Current Affairs 15 October, Current Affairs 15 October 2021, Sanmay Prakash, Current Affairs 15th October 2021, 15th Oct 2021. Current Affairs, Current Affairs 15 October,

यह 15 October 2021 का करेंट अफेयर्स है, जो आपके कांपटीटिव एग्‍जाम्‍स में मदद करेगा। इसका PDF Download Link इस पेज के लास्‍ट में मौजूद है। Current Affairs PDF आप इस पेज के आखिरी हिस्‍से से Free में डाउनलोड करें।

1. वैश्‍विक भूखमरी सूचकांक (Global Hunger Index) 2021 की ‘खतरनाक’ स्थिति में मौजूद भारत की रैकिंग बताएं?

a. 19
b. 95
c. 101
d. 116

Answer: c. 101

– भारत 116 देशों के वैश्विक भुखमरी सूचकांक (GHI) 2021 में फिसलकर 101वें स्थान पर आ गया है।
– रिपोर्ट में भारत में भूख के स्तर को “खतरनाक” (Alarming) बताया गया है।
– मतलब भारत में भूख और इससे कुपोषण की समस्‍या बहुत ज्‍यादा हो गई है।
– इस मामले में भारत अपने पड़ोसी देश पाकिस्तान, बांग्लादेश और नेपाल से भी पीछे है।
– अब ग्लोबल हंगर इंडेक्स में भारत से पीछे केवल 15 देश हैं।

पिछले वर्षों में भारत रैंकिंग
2020 : 107 देशों में 94 रैंक
2019 : 117 देशों में 102 रैक
2018 : 103 रैंक

किसने रिपोर्ट जारी की
– आयरिश सहायता एजेंसी कंसर्न वर्ल्डवाइड और जर्मन संगठन वेल्ट हंगर हिल्फ़ ने संयुक्‍त रूप से ग्‍लोबल हंगर इंडेक्‍स जारी किया है।
– इस इंडेक्‍स के जरिए दुनिया में भूख और कुपोषण पर नजर रखी जाती है।

कैसे निकाला जाता है ग्लोबल हंगर इंडेक्स?
यह इंडेक्‍स देशों के GHI स्कोर के माध्यम से निकाला जाता है।
GHI स्कोर के 4 इंडिकेटर-

1 – अल्पपोषण (कुपोषण की वह स्थिति जिसमें पोषक तत्व गुण व मात्रा में शरीर के लिये पर्याप्त नहीं होते अल्पोषण कहलाती है),
2 – चाइल्ड वेस्टिंग (पांच साल से कम उम्र के बच्चे जिनका वजन उनकी ऊंचाई के हिसाब से कम है, तीव्र कुपोषण को दर्शाता है),
3 – चाइल्‍ड स्‍टंटिंग (पांच साल से कम उम्र के बच्चे जिनकी उम्र के हिसाब से लंबाई कम है, जो लंबे समय से कुपोषण को दर्शाता है),
4 – बाल मृत्‍यु दर (पांच साल से कम उम्र के बच्‍चों की मृत्‍यु दर)

जीएचआई स्कोर भी गिरा
– भारत का जीएचआई स्कोर भी गिर गया है।
– यह साल 2000 में 38.8 था, जो 2012 और 2021 के बीच 28.8 – 27.5 के बीच रहा।

दुनिया के टॉप देश
– 18 देशों ने साझा रैंक हासिल किया है
– इनमें बेलारूस, बोस्‍निया, ब्राजील, चिली, चीन, क्रोएशिया, क्‍यूबा, एस्‍तोनिया, कुवैत, लतवानिया, लुथुआनिया, मॉन्‍टेनेग्रो, नॉर्थ मेसेडोनिया, रोमानिया, सर्बिया, स्‍लोवाकिया, तुर्की और उरुग्‍वे शामिल हैं।

भारत की स्थिति
– चाइल्‍ड वेस्टिंग (पांच साल से कम उम्र के बच्चे जिनका वजन उनकी ऊंचाई के हिसाब से कम है, तीव्र कुपोषण को दर्शाता है) के मामले में दुनिया में सबसे खराब स्थिति है।
– मतलब बच्‍चों में कुपोषण सबसे ज्‍यादा भारत में है।
– चाइल्ड वेस्टिंग में भारत की हिस्सेदारी 1998-2002 के बीच 17.1 फीसदी से बढ़ कर 2016-2020 में 17.3 फीसदी हो गई।

क्‍यों है भारत की ऐसी हालत
– भारत में बच्‍चों को पोषण युक्‍त भरपेट भोजन नहीं मिल पा रहा है।
– रिपोर्ट में कहा गया है कि, भारत में कोविड-19 महामारी और इसके चलते लगाए गए प्रतिबंधों से लोग बुरी तरह प्रभावित हुए हैं।

पड़ोसी देशों की स्थिति
– पड़ोसी देश जैसे नेपाल (76), बांग्लादेश (76), म्यांमार (71) और पाकिस्तान (92) भी ‘खतरनाक’ भूख वाले देशों की कैटेगरी में हैं।
– लेकिन भारत की तुलना में इन देशों ने अपने नागरिकों को भोजन देने में बेहतर प्रदर्शन किया है।

भारत किन देशों से बेहतर
– पापुआ न्यू गिनी (102)
– अफगानिस्तान (103)
– नाइजीरिया (103)
– कांगो (105)
– मोजाम्बिक (106)
– सिएरा लियोन (106)
– तिमोर-लेस्ते (108)
– हैती (109)
– लाइबेरिया (110)
– मेडागास्कर (111)
– कांगो (112)
– चाड (113)
– मध्य अफ्रीकी गणराज्य (114)
– यमन (115)
– सोमालिया (116)

——————–
2. भारत कौन सी वीं बार ‘संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद’ (UNHRC) का सदस्‍य निर्वाचित हुआ?

a. दूसरी बार
b. चौथी बार
c. पांचवीं बार
d. छठवीं बार

Answer: d. छठवीं बार

– भारत छठवीं बार भारी बहुमत से यूएनएचआरसी के लिए फिर से 14 अक्‍टूबर 2021 को निर्वाचित हुआ।
– अगर बात हो कि लगातार कौन सी वीं बार भारत सदस्‍य बना, तो इसका उत्‍तर होगा – दूसरी बार।
– यह चुनाव यूनाइटेड नेशंस जनरल असेंबली (UNGA) में गुप्‍त मतदान के जरिए हुआ।
– 193 सदस्यीय विधानसभा में भारत को 184 वोट मिले, जबकि आवश्यक बहुमत 97 था।
– UNHRC में भारत का कार्यकाल 2022-2024 (तीन साल) तक रहेगा।
– यूनाइटेड नेशंस में भारत के स्‍थाई प्रतिनिध टीएस तिरुमूर्ति हैं।

भारत सहित 18 सदस्‍य चुने गए। ये भी –
– अर्जेंटीना,
– बेनिन,
– कैमरून,
– इरिट्रिया,
– फिनलैंड,
– जाम्बिया,
– होंडुरास,
– कजाकिस्तान,
– लिथुआनिया,
– लक्जमबर्ग,
– मलेशिया,
– मोंटेनेग्रो,
– पराग्वे,
– कतर,
– सोमालिया,
– संयुक्त अरब अमीरात
– यूएसए

UNHRC
– प्रेसिडेंट : नजहत शमीम खान (फिजी के प्रतिनिधि)
– हेडक्‍वार्टर : जेनेवा, स्विट्जरलैंड
– संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद में 47 सदस्य देश शामिल होते हैं।
– इसका काम दुनिया में मानवाधिकार को प्रमोट और प्रोटेक्‍ट करना है।
– इनका चुनाव संयुक्त राष्ट्र महासभा के जरिए किया जाता है।
– इस परिषद के सदस्य देशों की सीट का बंटवारा भौगोलिक आधार पर किया गया है।
– अफ्रीका और एशिया पैसिफिक क्षेत्र से 13-13 सदस्य चुने जाते हैं। इसके अलावा दक्षिण अमेरिका और कैरिबियाई देशों से 8 सदस्य, पश्चिमी यूरोप से 7 और पूर्वी यूरोप से 6 सदस्यों का चुनाव किया जाता है।

——————-
3. भारत के किस पड़ोसी देश ने चीन के साथ सीमा-विवाद सुलझाने के लिए 3-step roadmap समझौता किया?

a. भूटान
b. श्रीलंका
c. नेपाल
d. म्‍यांमार

Answer: a. भूटान

– भूटान ने 2017 के डोकालाम सैन्‍य स्‍टैंडऑफ (गतिरोध) के चार साल बाद यह समझौता किया है।
– भूटान के विदेश मंत्रालय ने बयान जारी किया है कि दोनों देश (चीन और भूटान) सद्भावना, समझ और सामंजस्‍य की भावना से 3-step roadmap के तहत सीमा वार्ता के सफल निषकर्ष पर पहुंचेंगे।

भारत की प्रतिक्रिया
– भारत के लिए यह समझौता चौंकाने वाला है, लेकिन विदेश मंत्रालय ने सधा हुआ बयान जारी किया है।
– भारतीय विदेश मंत्रालय के प्रवक्‍ता अरिंदम बागची ने कहा है कि भारत इस MoU के बारे में जानता था। भारत ने इस बात को नोट किया है।
– उन्‍होंने कहा कि भूटान और चीन 1984 से सीमा वार्ता कर रहे हैं।
– भारत भी इसी तरह चीन के साथ सीमा वार्ता कर रहा है।

चीन और भूटान के राजनयिक संबंध
– चीन और भूटान के बीच सीधे तौर पर राजनयिक संबंध (डिप्‍लोमेटिक रिलेशन) नहीं हैं।
– नई दिल्‍ली में मौजूद भूटान और चीन के दूतावास के जरिए दोनों देश राजनयिक बातचीत करते हैं।

भूटान
किंग – जिग्मे खेसर नामग्याल वांग्चुक
प्रधानमंत्री – लोते शेरिंग

चीन और भूटान के सीमा
– भूटान, चीन के साथ 400 किलोमीटर से अधिक लंबी सीमा साझा करता है।
– दोनों देशों ने विवाद को सुलझाने के लिए इससे पहले 24 दौर की सीमा वार्ता की हैं।

किस जगह विवाद
– दरअसल, 1984 के बाद से, भूटान और चीन के बीच वार्ता मुख्य रूप से विवाद के दो अलग-अलग क्षेत्रों पर केंद्रित रही है, जिसमें डोकलाम और भूटान के पश्चिम में अन्य क्षेत्र, भारत-चीन-भूटान ट्राइजंक्शन के पास 269 वर्ग किलोमीटर और तिब्बत के पास स्थित जकारलुंग और पासमलुंग घाटियाँ शामिल हैं।
– अभी हाल ही में चीन ने भूटान के पूर्वी साकतेंग क्षेत्र पर भी अपना दावा किया है।

इस MoU सिग्‍नेचर के मायने भारत के लिए क्‍या है?
– यह MoU जितना सामान्‍य दिख रहा है, उतना नहीं है।
– दरअसल, वर्ष 2017 में डोकालाम (भारत-चीन और भूटान की ट्राई-जंक्शन के पास भूटान का इलाका) में भारतीय और चीनी सैनिकों के बीच स्‍टैंडऑफ हुआ था।
– दरअसल, डोकालाम, भूटान के हिस्‍से में है। उस वक्‍त चीनी सैनिक यहां पर सड़क निर्माण कर रहे थे।
– भूटान की ओर से इंडियन आर्मी ने चीन को इसके लिए रोका।
– यह गतिरोध दो महीने से अधिक समय तक चला था।
– इसके बाद से चीन और भूटान के बीच बॉर्डर डिस्‍प्‍यूट पर बातचीत बंद हो गई थी। इसके बाद कोविड-19 का असर भी हुआ।

चीन के दबाव में भूटान
– भारत और भूटान के बीच संधि की वजह से इंडियन आर्मी, भूटान के सीमा की रक्षा करने का काम समय-समय पर करती है।
– चीन को हमेशा भूटान के अंदर और भूटान-चीन सीमा पर भारतीय सैनिकों की मौजूदगी से समस्या रही है।
– न्‍यूज वेबसाइट स्‍क्रॉल के अनुसार डोकालाम विवाद के बाद से चीन ने भूटान पर कई तरह से दबाव डालना शुरू कर दिया।
– चुकी चीन को भारत से टेंशन है, इसलिए वह भूटान को परेशान कर रहा था।
– भारत में लद्दाख के इलाकों में चीनी घुसपैठ भी उसके बाद से ज्‍यादा बढ़ गई थी।
– चीन ने पिछले दो सालों में भूटान के पूर्वी साकतेंग क्षेत्र पर भी अपना दावा किया है। यहां पर सेंच्‍युरी (अभ्‍यारण्‍य) है, जिसकी फंडिंग अमेरिका करता है।
– यह इलाका भूटान के बिलकुल अंदर है, जहां से चीन की सीमा भी नहीं लगती है।
– यह जगह भारतीय राज्‍य अरुणाचल प्रदेश से सटा हुआ है, जिसपर चीन दावा करता रहा है।
– यहां तक कि हाल ही (अक्‍टूबर 2021) में उपराष्‍ट्रपति एम वेंकैया नायडु अरुणाचल प्रदेश गए, तो चीन ने इसका विरोध किया। हालांकि भारतीय विदेश मंत्रालय ने करारा जवाब देते हुए चीन के बयान को खारिज कर दिया था।
– माना जाता है कि चीन भूटान के पूर्वी साकतेंग क्षेत्र पर दावा अरुणाचल प्रदेश के साथ-साथ किया है।
– और भी कई तरह से चीन ने भूटान पर दबाव डाला।
– ऐसे में अब भूटान ने चीन के साथ सीमावार्ता के लिए समझौता कर लिया है।

भूटान
किंग – जिग्मे खेसर नामग्याल वांग्चुक
प्रधानमंत्री – लोते शेरिंग

——————-
4. केंद्र सरकार ने ‘पावर फाइनेंस कॉरपोरेशन लिमिटेड’ (PFC) को इनमें से कौन सा दर्जा दिया?

a. मिनिरत्‍न
b. महारत्‍न
c. महाबली
d. उपरोक्‍त सभी

Answer: b. महारत्‍न

– इसके साथ ही कुल महारत्‍न कंपनियों की संख्‍या 11 हो जाएगी।
– PFC, विद्युत मंत्रालय के स्‍वामित्‍व वाली कंपनी है।
– पीएफसी का गठन 1986 में हुआ था।
– यह बिजली क्षेत्र के लिए इंफ्रास्ट्रक्चर फंडिंग प्रदान करने वाली सबसे बड़ी कंपनी है।
– महारत्न का दर्जा मिलने से कंपनी के निदेशक मंडल के पास वित्तीय निर्णय का दायरा बढ़ जाएगा।
– अब PFC बोर्ड वित्तीय संयुक्त उद्यम और पूर्ण सब्सिडियरी इकाइयों को लेकर इक्विटी निवेश का फैसला कर सकता है।
– साथ ही देश और विदेश में विलय और अधिग्रहण का निर्णय कर सकता है
– हालांकि, इसके लिये सीमा संबंधित कंपनी के नेटवर्थ के 15 प्रतिशत तक सीमित है, यह एक परियोजना में अधिकतम 5,000 करोड़ रुपये तक हो सकता है।

पावर फाइनेंस कॉर्पोरेशन लिमिटेड
मुख्यालय: नई दिल्ली
स्थापना: 16 जुलाई 1986
अध्यक्ष और एमडी: रविंदर सिंह ढिल्लन

Maharatna : कुल 11 कंपनियां
1. Bharat Heavy Electricals Limited (BHEL)
2. Bharat Petroleum Corporation Limited (BPCL)
3. Coal India Limited
4. GAIL (India) Limited
5. Hindustan Petroleum Corporation Limited (HPCL)
6. Indian Oil Corporation Limited (IOCL)
7. NTPC Limited
8. Oil & Natural Gas Corporation Limited (ONGC)
9. Power Grid Corporation of India Limited
10. Steel Authority of India Limited (SAIL)
11. Power Finance Corporation Ltd (PFC)

——-
Navratna : कुल 13 कंपनियां
1. Bharat Electronics Limited (BEL)
2. Container Corporation of India Limited
3. Engineers India Limited (EIL)
4. Hindustan Aeronautics Limited (HAL)
5. Mahanagar Telephone Nigam Limited (MTNL)
6. National Aluminium Company Limited
7. NBCC (India) Limited
8. NMDC Limited
9. NLC India Limited
10. Oil India Limited
11. Rashtriya Ispat Nigam Limited
12. Rural Electrification Corporation Limited
13. Shipping Corporation of India Limited

Miniratna Category : कुल 73 कंपनियां

—————-
5. सरदार बलविंदर सिंह नकई का निधन 11 अक्‍टूबर 2021 को हो गया, वह किस संगठन के अध्‍यक्ष थे?

a. IFFCO
b. IOCL
c. BPCL
d. MTNL

Answer: a. IFFCO

– वे पिछले तीन दशकों से भारतीय सहकारिता आंदोलन को मजबूती प्रदान करने में शामिल थे।

—————-
6. भारत ने किर्गिज़स्तान के लिए कितनी रकम की लाइन ऑफ क्रेडिट की घोषणा की?

a. 100 मिलियन डॉलर
b. 200 मिलियन डॉलर
c. 300 मिलियन डॉलर
d. 500 मिलियन डॉलर

Answer: b. 200 मिलियन डॉलर

– किर्गिज़स्तान की दो दिवसीय यात्रा के अंत में विदेश मंत्री एस जयशंकर (S Jaishankar) ने यह घोषणा की।

किर्गिज़स्तान
राजधानी: बिश्केक;
मुद्रा: किर्गिज़स्तानी सोम;
राष्ट्रपति: सदर जापारोवा

———————
7. फिनटेक स्टार्टअप ‘भारतपे’ ने किसे अपने बोर्ड का अध्‍यक्ष नियुक्‍त किया है?

a. रजनीश कुमार
b. विक्रम सिंह
c. मिताली राज
d. विश्‍केक वर्मा

Answer: a. रजनीश कुमार

– वह एसबीआई के पूर्व अध्‍यक्ष हैं।

भारतपे
CEO : अशनीर ग्रोवर
मुख्यालय: नई दिल्ली
स्थापना: 2018

———————-
8. पुरुष या महिला क्रिकेट में एकदिवसीय शतक बनाने वाली सबसे कम उम्र की बल्लेबाज कौन हैं?

a. स्‍मृति मंधाना
b. एमी हंटर
c. मिताली राज
d. एलिस पेरी

Answer: b. एमी हंटर

– वह आयरलैंड की खिलाड़ी हैं।
– उन्‍होंने जिम्‍बाब्‍वे के खिलाफ अपने 16वें जन्‍मदिन पर अक्‍टूबर 2021 में 121 रन बनाए।
– उन्‍होंने भारतीय खिलाड़ी मिताली राज का रिकॉर्ड तोड़ा
– इससे पहले मिताली राज ने यह रिकॉर्ड 1999 में आयरलैंड के खिलाफ शतक बनाया था, उस वक्‍त वह 16 साल 205 दिन की थी।

——————–
9. अंतर्राष्ट्रीय ई-कचरा दिवस कब मनाया जाता है?

a. 11 अक्टूबर
b. 12 अक्टूबर
c. 13 अक्टूबर
d. 14 अक्टूबर

Answer: d. 14 अक्टूबर

– इसका उद्देश्य दुनिया भर में ई-कचरे के सही निपटान को बढ़ावा देना है, जिसका उद्देश्य पुन: उपयोग, वसूली और रीसाइक्लिंग दरों में वृद्धि करना है।
– वर्ष 2021 की थीम: Consumer is the key to Circular Economy!

——————–
10. विश्व मानक दिवस (World Standards Day) कब मनाया जाता है?

a. 11 अक्टूबर
b. 12 अक्टूबर
c. 13 अक्टूबर
d. 14 अक्टूबर

Answer: d. 14 अक्टूबर

– इस दिन का उद्देश्य उपभोक्ताओं, नियामकों और उद्योग के बीच वैश्विक अर्थव्यवस्था में मानकीकरण के महत्व के बारे में जागरूकता बढ़ाना है।
– वर्ष 2021 की थीम: Standards for SDGs : Shared Vision for A Better World.


 

Free Download Notes PDF of Toady’s Current Affairs : – Click Here

Free Download One Liner MCQ PDF Current Affairs : – Click Here

Buy eBooks & PDF

 

About Us | Help Desk | Privacy Policy | Disclaimer | Terms and Conditions | Contact Us

©2022 Sarkari Job News powered by Alert Info Media Pvt Ltd.

Log in with your credentials

or    

Forgot your details?

Create Account