किया जाता है।

अंतर्राष्ट्रीय श्रम संगठन
मुख्यालय: जिनेवा, स्विट्जरलैंड.
अध्यक्ष: गाय राइडर
स्थापना: 1919


 

Free Notes PDF of Toady’s Current Affairs : Download – Click Here

Free One Liner MCQ PDF –  Current Affairs : Download – Click Here

आप यूट्यूब चैनल सरकारी जॉब न्‍यूज पर भी करेंट अफेयर्स के वीडियो को देख सकते हैं।

 


Buy eBooks & PDF

About Us | Help Desk | Privacy Policy | Disclaimer | Terms and Conditions | Contact Us

©2022 Sarkari Job News powered by Alert Info Media Pvt Ltd.

Log in with your credentials

or    

Forgot your details?

Create Account