Daily Current Affairs, Current Affairs 9 April 2021, Current Affairs 10 April 2021, Current Affair 11 April 2021 Question, Current Affairs 9 April 2021, Current Affairs, 10 April 2021 Current Affairs,

यह 9th to 11th April 2021 का करेंट अफेयर्स है, जो आपके कांपटीटिव एग्‍जाम्‍स में मदद करेगा। इसका PDF Download Link इस पेज के लास्‍ट में मौजूद है। Current Affairs PDF आप इस पेज के आखिरी हिस्‍से से Free में डाउनलोड करें।

1. अदालत ने विश्वनाथ मंदिर से सटी ज्ञानवापी मस्जिद के पुरातात्विक सर्वेक्षण (Archaeological survey) का आदेश दिया, यह किस शहर में स्थित है?

यूपी के किस शहर में विश्वनाथ मंदिर से सटी ज्ञानवापी मस्जिद के मामले में अदालत ने पुरातात्विक सर्वेक्षण (Archaeological survey) का आदेश दिया है?

a. मथुरा
b. वाराणसी
c. आगरा
d. लखनऊ

Answer: b. वाराणसी

– कोर्ट ने वाराणसी में विश्वनाथ मंदिर से सटी ज्ञानवापी मस्जिद के मामले में सर्वे करने का ये आदेश 8 अप्रैल 2021 को दिया है।
– सिविल जज सीनियर डिविजन (फास्ट ट्रैक कोर्ट) आशुतोष तिवारी की अदालत ने पांच सदस्यीय कमेटी गठित करने का भी निर्देश दिया है।
– कहा है कि इसमें दो अल्पसंख्यक जरूर हों।

ये है मामला
– दावा किया गया है कि कि ढांचे के नीचे काशी विश्वनाथ मंदिर के पुरातात्विक अवशेष (Archaeological remains) हैं।

कब से चल रहा प्रकरण
– ज्ञानवापी में नए मंदिर के निर्माण तथा हिंदुओं को पूजा पाठ करने का अधिकार देने को लेकर वर्ष 1991 में मुकदमा दायर किया गया था।
– मामले में निचली अदालत व सत्र न्यायालय के आदेश के खिलाफ 1997 में हाईकोर्ट में चुनौती दी गई।
– वर्ष 1991 से विवादित ढांचा पर पूजा के अधिकार की लम्बित याचिका के मामले में 10 दिसंबर 2019 में प्राचीन मूर्ति स्वयंभू लार्ड विश्वेश्वर के बाद मित्र विजय शंकर रस्तोगी ने सिविल जज सीनियर डिविजन (फास्ट ट्रैक कोर्ट) आशुतोष तिवारी की अदालत में अपील की थी।
– अपील में ये भी कहा गया था कि ज्ञानवापी परिसर में रडार तकनीक से सर्वे कराया जाए।
– मामले में अंजुमन इंतजामिया मसाजिद व सुन्नी सेंट्रल वफ्फ बोर्ड शुरू से प्रतिवादी (Defendant) हैं।

एएसआई को निर्देश
– अदालत ने आदेश दिया है कि सर्वेक्षण में ग्राउंड पेनेट्रेटिंग राडार (जीपीआर) या जियो रेडियोलॉजी तकनीक दोनों से सर्वे कराया जाए।
– इसका पूरा खर्च एएसआई खुद उठाए, आदेश में यह भी कहा है कि सर्वे के दौरान नमाज के कार्य में बाधा न पहुंचे।
– दोनों पक्षों के लोग मौके पर रहें, साथ ही जरूरत पड़े तो खुदाई कराने के भी आदेश पारित किए गए हैं।

———————————
2. ओलंपिक गेम्‍स के लिए पहली बार किस भारतीय महिला नाव‍िक ने क्‍वालिफाइ किया?

a. नेत्रा कुमानन
b. किरेन पटेल
c. आशा कुमार
d. अंजू रानी

Answer: a. नेत्रा कुमानन

– वह पहली महिला नाविक बन गई हैं, जिसने ओलंपिक गेम्‍स के लिए क्‍वालिफाइ किया।
– 07 अप्रैल 2021 को नेत्रा ने ये लक्ष्‍य हासिल किया।
– उन्होंने मुसानाह ओपन चैंपियनशिप के जरिए लेजर रेडियल स्पर्धा में क्‍वालिफाइ किया।
– लेजर रेडियल ‘सिंगलहेंडेड बोट’ होती है जिसमें चालक (Driver) अकेला नाव चलाता है।
– यह काम्‍पटीशन एशियाई ओलंपिक क्वालिफाइंग टूर्नामेंट था।

– इसके अलावा भारत ने एक और इतिहास रचा है, पहली बार भारत के चार नाविकों ने वर्ष 2021 के टोक्यो ओलंपिक के लिए क्‍वालिफाइ किया है।
– नेत्रा कुमानन, विष्‍णु सर्वानन्‍द तथा गणपति चेंगप्‍पा और वरुण ठक्‍कर की जोडी ने ओमान में चल रहे एशियाई क्‍वालिफायर्स में यह लक्ष्‍य हासिल किया।
– ऐसा पहली बार है कि टोक्यो में होने वाले खेलों की तीन सेलिंग इवेंट्स में भारत हिस्‍सा लेगा।
– अब तक भारत ने ओलंपिक्‍स में सिर्फ एक स्‍पर्धा में हिस्‍सा लिया था।
– आपको ये भी बता दें कि नौकायन (Rowing) में जिस खिलाड़ी के सबसे कम अंक होते हैं, वह कॉम्‍पटीशन जीतता है।
– 08 अप्रैल 2021 को सबसे पहले टोक्‍यो ओलंपिक्‍स के लिए क्‍वालिफाइ करने वाले रहे विष्‍णु सर्वानन्‍द।
– उन्‍होंने लेजर स्‍टेंडर्ड क्‍लास में दूसरे स्‍थान लिया।
– इसके बाद गणपति चेंगप्‍पा और वरुण ठक्‍कर 49ईआर क्‍लास की लिस्‍ट में टॉप पर रहे।
– 49 ईआर क्‍लास में दो नाविक टीम बनाते हैं जबकि लेजर क्‍लास में एक नाविक हिस्‍सा लेता है।
– भारत की तरफ से दो नाविकों ने टोक्‍यो ओलंपिक्‍स में लेजर क्‍लास के लिए क्‍वालिफाइ किया जबकि एक टीम ने 49ईआर क्‍लास में।
– खेल मंत्री किरेन रिजिजू ने ट्वीट कर ओलंपिक में क्‍वालिफाइ करने वाले सभी खिलाडि़यों को बधाई दी।
– याचिंग एसोसिएशन ऑफ इंडिया के संयुक्‍त महासचिव कैप्‍टन जीतेंद्र दीक्षित ने कहा है कि पहली बार इतने भारतीय नाविकों (Indian sailors) ने क्‍वालिफाइ किया।

ये कर चुके हैं क्‍वालिफाइ
– नछातर सिंह जोहाल (2008)
– श्राफ और सुमित पटेल (2004)
– एफ तारापोर और साइरस कामा (1992)
– केली राव (1988)
– ध्रुव भंडारी (1984)
– सोली कांट्रेक्टर और एए बासित (1972)

——————————-
3. दुनिया का सबसे ऊंचे रेल ब्रिज का निर्माण किस केंद्र शासित प्रदेश में किया गया है?

a. जम्‍मू कश्‍मीर
b. लद्दाख़
c. पुदुचेरी
d. दमन दीव और दादरा नगर हवेली

Answer: a. जम्‍मू कश्‍मीर

– यह दुनिया का सबसे ऊंचा रेल ब्रिज है।
– उधमपुर-श्रीनगर-बारामुला प्रोजेक्‍ट के तहत यह पुल बनाया गया है।
– यह आर्च ब्रिज है, जिसके दोनों सिरों को 5 अप्रैल 2021 को जोड़ दिया गया।
– उधमपुर-श्रीनगर-बारामुला प्रोजेक्‍ट का मकसद है जम्‍मू-कश्‍मीर के लोगों को रेल के जरिए पूरे भारत के साथ जोड़ा जाए।
– यह अहमियत रखता है, क्‍योंकि रेलवे इंजीनियरिंग के लिहाज से यह जटिल काम था।
– रेल लाइनों को पहाड़ पर, घाटियों पर, सुरंग में ले जाना था।
– इस वजह से इसमें अड़चनें भी आईं।
– 2002 में इस प्रोजेक्‍ट की नींव रखी गई।
– वर्ष 2004 में इसका काम शुरू हुआ।
– 2008 में इसका काम यह कहकर रोक दिया गया कि, चूकि यह सिस्मिक जोन 5 में पड़ता था, तो सुरक्षा का हवाला देकर काम रोका गया।
– फिर 2010 में फिर से काम शुरू किया गया।
– 272 किलोमीटर की लाइन में लगभग 161 किलोमीटर की लाइन का काम पूरा हो चुका है।
– 111 किलोमीटर का काम अभी है कटरा से बनिहाल पर हो रहा है, उसी पर यह पुल बन रहा है।
– इनमें से तकरीबन 87 किलोमीटर रेलवे लाइन पहाड़ के अंदर से यानी सुरंग से गुजरेगी।
– कई रेलवे स्‍टेशन तो सुरंग के अंदर होंगे।

उधमपुर-श्रीनगर-बारामुला प्रोजेक्‍ट और आर्च पुल की लागत
– इसकी लागत भी बहुत बड़ी है। 27 हजार करोड़ रुपए की लागत है।
– खासतौर पर इस आर्च पुल को इस तरह डिजाइन किया गया है कि उसकी आयु कम से कम 120 वर्ष हो।
– 1,486 करोड़ रुपये की लागत से निर्माण किया जा रहा है।
– इसका डिजाइन जर्मनी में तैयार किया गया।
– यह पुल पर सुरक्षा का हवाला दिया गया।
– इसी वजह से जर्मनी में डिजाइन तैयार किया गया।
– ब्रिटेन में सुरक्षा संबंधी तकनीक को टेस्‍ट किया गया था।
– इसके बाद भारत के इंजीनियर्स ने इसका निर्माण किया।
– 1,315 मीटर लंबा विश्व के सबसे ऊंचे रेल ब्रिज के दोनों सिरों की आर्च को 5 अप्रैल 2021 को जोड़ दिया गया।

दुनिया के सबसे बड़े रेलवे ब्रिज की खासियत
– दुनियाभर के सिविल इंजीनियर्स की निगाहें टिकी हुई थी।
– नदी के तल से इस पुल की ऊंचाई 359 मीटर है, जो एफिल टावर व कुतुबमीनार की ऊंचाई से अधिक है।
– 1.3 किलोमीटर की लंबाई है पुल की।
– इसका निर्माण जटिल था, क्‍योंकि नदी में कोई पिलर नहीं डालना था।
– इसे आर्च हैंगिंग तकनीक से लोहे को जोड़ा गया।
– ढांचे के भागों को जोड़ने के लिए 584 किलोमीटर वेल्डिंग की गई है जो जम्‍मू तवी से दिल्‍ली की दूरी के बराबर है।
– 266 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चलती है, तो भी इसे नुकसान नहीं होगा।
– जहां तक भूकंप का सवाल है तो यह सिस्‍मिक जोन 5 में है, इसके चलते अगर 7 रिक्‍टर पैमाने का भूकंप आएगा, तो भी इसको नुकसान नहीं होगा।
– इस पुल पर 100 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से ट्रेन चलती है, तो पुल के लिए दिक्‍कत नहीं होगी।
– खासियत एक और भी है। चूंकि जम्‍मू-कश्‍मीर का इलाका आतंकवाद प्रभावित इलाका है, इसकी वजह से विस्‍फोटक से नुकसान न पहुंचे इसका भी ख्‍यााल रखा गया है।
– अगर यहां विस्‍फोट से उड़ाने की कोशिश होगी, तो भी पुल को नुकसान नहीं पहुंचेगा।
– इसमें बहुत सारे सेंसर भी लगाए गए हैं, सुरक्षा कारणों की वजह से।
– इसके अलावा पुल में बाहरी हमले से बचाव के लिए पर्याप्त सुरक्षा प्रबंध किए हैं।
– क्योंकि ये पुल जहां पर बना है वहां से पाकिस्तान की हवाई दूरी सिर्फ 65 किलोमीटर है।

आर्च तकनीक क्‍या है?
– यह दो हजार साल पुरानी तकनीक है।
– एक घुमावदार संरचना (Vertical winding) जो एक स्थान को फैलाती है और एक लोड को झेलने की कैपेसिटी रखती है।
– रोमन के वक्‍त इसे इजाद किया गया था।
– पहले वे पत्‍थर काटकर मेहराब की तरह जोड़ते और फिर पत्‍थर से कनेक्‍ट कर लेते थे।
– तो पहले पत्‍थर से आर्च ब्रिज बनाने का काम हुआ बाद में स्‍टील से ऐसे पुल का निर्माण हुआ।
– आर्च तकनीक पर आधारित पुल का निर्माण भारत में इतने बड़े पैमाने पर पहली बार किया गया।
– यह जटिल तकनीक है।

कब पूरा होगा रेल प्रोजेक्‍ट
– उधमपुर – श्रीनगर – बारामुला का रेल मार्ग अब 2022 तक पूरा कर लिया जाएगा।
– जम्‍मू-कश्‍मीर के लोग रेल लाइन से भारत के अन्‍य हिस्‍सों से जुड़ जाएंगे।
– इससे जम्‍मू कश्‍मीर के विकास में तेजी आने की संभावना है।
– इसके साथ ही यह रणनीतिक तौर पर भी बहुत फायदेमंद होगा।

——————————–
4. फिल्म सर्टिफिकेट अपीलीय ट्रिब्यूनल( FCAT) को 6 अप्रैल 2021 को बंद कर दिया गया, ऐसा किस मंत्रालय के अधीन किया गया है?

a. कानून मंत्रालय
b. सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय
c. गृह मंत्रालय
d. संस्कृति मंत्रालय

Answer: a. कानून मंत्रालय

– कानून मंत्रालय ने नोटिस जारी किया है कि अब से फ़िल्म निर्माता अगर CBFC (सेंट्रल बोर्ड ऑफ़ फ़िल्म सर्टिफिकेशन) के किसी फ़ैसले से असहमत होते हैं, तो वो एफसीएटी (FCAT) के बजाय हाईकोर्ट में याचिका दें।
– 1983 में केंद्रीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड (CBFC) के आदेशों से आहत फिल्म निर्माताओं की अपील सुनने के लिए FCAT का गठन किया गया था।
– इसका मुख्यालय नई दिल्ली में था।
– कानून मंत्रालय के FCAT को बंद करने फ़ैसले के बाद से कई फ़िल्ममेकर्स सोशल मीडिया पर विरोध जता रहे हैं।
– CBFC की पूर्व चेयरपर्सन शर्मिला टैगोर जो 2004 से 2011 तक इस पद पर रहीं, उन्‍होंने भी इस फैसले पर आपत्ति जताई है।

पहले जानते हैं CBFC के बारे में-
– फ़िल्म निर्माताओं को फ़िल्म रिलीज़ करने के लिए CBFC से सर्टिफिकेट लेना ज़रूरी होता है।
– जिसके बाद ज्यूरी फ़िल्म के कंटेंट के आधार पर तय करती है कि फ़िल्म को कौन सा सर्टिफिकेट देना है।
– अगर कोई फ़िल्म, मेंबर्स को रिलीज़ करने लायक ही नहीं लगती तो उसे सर्टिफिकेट देने से मना भी कर देते हैं।
– अब ऐसे में फ़िल्म निर्माताओं और CBFC मेम्बेर्स के बीच मतभेद हो जाते हैं।
– ऐसे में मेकर्स FCAT में अपना पक्ष रखते थे और अगर FCAT मेंबर्स को फ़िल्म मेकर्स के दावे में दम लगता था, तो वो CBFC को फ़िल्म को सही सर्टिफिकेट देने का आदेश देते थे।
– 2016 में अनुराग कश्यप की फ़िल्म ‘उड़ता पंजाब’, साहेब बीवी और गैंगस्टर, ‘हरामखोर’ जैसी कई फिल्में हैं, जो FCAT के बदौलत ही रिलीज़ हो पाईं हैं।

बैंडिट क्वीन की सेंसरबोर्ड से जंग
– FCAT की अहमियत का सबसे बड़ा उदहारण है फ़िल्म ‘बैंडिट क्वीन’।
– जब शेखर कपूर अपनी इस फ़िल्म को लेकर CBFC में गए थे, तब CBFC ने हिंसा और अश्लीलता का हवाला देते हुए 100 से ऊपर कट लगा दिए थे।
– इसके बाद शेखर कपूर FCAT गए और फ़िल्म के साथ न्याय करने की मांग की।
– तब बॉम्बे हाईकोर्ट के जज लेंटिन जे और FCAT की तीन मेंबर्स सारा मोहम्मद, सरयू वी दोषी और रीना कुमारी ने फ़िल्म देखने के बाद CBFC को बिना कोई सीन काटे A सर्टिफिकेट देकर फ़िल्म रिलीज़ करने के आदेश दिए।

अब मिलेगी तो सिर्फ तारीख
– तो इतनी ज़रूरी FCAT को भंग करने से अब फ़िल्म मेकर्स CBFC के किसी फ़ैसले से असहमत होते हैं, तो उन्हें कोर्ट के चक्कर लगाने होंगे।
– यहां कई सवाल हैं. कोर्ट में कोई बेहद अर्जेंट मसला न हो, तो जल्दी तारीख नहीं मिलती।
– एक सवाल ये भी है कि क्या जज ऐसे केसेज में दो-तीन घंटे की फ़िल्म देखना अफोर्ड कर पाएंगे?

सर्टिफिकेट की तीन कैटेगरी होती हैं-
A सर्टिफिकेट – अगर फ़िल्म में गालियां, बहुत ज़्यादा हिंसा, नग्नता, सेक्स सीन्स होते हैं।
U/A सर्टिफिकेट – जिन फ़िल्मों में थोड़ी बहुत ही हिंसा या मामूली लव मेकिंग सीन्स होते हैं।
U सर्टिफिकेट- जिसमें ज्यादा हिंसक या उतेजक सीन नहीं होते और जिसे परिवार के साथ देखा जा सकता है।

———————————
5. विश्व स्वास्थ्य दिवस (World health day) किस दिन मनाया जाता है?

a. 8 अप्रैल
b. 7 अप्रैल
c. 6 अप्रैल
d. 5 अप्रैल

Answer: b. 7 अप्रैल

– स्वास्थ्य को लेकर लोगों को जागरूक करने के उद्देश्य से हर साल 7 अप्रैल को वर्ल्ड हेल्थ डे मनाया जाता है।
– 7 अप्रैल 1948 को WHO का स्‍थापना दिवस मनाया जाता है।
– इस संगठन की स्थापना के दो साल बाद विश्व स्वास्थ्य दिवस मनाने की परंपरा शुरू की गई।
– वर्ष 2021 में हम 71वां वर्ल्ड हेल्थ डे मना रहे हैं।

वर्ष 2021 की थीम-
एक निष्पक्ष, स्वस्थ दुनिया का निर्माण
(Building a fairer, healthier world)

——————————–
6. ब्रिक्स के वित्त मंत्रियों की बैठक 6 अप्रैल 2021 को आयोजित की गई, इस बार किस देश ने मेजबानी (hosting) की?

a. रूस
b. दक्षिण अफ्रीका
c. भारत
d. चीन

Answer: c. भारत

– वर्ष 2021 की मेजबानी भारत ने की हालांकि यह तीसरी बार है जब भारत ब्रिक्स शिखर सम्मेलन की मेजबानी कर रहा है।
– इससे पहले भारत ने 2012 और 2016 में मेजबानी की थी।
– यह बैठक वर्चुअली आयोजित हुई, इसकी अध्यक्षता देश की वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण और भारतीय रिज़र्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास ने की।
– भारत की अध्यक्षता में 2021 में ब्रिक्स वित्त मंत्रियों और केंद्रीय बैंक के गवर्नरों की यह पहली बैठक थी।

ब्रिक्‍स में शामिल देश
– ब्राजील, रूस, भारत, चीन और दक्षिण अफ्रीका।

2021 की बैठक के बिंदु
– अंतरराष्ट्रीय समन्वय (International coordination) के जरिए कोविड-19 संकट से निपटने में भूमिका।
– न्यू डेवलपमेंट बैंक की गतिविधियाँ
– सामाजिक बुनियादी ढांचा वित्त पोषण (Social infrastructure financing)
– डिजिटल प्रौद्योगिकी का उपयोग (Use of digital technology)
– सीमा शुल्क (Custom duty)
– अंतरराष्ट्रीय मुद्राकोष (आईएमएफ) में सुधार।
– ब्रिक्स बॉन्ड फंड
– ब्रिक्स रैपिड सूचना सुरक्षा चैनल

भारत सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान चला रहा
– कोविड-19 महामारी के मुद्दे पर वित्त मंत्री ने कहा, भारत दुनिया का सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान चला रहा है।
– भारत ने 84 देशों को 6.45 करोड़ टीके की खुराक की आपूर्ति की है।

——————————
7. किस राज्‍य ने किरायेदारी विनियमन अध्यादेश-2021 (Urban Premises Tenancy (second) Ordinance को 8 अप्रैल 2021 को मंजूरी दी, जिसके तहत रेंट ट्रिब्यूनल गठित होगा?

a. मध्‍य प्रदेश
b. हिमाचल प्रदेश
c. बिहार
d. उत्‍तर प्रदेश

Answer: d. उत्‍तर प्रदेश

– आवास विभाग ने ‘उप्र नगरीय परिसरों की किरायेदारी विनियमन अध्यादेश-2021’ तैयार किया है।
– इस अध्यादेश को लागू करने से संबंधित प्रस्ताव को कैबिनेट बाई सर्कुलेशन मंजूरी दे दी गई है।
– अध्यादेश लागू होने के बाद मकान मालिकों के लिए बिना अनुबंध (contract) के किरायेदार रखना प्रतिबंधित (Restricted) होगा।

– बता दें कि अभी प्रदेश में ‘उप्र शहरी भवन (किराये पर देने, किराये तथा बेदखली का विनियमन) अधिनियम-1972)’ लागू है।
– इसके लागू होने के बाद से मकान मालिकों और किरायेदारों के बीच विवादों की संख्या बढ़ गई है।
– ऐसे में इस नए अध्‍यादेश से ये विवाद हल हो सकेगा।
– हाईकोर्ट ने भी प्रदेश सरकार को 11 जनवरी से पहले इस अध्यादेश को लागू करने के निर्देश दिए थे।

क्‍या है अध्‍यादेश
– नये कानून के लागू होने के बाद किरायेदार और मालिक के बीच लिखित अनुबंध (written agreement) करना होगा।
– मकान मालिक को तीन माह में contract Letter Rental authority) में जमा करना होगा।
– पहले से रखे गए किराएदारों के मामले में यदि लिखित अनुबंध नहीं है तो लिखित अनुबंध करने के लिए लिए तीन माह का मौका दिया जाएगा।
– किरायेदार को उस जगह की देखभाल करनी होगी, घर में बिना पूछे तोड़फोड़ भी नहीं कर पाएगा।
– आवासीय भवनों (Residential buildings) के किराये में पांच और गैर आवासीय भवनों के किराये में हर साल सात फीसदी ही किराया बढ़ाया जा सकेगा।
– आवासीय परिसर (housing complex) के लिए सिक्योरिटी डिपाजिट दो महीने और गैर आवासीय परिसर (Non residential premises) के लिए छह माह का एडवांस लिया जा सकेगा।

गठित होगा प्राधिकरण
– मकान मालिक व किरायेदार के बीच किसी भी तरह के विवादों के निस्तारण के लिए रेंट ट्रिब्यूनल का भी गठन किया जाएगा।

——————————
8. कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए किस देश ने भारतीयों के आने पर अस्‍थायी रोक (Temporary Ban) लगा दी है?

a. न्यूजीलैंड
b. फ्रांस
c. अमेरिका
d. जर्मनी

Answer: a. न्यूजीलैंड

– भारतीयों की न्यूजीलैंड में एंट्री पर बैन 11 अप्रैल से 28 अप्रैल तक लागू रहेगा।
– न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री जैसिंडा अर्डर्न ने इसकी घोषणा की, बताया 24 घंटे में कोरोना संक्रमण के 23 मामलों में से 17 भारतीय हैं।
– ये सभी भारत से लौटे थे, इसलिए यह फैसला लिया गया है।
– इसके अलावा सिंगापुर ने भी भारत में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए 8 हजार भारतीयों के वीजा रोक दिए हैं।
– ये वो भारतीय हैं, जो वर्ष 2020 में कोरोना काल के दौरान सिंगापुर से भारत आए थे और अब वापस जाना चाहते हैं।
– प्रधानमंत्री जैसिंडा अर्डर्न ने कहा कि भारत से आने वाले यात्रियों में कोरोना के मामले सामने आ रहे थे। इसलिए ये अस्थाई बैन लगाया गया है।

न्‍यूजीलैंड की राजधानी- वेलिंगटन
मुद्रा- न्‍यूजीलैंड डॉलर
भाषा- माओरी, इंग्लिश

सिंगापुर की राजधानी- सिंगापुर नगर
राष्ट्रपति – हलिमा याकूब
प्रधानमंत्री- ली हसन लूग
मुद्रा- सिंगापुर डॉलर
भाषा- अंग्रेज़ी (प्रधान), मलय (राष्ट्रीय), चीनी और तमिल

——————————
9. मौलाना आज़ाद एजुकेशनल ट्रस्ट अध्यक्ष फातिमा रफ़ीक ज़कारिया का निधन 6 अप्रैल 2021 को हो गया, उन्‍हें कौन सा सम्‍मान मिला था?

a. पद्मश्री
b. पदम भूषण
c. साहित्‍यक सम्‍मान
d. सरस्‍वती सम्‍मान

Answer: a. पद्मश्री

– उन्हें 2006 में शिक्षा में उनके काम के लिए पद्म श्री से सम्मानित किया गया था।
– फातिमा ज़कारिया मशहूर पत्रकार, शिक्षाविद और खैरूल इस्लाम ट्रस्ट मुंबई की अध्यक्ष भी रही हैं।
– वह संडे टाइम्‍स की संपादक थीं।
– साथ ही ताज मैग्‍जीन में भी उन्‍होंने लंबे समय तक काम किया।
– उन्‍हें 1983 में पत्रकारिता के लिए सरोजिनी नायडू एकीकरण पुरस्कार से भी सम्मानित किया गया था।
– फातिमा के पति महाराष्ट्र के पूर्व मंत्री और इस्लामिक विद्वान डॉ रफीक जकारिया थे, जिनका निधन हो चुका है।

——————————
10. फेडरेशन इंटरनेशनल द फुटबॉल एसोसिएशन (FIFA) ने किन फेडरेशन को निलंबित कर दिया है?

a. ऑल इंडिया फुटबॉल फेडरेशन
b. पाकिस्तान फुटबॉल फेडरेशन(पीएफएफ)
c. चाड फुटबॉल एसोसिएशन
d. b और c दोनों

Answer: d. b और c दोनों

– बाहरी हस्तक्षेप के कारण फीफा ने पाकिस्तान फुटबॉल फेडरेशन (PFF) और चाडियन फुटबॉल एसोसिएशन को 7 अप्रैल 2021 को निलंबित कर दिया है।

पाक को निलंबित करने का कारण
– अशफाक हुसैन के नेतृत्व में फुटबॉल अधिकारियों के एक समूह ने, जिसे सुप्रीम कोर्ट ने 2018 में PFF चलाने के लिए चुना लेकिन फीफा ने इसे मान्यता नहीं दी थी।
– उसने मुख्यालय पर कब्जा कर लिया और हारुन मलिक की अध्यक्षता वाली फीफा द्वारा नियुक्त ‘नॉर्मलाइजेशन समिति’ का विरोध कर रहे थे।
– इससे नाराज फीफा ने निलंबित करने का फैसला लिया है उनका कहना है कि ये किसी तीसरे वर्ग की दखलअंदाजी (Interference) नियमों के खिलाफ है।
– इससे पहले 2017 में भी पाकिस्‍तान फेडरेशन को निलंबित किया गया था।

चाड का कारण
– चाड को उस समय निलंबित किया गया जब इस अफ्रीकी देश की सरकार ने राष्ट्रीय सॉकर महासंघ को भंग करके खेल के संचालन के लिए नए अधिकारियों की नियुक्ति करने का प्रयास किया।
– फीफा ने कहा है कि वे निलंबन तभी हटाएंगे जब सरकार अपने फैसले को रद्द करेगी और फुटबॉल महासंघ के अध्यक्ष को दोबारा अधिकार सौंपेगी।
– चाड के फुटबॉल फेडरेशन के अध्यक्ष मोख्तार महमूद हामिद ने कहा कि फीफा के फैसले की उम्मीद थी क्योंकि हर कोई फुटबॉल में किसी भी राजनीतिक हस्तक्षेप के परिणामों से अवगत है।

फीफा के अध्यक्ष- गियान्नी इन्फेंटिनो
स्थापना- 21 मई 1904.
मुख्यालय- ज़्यूरिख, (स्विट्ज़रलैंड)

——————————
11. छत्‍तीसगढ़ के किस जिले में 3 अप्रैल 2021 को नक्‍सली हमले में केन्द्रीय रिज़र्व पुलिस बल (CRPF) के 22 जवान शहीद और कई घायल हो गए?

a. रत्‍नागिरी
b. बिलासपुर
c. कवर्धा
d. बीजापुर

Answer: d. बीजापुर

– छत्तीसगढ़ के बीजापुर ज़िले में हुई घटना ने सभी को हिला दिया है।
– इस हमले में जम्‍मू कश्‍मीर के नेत्रकोटी गांव के राकेश्‍वर सिंह को नकसलियों ने अगवा किया था उसके बाद कुछ शर्तों के बाद 8 अप्रैल को रिहा कर दिया।

बस्‍तर नक्‍सल प्रभावित
– ये नक्सली हमला छत्तीसगढ़ के बस्तर डिविजन में हुआ है, जिसमें बस्तर, दंतेवाड़ा, बीजापुर, सुकमा और कांकेर जिले आते हैं।
– ये डिविजन क्षेत्रफेल के मामले में केरल जैसे राज्य से भी काफी बड़ा है, लेकिन इसका आधे से ज्‍यादा हिस्सा नक्सल प्रभावित है।

——————————
12. अंतरराष्ट्रीय खदान जागरुकता और खनन कार्य सहायता दिवस (International Mine Awareness and Mining Work Assistance Day) कब मनाया जाता है?

a. 5 अप्रैल
b. 4 अप्रैल
c. 3 अप्रैल
d. 2 अप्रैल

Answer: b. 4 अप्रैल

– लोगों को लैंडमाइंस की वजह से पैदा हुए खतरे से सुरक्षा देने, स्वास्थ्य और जीवन से सम्बंधित परेशानियों के बारे में जागरूकता फैलाने के लिए ये दिवस मनाया जाता है।
– 8 दिसंबर 2005 को जनरल असेंबली (UN) ने 4 अप्रैल को यह दिवस मनाए जाने की घोषणा की थी।
– यह पहली बार 4 अप्रैल, 2006 को मनाया गया था।

वर्ष 2021 की थीम- दृढ़ता भागीदारी और प्रगति (Perseverance participation and progress)

——————————
13. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बोर्ड परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्रों के लिए पुस्‍तक का नया संस्‍करण (Edition) जारी किया, इसका क्‍या नाम है?

a. वी आर वॉरियर्स
b. स्‍ट्गल अगेंस्‍ट टेंशन
c. एग्‍जाम वॉरियर्स
d. एग्‍जाम फर्स्‍ट

Answer: c. एग्‍जाम वॉरियर्स

– पीएम मोदी ने 29 मार्च 2021 को नए एडिशन को लांच किया।
– प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस नए संस्करण में छात्रों, अभिभावकों और शिक्षकों की एडवाइस को शामिल किया है।
– प्रधानमंत्री ने ट्वीट किया कि अब परीक्षाओं का सत्र शुरू हो गया है, मुझे खुशी हो रही है कि एग्जाम वॉरियर्स का अपडेटेड संस्करण अब उपलब्ध है।
– इस किताब में रोचक गतिविधियों (Interesting activities) को शामिल किया गया है।
– यह बुक मानसिक स्वास्थ्य (mental health), प्रौद्योगिकी की भूमिका (Role of technology) और समय प्रबंधन (time management) पर जागरूकता बढ़ाती है।

– हालांकि आपको बता दें कि एग्‍जाम वॉरियर्स नाम की ये बुक नरेंद्र मोदी ने वर्ष 2018 में लॉच की थी।
– इसका प्रकाशन (Publication) 15 भाषाओं में किया गया था।
– यही नहीं इसके ब्रेल संस्करण को 2020 में विश्व ब्रेल दिवस (4 जनवरी) पर लॉन्च किया गया था।

—————————–
14. चंद्रा नायडू का निधन 4 अप्रैल 2021 को हो गया, वह किसलिए जानी जाती थीं?

a. साहित्‍यकार
b. चित्रकार
c. अभिनेत्री
d. क्रिकेट कॉमेंटेटर

Answer: d. क्रिकेट कॉमेंटेटर

– वह 88 वर्ष की थीं।
– क्रिकेट के जानकारों के मुताबिक चंद्रा नायडू भारत की शुरूआती महिला कमेंटेटरों में से एक थीं।
– वह देश के पहले टेस्ट कप्तान सीके नायडू (CK Naidu) की बेटी थीं।
– उन्होंने नैशनल चैम्पियंस बॉम्बे और एमसीसी की टीमों के बीच इंदौर में वर्ष 1977 में खेले गए क्रिकेट मैच में पहली बार कॉमेंट्री की थी।
– हालांकि, चंद्रा नायडू क्रिकेट कॉमेंटेटर के रूप में पेशेवर तौर पर लम्बे समय तक सक्रिय नहीं रही थीं।
– वह इंदौर के शासकीय कन्या महाविद्यालय से अंग्रेजी की प्रोफेसर के रूप में सेवानिवृत्त हुई थीं।
– चंद्रा नायडू वर्ष 1982 में लॉर्ड्स क्रिकेट मैदान पर भारत और इंग्लैंड के बीच खेले गए स्वर्ण जयंती टेस्ट मैच की गवाह बनी थी।
– वहां उन्होंने लॉर्ड्स कमेटी रूम में एक कार्यक्रम को संबोधित भी किया था।
– उन्होंने अपने पिता के जीवन पर “सीके नायडू : ए डॉटर रिमेम्बर्स” नाम की पुस्तक लिखी थी।


Free Download Notes PDF of Toady’s Current Affairs : – Click Here

Free Download One Liner MCQ PDF –  Current Affairs : – Click Here

 

Buy eBooks & PDF

About Us | Help Desk | Privacy Policy | Disclaimer | Terms and Conditions | Contact Us

©2021 Sarkari Job News powered by Alert Info Media Pvt Ltd.

Log in with your credentials

or    

Forgot your details?

Create Account